Asianet News Hindi

सरकारी कंपनियों को केवल इसलिए नहीं चलाया जाना चाहिए, क्योंकि वे विरासत में मिलीं: पीएम मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को बजट में प्राइवेटाइजेशन संबंधित ऐलानों को लेकर आयोजित वेबिनार को संबोधित किया। इस दौरान पीएम मोदी ने कहा, इस साल के बजट में भारत के विकास में प्राइवेटाइजेशन की भूमिका का ध्यान रखा गया। 
 

PM modi address the webinar on budget announcements related to Privatization KPP
Author
New Delhi, First Published Feb 24, 2021, 5:45 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली . प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को बजट में प्राइवेटाइजेशन संबंधित ऐलानों को लेकर आयोजित वेबिनार को संबोधित किया। इस दौरान पीएम मोदी ने कहा, इस साल के बजट में भारत के विकास में प्राइवेटाइजेशन की भूमिका का ध्यान रखा गया।  पीएम मोदी ने कहा, व्यवसाय करना सरकार का काम नहीं है। उन्होंने कहा, सरकार रणनीतिक क्षेत्र में कुछ सीमित संख्या में सरकारी उपक्रमों को छोड़कर बाकी क्षत्रों के सार्वजनिक उपक्रमों के निजीकरण को प्रतिबद्ध है।

इसके साथ पीएम ने कहा, सरकारी कंपनियों को केवल इसलिए नहीं चलाया जाना चाहिए कि वे विरासत में मिली हैं। उन्होंने कहा, घाटे में चल रहे उपक्रमों को वित्तीय मदद करते रहने से अर्थव्यवस्था पर बोझ पड़ता है। 

सरकार इंटरप्राइसेस और बिजनेस को दे समर्थन
इस दौरान पीएम मोदी ने कहा, इस बार बजट से पहले आपमें से अनेक साथियों से विस्तार से बात हुई थी। इस बजट ने भारत को फिर से हाई ग्रोथ ट्रेजेक्ट्री पर ले जाने के लिए स्पष्ट रोड मैप सामने रखा है। बजट में भारत के विकास में प्राइवेट सेक्टर के मजबूत योगदान पर भी फोकस है। पीएम मोदी ने कहा, सरकार का ये दायित्व है कि वो देश के इंटरप्राइसेस और बिजनेस को पूरा समर्थन दे, लेकिन सरकार खुद इंटरप्राइसेस चलाए, उसकी मालिक बनी रहे, ये आवश्यक नहीं।

उन्होंने कहा, जब देश में पब्लिक सेक्टर इंटरप्राइज शुरू किए गए थें तब समय अलग था और देश की जरूरतें भी अलग थी। आज जब हम ये बदलाव कर रहे हैं तो हमारा सबसे बड़ा लक्ष्य यही है कि जनता के पैसे का सही इस्तेमाल हो।

हमारा लक्ष्य लोगों के जीवन में सुधार लाना- पीएम
उन्होंने कहा, हमारी सरकार का प्रयास, लोगों के जीवन स्तर को सुधारने के साथ ही, लोगों के जीवन में सरकार के बेवजह के दखल को भी कम करना है। यानि जीवन में न सरकार का अभाव हो, न सरकार का प्रभाव हो। 

'सरकार मोनेटाइज और मॉर्डनाइज मंत्र के साथ आगे बढ़ रही'
पीएम मोदी ने कहा, सरकार जिस मंत्र को लेकर आगे बढ़ रही है, वो है मोनेटाइज और मॉर्डनाइज। जब सरकार मोनेटाइज करती है तो उस स्थान को देश का प्राइवेट सेक्टर बढ़ता है। प्राइवेट सेक्टर अपने साथ निवेश भी लाता है और ग्लोबल बेस्ट प्रैक्टिसेस भी लाता है।

पीएम मोदी ने कहा, सरकार के पास बहुत अधिक कम और बिना इस्तेमाल वाले एसेट्स हैं। इनका मॉनिटाइज करने की जरूरत है। मोनेटाइज और मॉर्डनाइज। इन एसेट्स के मॉनिटाइजेशन से जो पैसा आएगा, उनका इस्तेमाल जन कल्याण की योजनाओं के लिए किया जाएगा। रोड ,स्कूल और पीने के पानी की व्यवस्था जैसी सुविधाएं पहुंचाने के लिए किया जाएगा। 

पीएम मोदी ने कहा, बीते सालों में हमारी सरकार ने भारत को बिजनेस के लिए एक अहम डेस्टिनेशन बनाने के लिए निरंतर रिफॉर्म्स किए हैं। आज भारत वन मार्केट-वन टैक्स सिस्टम से युक्त है। आज भारत में कंपनियों के लिए एंट्री और एग्जिट के लिए बेहतरीन माध्यम उपलब्ध हैं।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios