Asianet News HindiAsianet News Hindi

corona review meeting: नए वेरिएंट के खतरे को देखते हुए PM मेादी ने जीनोम सीक्वेंसिंग बढ़ाने को कहा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी(Prime Minister Narendra Modi) आज यानी 27 नवंबर को सरकार के टॉप अफसरों(top officials) के साथ कोविड 19 की मौजूदा स्थिति और वैक्सीनेशन की समीक्षा(corona review meeting) की।

PM Modi will chair an important meeting on the situation relating to Covid 19 & Vaccination with top officials KPA
Author
New Delhi, First Published Nov 27, 2021, 9:21 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. कोरोना की तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए केंद्र सरकार alert हो गई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी(Prime Minister Narendra Modi)  ने आज यानी 27 नवंबर को सरकार के टॉप अफसरों(top officials) के साथ कोविड 19 की मौजूदा स्थिति और वैक्सीनेशन की समीक्षा(corona review meeting) की। यह मीटिंग ऐसे समय में हुई, जब दुनिया में कोरोना के नए वेरिएंट को लेकर WHO ने चेतावनी जारी की है। बता दें कि विश्व स्वास्थ्य संगठन ने दक्षिण अफ्रीका में मिले कोरोना वायरस के नए वेरिएंट B.1.1.529 को ओमीक्रॉन (Omicron) नाम दिया है। कोरोना का नया वेरिएंट तेजी से दुनिया में फैल रहा है। बैठक में कैबिनेट सचिव राजीव गौबा, प्रधानमंत्री के प्रधान सचिव पीके मिश्रा, केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण और नीति आयोग के सदस्य (स्वास्थ्य) डॉ वीके पॉल उपस्थित थे। 

करीब 2 घंटे चली मीटिंग में कोरोना के नए वेरिएंट पर भी चर्चा
-PM नरेंद्र मोदी ने कोरोना समीक्षा बैठक की अध्यक्षता की। बैठक करीब 2 घंटे तक चली। इसमें कोविड 19 टीकाकरण संबंधी स्थिति की समीक्षा की गई। प्रधानमंत्री को कोविड-19 संक्रमण के मामलों पर वैश्विक रुझानों(global trends) के बारे में जानकारी दी गई। इसमें बताया गया कि दुनियाभर के देशों ने महामारी की शुरुआत के बाद से कई बार COVID-19 में उछाल का अनुभव किया है। पीएम ने टेस्ट पॉजिटिवी रेट्स की जानकारी भी ली।

PM ने निर्देश दिए कि जीनोम अनुक्रमण के नमूने( genome sequencing samples) अंतरराष्ट्रीय यात्रियों(international travellers) और कम्युनिटी के नॉर्म्स के हिसाब से एकत्र किए जाएं। INSACOG के तहत पहले से स्थापित लैब और कोविड-19 मैनेजमेंट के वॉर्निंग सिग्नल के माध्यम से टेस्ट किए जाएं। PM ने जीनोम अनुक्रमण और और अधिक बढ़ाने पर जोर दिया।

-प्रधानमंत्री ने टीकाकरण में प्रगति और 'हर घर दस्तक' अभियान के तहत किए जा रहे प्रयासों को भी जाना। PM ने निर्देश दिया कि दूसरी खुराक का दायरा बढ़ाने की जरूरत है और राज्यों को यह सुनिश्चित करने की जरूरत है कि जिन लोगों को पहली खुराक मिली है, उन्हें दूसरी खुराक समय पर दी जाए। 

प्रधानमंत्री को कोरोना के नए वेरिएंट ओमाइक्रोन(Omicron) के साथ-साथ इसकी विशेषताओं और विभिन्न देशों में देखे गए असर के बारे में जानकारी दी गई। भारत के संदर्भ में भी इसके प्रभावों पर भी चर्चा हुई। पीएम ने नए वेरिएंट को लेकर सजग रहने के निर्देश दिए। पीएम ने कहा कि नए खतरे को देखते हुए लोगों को अधिक सतर्क रहने की जरूरत है और उचित सावधानी बरतने की जरूरत है।जैसे मास्क लगाना और सोशल डिस्टेंसिंग। पीएम ने नए वेरिएंट से प्रभावित देशों पर विशेष ध्यान देते हुए अंतरराष्ट्रीय यात्रा प्रतिबंधों में ढील देने की योजना की समीक्षा भी की।

-अधिकारियों ने पीएम को बताया कि वे नए फार्मास्युटिकल उत्पादों के लिए सुविधाजनक दृष्टिकोण( facilitative approach) अपना रहे हैं। पीएम ने अधिकारियों को विभिन्न दवाओं के पर्याप्त बफर स्टॉक सुनिश्चित करने के लिए राज्यों के साथ समन्वय करने का निर्देश दिया। उन्होंने अधिकारियों से बाल चिकित्सा सुविधाओं सहित चिकित्सा बुनियादी ढांचे के कामकाज की समीक्षा के लिए राज्यों के साथ काम करने को कहा। पीएम ने अधिकारियों से PSA ऑक्सीजन संयंत्रों और वेंटिलेटर के उचित कामकाज को सहन करने के लिए राज्यों के साथ समन्वय करने को कहा।
 

"

केजरीवाल ने फ्लाइट बंद करने की अपील की
इस बीच दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का बयान सामने आया है। उन्होंने कहा-मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से उन देशों से उड़ानें बंद करने का आग्रह करता हूं, जहां कोविड-19 का नया वैरिएंट मिला है। बड़ी मुश्किल से हमारा देश कोरोना से उबर पाया है। हमें इस नए वैरिएंट को भारत में प्रवेश करने से रोकने के लिए हर संभव प्रयास करना चाहिए।

WHO ने 26 नवंबर को की थी मीटिंग
(Corona Virus) के नए वेरिएंट B.1.1.529 ओमीक्रॉन (Omicron) को लेकर 26 नवंबर को WHO ने मीटिंग की थी। इसमें बताया गया कि महामारी का यह स्ट्रेन काफी खतरनाक हो सकता है। यह वेरिएंट कई म्यूटेशन वाला है। इससे संक्रमण फिर से बढ़ सकता है। दक्षिण अफ्रीका के लगभग सभी प्रांतों में इस वेरिएंट के मामले बढ़ रहे हैं। दक्षिण अफ्रीका में मिला कोरोना का नया वेरिएंट तेजी से दुनिया में फैल रहा है। हॉन्गकॉन्ग और बोत्सवाना के बाद इजराइल और बेल्जियम में भी नए वेरिएंट से संक्रमित लोग मिले हैं। अमेरिका और यूरोपीय देशों ने दक्षिण अफ्रीका से आने वाली फ्लाइटों पर रोक लगा दिया है। फ्रांस ने 48 घंटे के लिए दक्षिण अफ्रीका से आने वाली सभी उड़ानों को सस्पेंड कर दिया है। ब्रिटेन ने अफ्रीका के 6 देशों से आने वाली फ्लाइट्स पर फिलहाल रोक लगा दिया है। इनमें दक्षिण अफ्रीका, नामीबिया, बोत्सवाना, जिंबाब्वे, लिसोथो और एसवाटिनी शामिल हैं। हालांकि भारत में अभी इसका एक भी संक्रमित नहीं मिला है।

22 नवंबर को हेल्थ मिनिस्टर ने ली थी क्लास
इससे पहले चार राज्यों में Covid 19 vaccination को लेकर 22 नवंबर को केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री डॉ. मनसुख मंडाविया(Dr. Mansukh Mandaviya) ने  समीक्षा बैठक(Review meeting) की थी। उन्‍होंने हर घर दस्‍तक अभियान के तहत हुई प्रगति की भी समीक्षा की थी। इन राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों में कम टीकाकरण होने की रिपोर्ट प्राप्‍त हुई है। जबकि भारत की पहली खुराक कवरेज 82 प्रतिशत और दूसरी खुराक कवरेज 43 प्रतिशत है, पुद्दुचेरी में यह कवरेज क्रमश: 66 प्रतिशत और 39 प्रतिशत, नगालैंड में 49 प्रतिशत और 36 प्रतिशत, मेघालय में 57 प्रतिशत और 38 प्रतिशत तथा मणिपुर में 54 प्रतिशत और 36 प्रतिशत है। इस प्रकार ये राज्‍य/केंद्र शासित प्रदेश अपनी पहली और दूसरी खुराक की कवरेज में राष्ट्रीय औसत से पीछे चल रहे हैं। क्लिक करके पूरी खबर पढ़ें

26 नवंबर को उप राष्ट्रपति ने कोरोना से लड़ाई में भारत की ताकत को पेश किया था
उपराष्ट्रपति, एम. वेंकैया नायडु(M. Venkaiah Naidu) ने 26 नवंबर को दो दिवसीय एशिया-यूरोप शिखर सम्मेलन (एएसईएम) के रिट्रीट सत्र को संबोधित करते हुए कोरोना के खिलाफ भारत के प्रयास बताए थे। सम्मेलन का विषय "साझा विकास के लिए बहुपक्षवाद को मजबूत करना" था। रिट्रीट सत्र में नायडु ने कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में भारत के योगदान के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा कि दुनिया की आबादी के छठे हिस्से में संक्रमण के फैलाव को नियंत्रित करके, भारत ने दुनिया को सुरक्षित बनाने में योगदान दिया है। एक अरब से अधिक टीकाकरण के मील के पत्थर का उल्लेख करते हुए नायडु ने कहा कि भारत जरूरतमंद देशों को टीकों के वैश्विक निर्यात को फिर से शुरू करने की प्रक्रिया में है।

यह भी पढ़ें
Delhi pollution: अभी भी खराब है दिल्ली की हवा; Twitter पर लोगों ने सरकार से पूछा-अब तो दिवाली भी नहीं है?
भारत से इंटरनेशनल फ्लाइट 15 दिसंबर से शुरू होगी, 12 देश रिस्क जोन में डाले गए, जानिए क्या हैं नियम
Corona: दक्षिण अफ्रीकी वैरिएंट को मिला Omicron नाम, काफी खतरनाक हो सकता यह स्ट्रेन

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios