Asianet News Hindi

पीएम मोदी ने कटक में आईटीएटी के कार्यालय का किया उद्घाटन, बोले- देश आज टैक्स ट्रांसपेरेंसी की तरफ बढ़ रहा

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बुधवार को कटक स्थित आयकर अपीलीय अधिकरण (आईटीएटी) के कार्यालय सह रिहायशी परिसर का वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से उद्घाटन किया।

PM narendra Modi inaugurates an office-cum-residential complex of ITAT in Cuttack KPP
Author
New Delhi, First Published Nov 11, 2020, 5:33 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बुधवार को कटक स्थित आयकर अपीलीय अधिकरण (आईटीएटी) के कार्यालय सह रिहायशी परिसर का वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से उद्घाटन किया। इस दौरान पीएम मोदी ने कहा, कटक बेंच आज अपने नए और आधुनिक परिसर में स्थानांतरित हो रही है, इतने लंबे समय तक किराए की बिल्डिंग में काम करने के बाद अपने घर में जाने की खुशी कितनी होती है, इसका अनुमान आप सभी के चेहरों को देखकर लगाया जा सकता है

पीएम ने कहा, मैं आयकर अपीलीय न्यायाधिकरण के सभी अधिकारियों और कर्मचारियों को शुभकामनाएं देता हूं। कटक की ये बेंच अब उड़ीसा ही नहीं बल्कि पूर्वी और उत्तर पूर्वी भारत के लाखों करदाताओं को आधुनिक सुविधाएं देगी। 

'टैक्सपेयर पूरी टैक्स व्यवस्था में बदलाव का साक्षी बन रहा'
प्रधानमंत्री ने कहा,  आज का टैक्सपेयर पूरी टैक्स व्यवस्था में बहुत बड़े बदलाव और पारदर्शिता का साक्षी बन रहा है। जब उसे रिफंड के लिए महीनों इंतजार नहीं करना पड़ता, कुछ ही सप्ताह में उसे रिफंड मिल जाता है, तो उसे पारदर्शिता का अनुभव होता है। 

उन्होंने कहा, पहले की सरकारों के समय शिकायतें होती थीं टैक्स टेररिज्म की। आज देश उसे पीछे छोड़कर टैक्स ट्रांसपेरेंसी की तरफ बढ़ रहा है। टैक्स टेररिज्म से टैक्स ट्रांसपेरेंसी का ये बदलाव इसलिए आया है क्योंकि हम रिफॉर्म ट्रांसफॉर्म और परफॉर्म की अप्रोच के साथ आगे बढ़ रहे हैं। 

'टैक्स रिटर्न पर विश्वास कर रही सरकार'
पीएम मोदी ने कहा, अब सरकार की सोच ये है कि जो इनकम टैक्स रिटर्न फाइल हो रहा है, उस पर पहले पूरी तरह विश्वास करो। इसी का नतीजा है कि आज देश में जो रिटर्न फाइल होते हैं, उनमें से 99.75 % बिना किसी आपत्ति के स्वीकार कर लिए जाते हैं। ये बहुत बड़ा बदलाव है जो देश के टैक्स सिस्टम में आया है। 

'कॉरपोरेट टैक्स में ऐतिहासिक कटौती भी गई'
मोदी ने कहा, विकास की गति तेज करने के लिए, भारत को और ज्यादा इनवेस्टमेंट फ्रैंडली बनाने के लिए कॉरपोरेट टैक्स में ऐतिहासिक कटौती भी की गई है। देश में ही लाखों युवाओं को रोजगार देने वाली मौजूदा कंपनियों के लिए कॉरपोरेट टैक्स को घटाया गया है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios