नई दिल्ली. तब्लीगी जमात पर कोरोना फैलाने के आरोप के बीच केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि किसी एक संस्था या व्यक्ति के गुनाह को पूरे समुदाय के गुनाह के तौर पर नहीं देखा जा सकता है। उन्होंने कहा कि रमजान के पवित्र महीने में पूरा मुस्लिम समुदाय लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग से जुड़े दिशानिर्देशों का पालन करेगा।

मुसलमानों ने खुद की थी निंदा
मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा, तब्लीगी जमात ने जो भी अपराधिक लापरवाही या अपराध किया उसकी खुद मुसलमानों ने निंदा की और कार्रवाई की मांग की थी। किसी एक संस्था के गुनाह को पूरे कौम के गुनाह के रूप में नहीं देख सकते हैं। 

फर्जी खबरें फैलाने वाले इसांनियत की दुश्मन
नकवी ने कहा कि फर्जी खबरें और अफवाह फैलाने वाले पूरे देश और इंसानियत के दुश्मन हैं। उन्होंने कहा, अफवाह फैलाने वाले लोग भटकाने का काम करते हैं। कोरोना के खिलाफ एकजुटता की लड़ाई कुछ लोगों को पच नहीं रही है। वे लोग एकजुटता को तोड़ना चाहते हैं। 

मुट्ठीभर लोग हैं तो झूठी खबरें फैलाते हैं
उन्होंने कहा, झूठी खबरें और अफवाह फैलाने वाले मुट्ठीभर लोग हैं। उन्हें अलग-थलग करने की जरूरत है। कोई भी मुसलमान रमजान में मस्जिदों से दूर नहीं रहना चाहता है। लेकिन कोरोना के कहर के कारण पूरी दुनिया और हिंदुस्तान के उलेमा और संगठनों ने तय किया है कि इस पाक महीने में मस्जिदों पर नमाज और इफ्तार का आयोजन नहीं करेंगे। 

भारत मुसलमानों के लिए स्वर्ग
नवकी ने कहा, भारत मुसलमानों के लिए स्वर्ग है। यहां अल्पसंख्यक समुदायों के सामाजिक, आर्थिक और धार्मिक अधिकार पूरी तरह से सुरक्षित हैं। 
  
देश में टॉप 5 कोरोना प्रभावित राज्य
देश में कोरोना की बात करें तो 23 अप्रैल की शाम 4 बजे तक कोरोना के 21,552 मरीज सामने आ चुके हैं। इसमें से 16,488 एक्टिव मरीज हैं। 4382 लोग ठीक हो चुके हैं। 682 लोगों की मौत हो चुकी है। देश में कोरोना से प्रभावित टॉप 5 राज्यों में पहले पर महाराष्ट्र, दूसरे पर गुजरात, तीसरे पर दिल्ली, चौथे पर राजस्थान और पांचवे पर तमिलनाडु है।