Asianet News Hindi

पीएम मोदी ने ई ग्राम स्वराज ऐप और स्वामित्य योजना शुरू की, बोले- कोरोना ने हमें आत्मनिर्भर बनना सिखाया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को पंचायती राज दिवस के मौके पर देश भर की पंचायतों को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने देश के करीब 31 लाख पंचायतों के प्रतिनिधियों से संवाद किया। इस दौरान उन्होंने ई ग्राम स्वराज पोर्टल की शुरुआत की। इससे पंचायतों के बारे में सारी जानकारी मिल सकेगी।

National Panchayati Raj Day PM Modi to interact with Gram Panchayats KPP
Author
New Delhi, First Published Apr 24, 2020, 10:10 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को पंचायती राज दिवस के मौके पर देश भर की पंचायतों को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने देश के करीब 31 लाख पंचायतों के प्रतिनिधियों से संवाद किया। इस दौरान उन्होंने ई ग्राम स्वराज पोर्टल की शुरुआत की। इससे पंचायतों के बारे में सारी जानकारी मिल सकेगी। यह ऐप प्ले स्टोर पर भी उपलब्ध है। 

पीएम मोदी ने कहा, कोरोना वायरस ने हम सभी के काम करने के तरीकों को बदल दिया। पहले हम किसी कार्यक्रम में आमने सामने मिलते थे। अब वही कार्यक्रम वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कर रहे हैं। आज अनेक पंचायतों को अच्छे कार्यों के लिए पुरस्कार भी मिले हैं। पुरस्कार विजेता पंचायतों को बधाई। पंचायत गांव तक स्वराज पहुंचाने का अवसर होता है। कोरोना संकट के वक्त यह जिम्मेदारी और बढ़ गई है। इस महामारी ने मुसीबत पैदा कीं, जिनके बारे में हमने कभी कुछ सोचा नहीं थी। 

'कोरोना ने दी सीख'

पीएम मोदी ने कहा, लेकिन इस महामारी ने नई शिक्षा और संदेश दिया। इस कार्यक्रम के माध्यम से मैं सभी नागरिकोंं चाहें, गांव में हो या शहरों में मैं महत्वपूर्ण संदेश देना चाहता हूं। कोरोना वायरस ने सबसे बड़ा सबक सिखाया है। उस रास्ते पर चलने के लिए दिशा निर्देश दिया है। कोरोना संकट से मिले अनुभव से मिला है कि हमें आत्मनिर्भर बनना पड़ेगा। बिना आत्मनिर्भर बने ऐसे संकटों को झेल पाना मुश्किल है। गांव अपने स्तर पर अपनी मूलभूत सुविधाओं के लिए आत्मनिर्भर बने। इसी तरह पूरा हिंदुस्तान कैसे आत्मनिर्भर बने। हमें किसी भी जरूरत के वक्त बाहर की तरफ मुंह ना करना पड़े, ये सोचने का वक्त आ गया है। 

गांव गांव तक कम कीमत वाले स्मार्ट फोन पहुंचे-  पीएम मोदी
पीएम मोदी ने कहा, आज लाखों लोग वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए जुड़े हैं, इसके पीछे ब्रॉडबैंड सेवा और गांवों तक मोबाइल फोन पहुंचने ने बड़ी अहम भूमिका निभाई है। एक दौर वो भी था जब देश की सौ से भी कम पंचायतें ब्रॉडबैंड से जुड़ी थीं। अब सवा लाख से ज्यादा पंचायतों तक ब्रॉडबैंड पहुंच चुका है। इतना ही नहीं, गांवों में कॉमन सर्विस सेंटरों की संख्या भी तीन लाख को पार कर चुकी है पीएम मोदी ने कहा, आज 2 कदम उठाए गए हैं। 

ई ग्राम स्वराज पोर्टल: पीएम मोदी ने कहा- ई ग्राम स्वराज पोर्टल ग्राम पंचायतों को डिजिटल बनाने के लिए एक कदम है। भविष्य में यह पंचायत का लेखा जोखा रखने वाला सिंगल सेंटर बनेगा। अब अलग अलग जगहों पर काम करने की जरूरत नहीं होगी। इस ऐप पर पंचायत के विकास कार्योंं से लेकर फंड तक सारी बातें इसपर पोर्टल पर उपलब्ध हैं। इसके जरिए कोई भी नागरिक अपने मोबाइल से यह देख पाएगा कि उसकी पंचायत में क्या काम चल रहा है। कहां तक पहुंचा। इससे पारर्दशिता आएगी। ई ग्राम स्वराज पोर्टल से आपको बड़ी शक्ति मिलने जा रही है।

स्वामित्य योजना- पीएम मोदी ने कहा, इससे गांव के लोगों को अनेक लाभ होंगे। इससे गांव के लोगों का संपत्ति कार्ड बन जाएगा। प्रॉपर्टी को लेकर भ्रम की स्थिति खत्म हो जाएगी। झगड़े खत्म हो जाएंगे। इससे शहरों की तरह ही गांव में लोन ले सकते हैं। स्वामित्य के सहारे पर संपत्ति पर लोन ले सकते हैं। इसके अलावा यह विकास की योजनाओं में भी काफी मददगार साबित होगा।

गांव ने अद्भुत काम किया
पीएम मोदी ने कहा, कोरोना के खिलाफ जंग में गांव ने अद्भुत काम किया। भारत का हर व्यक्ति कम संसाधनों के बावजूद संक्रमण से लोहा ले रहा है। नए नए तरीके खोजते हुए देश को बचाने और आगे बढ़ाने का काम निरंतर जारी है। इन परिस्थितियों में गांव में जो काम हो रहे हैं, उनकी मैं निरंतर जानकारी ले रहा हूं।

'गांव ने संस्कारों-अपनी परंपराओं का दर्शन कराया'
पीएम मोदी ने कहा, इस कोरोना संकट ने दिखा दिया है कि देश के गांवों में रहने वाले लोग, इस दौरान उन्होंने अपने संस्कारों-अपनी परंपराओं की शिक्षा के दर्शन कराए हैं। गांवों से जो अपडेट आ रहा है, वो बड़े-बड़े विद्वानों के लिए भी प्रेरणा देने वाला है। आप सभी ने दुनिया को मंत्र दिया है- ‘दो गज दूरी’ का, या कहें ‘दो गज देह की दूरी’ का। इस मंत्र के पालन पर गांवों में बहुत ध्यान दिया जा रहा है। ये आपके ही प्रयास है कि आज दुनिया में चर्चा हो रही है कि कोरोना को भारत ने किस तरह जवाब दिया है। 

वीर योद्धा की तरह लड़ाई लड़ रहे पंचायत के लोग

इससे पहले उन्होंने पंचायती राज मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर को चिट्ठी लिखी। चिट्ठी में मोदी ने कहा, कोरोना महामारी पूरी दुनिया के लिए चुनौती बनी हुई है। मोदी ने कहा कि पंचायती राज व्यवस्था से जुड़े लोग भी वीर योद्धा की तरह लड़ाई लड़ रहे हैं। ये सभी लोग मेरे लिए प्रेरणा का स्त्रोत हैं। 

पीएम लगातार कर रहे संवाद
प्रधानमंत्री मोदी कोरोना से जंग में काफी सक्रिय भूमिका निभा रहे हैं। इस दौरान वे सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का भी पूरी तरह से पालन कर रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपनी ज्यादातर कैबिनेट बैठकें और राज्य के मुख्यमंत्रियों के वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए ही चर्चा कर रहे हैं। 

भारत में कोरोना की स्थिति
भारत में कोरोना वायरस के अब तक 23 हजार से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं। 721 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं, एक राहत भरी खबर है कि कोरोना संक्रमण से 5 हजार से ज्यादा लोग ठीक हो चुके हैं, जो कुल मरीजों की संख्या के 20% से अधिक हैं। करीब 17 हजार लोगों का अभी भी इलाज चल रहा है। भारत में जहां एक  ओर महाराष्ट्र, गुजरात और दिल्ली जैसे राज्यों में केस बढ़ रहे हैं, वहीं पूर्वोत्तर से अच्छी खबर आ रही है। गोवा के बाद अब त्रिपुरा कोरोना मुक्त हो गया है।   

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios