Asianet News Hindi

PM मोदी का संदेश-देश में लाॅकडाउन की जरूरत नहीं, केस बढ़ने से राज्य दबाव में न आएं, हम मिलकर जीतेंगे

भारत में तेजी से कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं। इसी बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुरुवार को सभी राज्य के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक बुलाई। यह बैठक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हो रही।

PM modi Meeting with CMs on corona virus and vaccine news and update KPP
Author
New Delhi, First Published Apr 8, 2021, 1:56 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. भारत में तेजी से कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं। इसी बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुरुवार को सभी राज्य के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक बुलाई। पीएम और राज्य के मुख्यमंत्रियों की बैठक वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए हुई। पीएम मोदी ने राज्यों को हर संसाधन मुहैया कराने का आश्वासन दिया साथ ही प्रशासनिक शिथिलता पर भी ध्यान दिलाया। इस बैठक में गृहमंत्री अमित शाह भी मौजूद रहे। महाराष्ट्र सहित कई राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने अपनी मांग रखी तथा सुझाव दिए।

वैक्सीनेशन के बाद भी लापरवाही न बरतें, मास्क लगाएं

पीएम मोदी ने चेताया कि वैक्सीनेशन के साथ साथ हमें ये भी ध्यान रखना है कि वैक्सीन लगवाने के बाद की लापरवाही न बढ़े। हमें लोगों को ये बार-बार बताना होगा कि वैक्सीन लगने के बाद भी मास्क और सावधानी जरूरी है।

अधिकतर राज्यों का प्रशासन शिथिल 

पीएम मोदी ने कहा कि आज की समीक्षा में कुछ बातें हमारे सामने स्पष्ट हैं, उन पर हमें विशेष ध्यान देने की जरूरत है। पहला- देश फ़र्स्ट वेव के समय की पीक को क्रॉस कर चुका है, और इस बार ये ग्रोथ रेट पहले से भी ज्यादा तेज है। दूसरा- महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, पंजाब, मध्यप्रदेश और गुजरात समेत कई राज्य फ़र्स्ट वेव की पीक को भी क्रॉस कर चुके हैं। कुछ और राज्य भी इस ओर बढ़ रहे हैं। हम सबके लिए ये चिंता का विषय है। ये एक serious concern है। हमें दूसरी बार कोरोना मामलों में उछाल से हमें लड़ने की जरूरत है। लोग सहमे हुए हैं, अधिकतर राज्यों में प्रशासन भी शिथिल हो गया है। पीएम मोदी ने कहा कि Test, Track, Treat’, Covid appropriate behaviour और Covid Management, इन्हीं चीजों पर हमें बल देना है।

हमें युद्धस्तर पर काम करने की आवश्यकता

पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना से लड़ने के लिए फिर से युद्धस्तर पर काम करने की आवश्यकता है। सभी चुनौतियों के बावजूद हमारे पास एक बेहतत अनुभव, संसाधन और एक टीका है। जनभागीदारी के साथ-साथ हमारे परिश्रमी डॉक्टर्स और हेल्थ-केयर स्टाफ ने स्थिति को संभालने में बहुत मदद की है और आज भी कर रहे हैं।

केस बढ़ने से दबाव में न आएं राज्य

मुख्यमंत्रियों से बातचीत के दौरान पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना के टेस्ट सही ढंग से किए जाए। पीएम मोदी ने कहा कि केस बढ़ने की वजह से राज्य दबाव में न आएं। कंटेनमेंट जोन में हर व्यक्ति की जांच हो। वैक्सीन को लेकर पीएम मोदी ने कहा कि हमें पूरे देश को ध्यान में रखकर ही मैनेजमेंट करना होगा। 

Night Curfew ही काफी 

पीएम मोदी ने कहा कि अभी संपूर्ण लॉकडाउन की जरूरत नहीं है। फिलहाल नाइट कर्फ्यू की काफी है। टेस्ट, ट्रैक और ट्रीट पर ध्यान दें। हमें वैक्सीनेशन केंद्रों की संख्या बढ़ानी हैं तो उसको बढ़ाएं।

युवाओं से अपील, करें प्रोटोकाल पालन

युवाओं से अपील करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना को जो प्रोटोकॉल हैं, अगर मेरे देश के नौजवान इसको फॉलो करते हैं तो स्थिति जहां से हम नीचे आए थे, एक बार फिर होगी। 

महाराष्ट्र ने बताया वैक्सीन स्टाॅक खत्म होने की कगार पर

महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे ने वैक्सीन की कमी की बात पीएम मोदी से साझा की। महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा कि राज्य में कुछ सेंटर्स पर तीन दिन की वैक्सीन ही बची है। तमाम सेंटर्स पर वैक्सीन खत्म हो चुकी है। 

दिल्ली ने रखी मांग

इस बैठक से पहले दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने केंद्र से वैक्सीनेशन को लेकर नियमों में ढिलाई करने की बात कही है। उन्होंने दावा किया कि अगर केंद्र उनकी मांग मानता है तो वे अगले तीन महीने में पूरी दिल्ली को कोरोना के टीके लगवा देंगे। इसके अलावा उन्होंने वैक्सीनेशन के लिए उम्र की सीमा घटाकर 18 करने की मांग की।  

देश में कोरोना की स्थिति

भारत में पिछले 24 घंटे में 1,26,789  नए केस सामने आए हैं। वहीं,  59,258 लोग ठीक हुए हैं। जबकि 685 लोगों की मौत कोरोना से हुई है। देश में अब तक 1,29,28,574 केस आ चुके हैं। वहीं, 1,18,51,393 लोग ठीक हो चुके हैं। अभी भी 9,10,319 लोगों का इलाज चल रहा है। जबकि 1,66,862 लोगों की मौत हो चुकी है। अब तक 9,01,98,673 लोगों की वैक्सीन दी जा चुकी है। 
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios