Asianet News HindiAsianet News Hindi

मौत को करीब आता देख डरे निर्भया के दरिंदे, सुप्रीम कोर्ट में दाखिल की यह याचिका

निर्भया गैंगरेप केस के चारों दोषियों को 16 दिसंबर को सभी दोषियों को फांसी दी जा सकती है जिसके लिए जेल प्रशासन तमाम कवायदें कर रहा है। इन सब के बीच एक दरिंदे ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की है। दोषी अक्षय ने कोर्ट में रिव्यू पिटीशन दाखिल किया है। 
 

Nirbhaya's accused fear of seeing death almost coming, review petition filed in the Supreme Court kps
Author
New Delhi, First Published Dec 10, 2019, 3:26 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. निर्भया गैंगरेप केस के चारों दोषियों को फांसी पर लटकाने की तैयारी तेज हो गई है। सूत्रों की माने तो 16 दिसंबर को सभी दोषियों को फांसी दी जा सकती है इसलिए तिहाड़ जेल प्रशासन ने तख्त तैयार करके एक डमी का ट्रायल किया है। लेकिन इन सब के बीच खबर सामने आई है कि एक दोषी ने सुप्रीम कोर्ट में रिव्यू पिटीशन दाखिल की है।

अक्षय सिंह ने दाखिल की याचिका 

2012 में नर्सिंग की छात्रा के साथ दरिंदगी करने वाले दोषियों को कोर्ट द्वारा फांसी की सजा सुनाई गई थी। जिसके बाद फांसी पर लटकाए जाने की तेज होती अटकलों के बीच दोषी अक्षय कुमार सिंह ने सुप्रीम कोर्ट में समीक्षा याचिका दायर की है। हालांकि अभी यह स्पष्ट नहीं हो सका है कि कोर्ट दोषी की याचिका पर सुनवाई कब तक करेगी। 

सुप्रीम कोर्ट ने भी दिया है फांसी का आदेश

निर्भया कांड मामले में सभी दोषियों को ट्रायल कोर्ट द्वारा फांसी की सजा सुनाई गई थी। जिसके बाद दोषियों ने दिल्ली हाईकोर्ट में अपील की। जहां कोर्ट ने ट्रायल कोर्ट के आदेश को बरकार रखा था। जिसके बाद दरिंदों ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की। जहां कोर्ट ने दोषियों के अपराधियों के अपराध को माफी के लायक न बताते हुए कोर्ट के आदेश को बरकरार रखा था। जिसके बाद मंगलवार को आरोपी ने रिव्यू पिटीशन दाखिल किया है। 

डरने लगे हैं दोषी 

निर्भया केस के दोषियों में से एक पवन को मंडोली जेल नंबर-14 से तिहाड़ जेल नंबर-2 में शिफ्ट कर दिया गया है। इसी में अक्षय और मुकेश भी बंद हैं। जबकि विनय शर्मा जेल नंबर-4 में बंद है। ये चारों दोषी मौत को करीब आता देख अब डरने लगे हैं। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios