Asianet News Hindi

PM मोदी ने छठी बार अजमेर शरीफ दरगाह के लिए भेजी चादर, देश के लिए मांगी ये मन्नत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अजमेर में ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती के 808वें उर्स पर दरगाह में चादरपोशी के लिए शुक्रवार को अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल को चादर सौंपी

PM Narendra modi handover chadar for ajmer sharif prays for India future kpm
Author
New Delhi, First Published Feb 21, 2020, 8:03 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अजमेर में ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती के 808वें उर्स पर दरगाह में चादरपोशी के लिए शुक्रवार को अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल को चादर सौंपी।

प्रधानमंत्री कार्यालय ने ट्वीट कर बताया, ‘‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अजमेर शरीफ दरगाह में चादरपोशी के लिए एक चादर सौंपी।’’

देश की खुशहाली की कामना की 

अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने बताया, ‘‘प्रधानमंत्री जी ने ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती के 808वें उर्स के मौके पर दरगाह पर चादरपोशी के लिये हमें चादर सौंपी हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से छठी बार अजमेर में ख्वाजा साहब के दरगाह पर चादरपोशी की जाएगी। ’’

उन्होंने बताया, ‘‘वह 25 फरवरी को चादरपोशी के लिए जाएंगे।’’नकवी ने बताया कि प्रधानमंत्री से इस अवसर पर एक प्रतिनिधिमंडल  ने मुलाकात की और आधे घंटे की यह मुलाकात खुशनुमा एवं अनौपचारिक माहौल में हुई। उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री ने देश की खुशहाली की कामना करते हुए एक संदेश भी दिया है।

प्रतिनिधिमंडल में ये थे शामिल 

प्रतिनिधिमंडल में अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. तारिक मंसूर, दरगाह ख्वाजा साहब अजमेर के सज्जादा नशीन सैय्यद नसीरूद्दीन चिश्ती, अंजुमन सैयदजादगान के सदर सैयद मोईन हुसैन के अलावा शेखजादा अब्दुल जार चिश्ती, इंडिया इस्लामिक कल्चर सेंटर के सिराजुद्दीन कुरैशी, इस्लामिक विश्व परिषद के मौलाना जलाल हैदर, जेएनयू के प्राक्टर प्रो. कुतुबुद्दीन, सर्व धर्म एकता परिषद के मुफ्ती समुन काशमी, लेफ्टिनेंट जनरल सेवानिवृत अता हसनैन आदि शामिल हैं ।

दरगाह ख्वाजा साहब अजमेर के सज्जादा नशीन सैय्यद नसीरूद्दीन चिश्ती ने कहा कि प्रधानमंत्री ने ख्वाजा साहब की दरगाह पर चादरपोशी के लिए चादर सौंपी है और इसके साथ एक संदेश भी दिया।

(यह खबर समाचार एजेंसी भाषा की है, एशियानेट हिंदी टीम ने सिर्फ हेडलाइन में बदलाव किया है।)

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios