Asianet News Hindi

पीएम ने कहा- टेस्टिंग कम नहीं चाहिए, देश के 16 जिलों में 45+ वालों को 90 फीसदी वैक्सीन लगी

पिछले 6 दिनों में 3.77 करोड़ डोज दी गई है। जो मलेशिया, सऊदी अरब और कनाडा जैसे देशों की पूरी आबादी से अधिक है।

PM holds a high level meeting to review progress of vaccination pwa
Author
New Delhi, First Published Jun 26, 2021, 7:58 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने वैक्सीनेशन और कोविड-19 की स्थिति को लेकर अधिकारियों को साथ समीक्षा बैठक की। इस दौरान अधिकारियों ने देश में वैक्सीनेशन को लेकर चल रही प्रगति पर प्रधानमंत्री को जानकारी दी। पीएम को उम्र के हिसाब से वैक्सीनेशन की जानकारी दी गई। अधिकारियों ने पीएम को आने वाले महीनों में वैक्सीन की आपूर्ति और उत्पादन बढ़ाने के लिए किए जा रहे प्रयासों से भी अवगत कराया।

इसे भी पढ़ें- स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा- राज्यों के पास है वैक्सीन की 1.45 करोड़ डोज, अभी तक भेजी 31.17 करोड़ खुराक

पीएम को बताया गया कि पिछले 6 दिनों में 3.77 करोड़ डोज दी गई है। जो मलेशिया, सऊदी अरब और कनाडा जैसे देशों की पूरी आबादी से अधिक है। देश के 128 जिलों ने 45+ आबादी के 50% से अधिक का वैक्सीनेशन किया गया है। 16 जिलों ने 45+ आबादी के 90% से अधिक वैक्सीन लगाई गई है। पीएम मोदी ने कहा- इस गति को आगे बढ़ाना महत्वपूर्ण है। पीएम को विभिन्न राज्यों में हेल्थ वर्कर, फ्रंटलाइन वर्कर्स और आम आबादी के बीच वैक्सीन कवरेज के बारे में भी जानकारी दी गई।

राज्य सरकारों से संपर्क
अधिकारियों ने पीएम को बताया कि वे वैक्सीनेशन के लिए लोगों तक पहुंचने के लिए नवीन तरीकों का पता लगाने और उन्हें लागू करने के लिए राज्य सरकारों के संपर्क में हैं। पीएम ने ऐसे प्रयासों में गैर सरकारी संगठनों और अन्य संगठनों को शामिल करने की आवश्यकता के बारे में बताया। पीएम ने अधिकारियों को यह सुनिश्चित करने के लिए राज्यों के साथ काम करने का निर्देश दिया कि टेस्टिंग की गति कम न हो क्योंकि टेस्ट किसी भी क्षेत्र में बढ़ते संक्रमण को ट्रैक करने और रोकने के लिए एक बहुत ही महत्वपूर्ण हथियार है।

अधिकारियों ने वैश्विक स्तर पर Cowin प्लेटफॉर्म में बढ़ती दिलचस्पी के बारे में भी प्रधानमंत्री मोदी को अवगत कराया। प्रधानमंत्री ने कहा कि कोविन प्लेटफॉर्म के रूप में भारत की समृद्ध तकनीकी विशेषज्ञता के साथ, रुचि व्यक्त करने वाले सभी देशों की मदद करने के प्रयास किए जाने चाहिए। 
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios