Asianet News Hindi

'कांग्रेस ने मान लिया कि हमेशा मोदी जी संसद से देश की सेवा करेंगे,' पीयूष गोयल ने सुरजेवाला पर किया पलटवार

रणदीप सुरजेवाला को केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने आड़े हाथों लिया। उन्होंने सुरजेवाला के ट्वीट को री-ट्वीट कर लिखा,  कांग्रेस को लगता है कि संसद भवन मोदी जी के लिए ही है। उन्हें विश्वास है कि अब हमेशा के लिये मोदी जी व BJP ही इस संसद से देश की सेवा करते रहेंगे। किसानों हेतु फसल बीमा, लागत का डेढ गुना MSP, किसान सम्मान निधि जैसे कदम मोदी जी ने उठाये, कांग्रेस ने सिर्फ झूठे वादे किए।

Piyush Goyal said Congress has assumed that Modi will always serve the country kpn
Author
New Delhi, First Published Dec 11, 2020, 12:56 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. पीएम मोदी ने संसद भवन की नई बिल्डिंग का शिलान्यास किया। इस दौरान कांग्रेस ने पीएम मोदी पर निशाना साधा। कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव रणदीप सुजरेवाला ने कहा, मोदी जी इतिहास में यह भी दर्ज होगा कि जब अन्नदाता सड़कों पर 16 दिन से हकों की लड़ाई लड़ रहे थे तब आप सेंट्रल विस्टा के नाम पर अपने लिए महल खड़ा कर रहे थे । लोकतंत्र में सत्ता, सनक पूरी करने का नहीं, जनसेवा और लोक कल्याण का माध्यम होती है।

रणदीप सुरजेवाला को केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने आड़े हाथों लिया। उन्होंने सुरजेवाला के ट्वीट को री-ट्वीट कर लिखा,  कांग्रेस को लगता है कि संसद भवन मोदी जी के लिए ही है। उन्हें विश्वास है कि अब हमेशा के लिये मोदी जी व BJP ही इस संसद से देश की सेवा करते रहेंगे। किसानों हेतु फसल बीमा, लागत का डेढ गुना MSP, किसान सम्मान निधि जैसे कदम मोदी जी ने उठाये, कांग्रेस ने सिर्फ झूठे वादे किए।

971 करोड़ रु. में बन रही है नई बिल्डिंग
संसद भवन की नई बिल्डिंग 971 करोड़ रुपए में बन रही है। इसमें हर सांसद का अपना एक दफ्तर होगा। अगस्त 2022 तक प्रोजेक्ट का काम पूरा होगा। नए भवन में भारत की लोकतांत्रिक विरासत, संसद के सदस्यों के लिए एक लाउंज, एक पुस्तकालय, कई समिति कक्ष, भोजन क्षेत्र और पर्याप्त पार्किंग स्थल, रिलीज के लिए एक भव्य संविधान हॉल भी होगा। नए भवन में लोकसभा कक्ष में 888 सदस्यों के बैठने की क्षमता होगी, जबकि राज्यसभा में सदस्यों के लिए 384 सीटें होंगी। लोक सभा कक्ष में संयुक्त सत्र के दौरान 1,224 सदस्यों के लिए बैठने की क्षमता होगी। यह दोनों सदनों के सदस्यों की संख्या में भविष्य की वृद्धि को ध्यान में रखते हुए किया गया है। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios