Asianet News Hindi

‘तौकते’ तूफान की तबाही से सिसक रहे ये इलाके, पीएम मोदी स्थितियों का आंकलन कर लगाएंगे मरहम

लाखों घरों में बिजली सप्लाई बाधित होने से अंधेरा कायम है। लाखों लोग बेघर हो चुके हैं। कई लाख पेड़ सड़कों और अन्य क्षेत्रों में गिरे हुए हैं। हालांकि, तूफान के कमजोर पड़ने के बाद भी विभिन्न इलाकों में भीषण बारिश हो रही है और तमाम क्षेत्रों में इसकी आशंका जताई गई है।

PM Modi visit to cyclone tauktae effected area, at least 27 dead and alomost 100 missing DHA
Author
New Delhi, First Published May 18, 2021, 11:12 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली। भारी तबाही के बाद कमजोर पड़ा ‘तौकते’ चक्रवात अब हिमालय की ओर बढ़ रहा है। तूफान ने मुंबई और गुजरात में काफी तबाही मचाई। कम से कम 27 लोगों की मौत हो चुकी है, 100 से आसपास लोगों के लापता होने की सूचना है। लाखों घरों में बिजली सप्लाई बाधित होने से अंधेरा कायम है। लाखों लोग बेघर हो चुके हैं। कई लाख पेड़ सड़कों और अन्य क्षेत्रों में गिरे हुए हैं। हालांकि, तूफान के कमजोर पड़ने के बाद भी विभिन्न इलाकों में भीषण बारिश हो रही है और तमाम क्षेत्रों में इसकी आशंका जताई गई है।

गुजरात में 13 लोगों की मौत, 16500 आशियाना तबाह

चक्रवाती तूफान तौकते कमजोर पड़ने के पहले गुजरात में काफी तबाही मचाई है। राज्य में कम से कम 13 लोगों की मौत हुई है। करीब 16500 घर तबाह हो चुके हैं। राज्यभर में 40,000 से अधिक पेड़ गिरे हैं। ऊना, राजकोट, भावनगर, पाटन और अमरेली के इलाकों में हवा की रफ्तार बहुत ज्यादा थी इसलिए काफी सड़कें ब्लॉक हो गई हैं। इन क्षेत्रों के अलग-अलग जगहों से कम से कम तेरह लोगों की मौत की सूचना है। 

गुजरात के छह हजार गांव अंधेरे में डूबे

तूफान की वजह से 70 हजार से अधिक बिजली के पोल गिर गए हैं। 165 सब-स्टेशन्स में 68 तबाह हो चुके हैं। 5951 से अधिक गांव अंधेरे में डूब गए हैं। 

दीव में लैंडफाल से हुआ नुकसान

गुजरात में सोमवार की रात को गुजरात से 60 किलोमीटर पहले दीव में लैंडफाॅल हुआ। तूफानी हवाओं के कारण बिजली के खंभे और पेड़ उखड़ गए हैं। तटीय इलाकों में लैंडफॉल हुए है। तूफान का प्रभाव गिर सोमनाथ, अमरेली, जूनागढ़, पोरबंदर और भावनगर पर रहा। 

महाराष्ट्र में भारी नुकसान, लाखों घरों का बिजली गुल 

तूफान ने महाराष्ट्र में भारी तबाही मचाई है। बर्बादी के निशां 6,349 से ज्यादा गांवों में देखे जा सकते हैं। अलग-अलग हादसों में कम से कम 11 लोगों की मौत हुई है। इनमें 4 रायगढ़ जिले से, रत्नागिरी और ठाणे से 2-2, सिंधुदुर्ग और धुले से 1-1 व्यक्ति शामिल है। मुंबई के मीरा रोड इलाके में भी एक व्यक्त की मौत हुई। सिर्फ सिंधुदुर्ग जिले में 5.77 करोड़ रुपए से अधिक का नुकसान हाने की आशंका है। मुंबई, ठाणे, पालघर, रायगढ़ और रत्नागिरी जिले में भारी नुकसान हुआ। मुंबई में 479 स्थानों पर पेड़ गिरने की खबर है। 60 से अधिक जगहों पर ट्रैफिक जाम हुआ। कई जगहों पर बिजली भी प्रभावित भी हुई।

महाराष्ट्र में भी भारी तबाही

महाराष्ट्र के 6349 से अधिक गांवों में भारी तबाही के मंजर है। यहां अलग-अलग हादसों में 11 लोगों की मौत हो चुकी है। राज्य भर में करीब 46 लाख से अधिक घरों में बिजली सप्लाई बाधित है। 

पीएम करेंगे तबाही वाले क्षेत्रों का दौरा, फिर करेंगे मीटिंग 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बुधवार को तूफान प्रभावित क्षेत्रों का हवाई सर्वेक्षण करेंगे। सर्वे के बाद पीएम मोदी अहमदाबाद में समीक्षा बैठक भी करेंगे। पीएम मोदी के गुजरात और दीव का दौरा करने की संभवना है। वह उना, दीव, जाफराबाद, महुआ आदि क्षेत्रों का हवाई सर्वेक्षण करेंगे। पीएम मोदी सर्वे के बाद गुजरात के अहमदाबाद में मीटिंग करेंगे। समीक्षा बैठक में बचाव व राहत कार्यों से जुड़े अधिकारियों से बात करेंगे। चक्रवात से हुए नुकसान की समीक्षा के बाद राहत पैकेज की भी घोषणा की जा सकती है। 
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios