Asianet News Hindi

10 सालों में 100 मिलियन टन कोयले को गैस में बदलने का लक्ष्य, सरकार करेगी करोड़ों खर्च

देशभर में कोरोना की हालात बिगड़ती जा रही है। हर दिन कोरोना पॉजिटिव के मामले बढ़ते ही जा रहे हैं। ऐसे में पीएम मोदी ने आज आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत निजी क्षेत्र के लिए 41 कोल ब्लॉक्स की नीलामी की प्रक्रिया की शुरुआत की। इस दौरान नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारत कोरोना से लड़ेगा भी और आगे भी बढ़ेगा।

PM narendra Modi live on Coronavirus Coal Block auction aatamnirbhar bharat china face off KPY
Author
New Delhi, First Published Jun 18, 2020, 11:44 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. देशभर में कोरोना की हालात बिगड़ती जा रही है। हर दिन कोरोना पॉजिटिव के मामले बढ़ते ही जा रहे हैं। ऐसे में पीएम मोदी ने आज आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत निजी क्षेत्र के लिए 41 कोल ब्लॉक्स की नीलामी की प्रक्रिया की शुरुआत की। इस दौरान नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारत कोरोना से लड़ेगा भी और आगे भी बढ़ेगा। भारत इस बड़ी आपदा को अवसर में बदलेगा। इस संकट ने भारत को आत्मनिर्भर भारत होने का सबक दिया है। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए मोदी ने कहा कि 2030 तक करीब 100 मिलियन टन कोयले को गैस में बदलने का हमारा लक्ष्य है। इस पर करीब 20 हजार करोड़ रुपए निवेश किए जाएंगे।

 

भारत को बनाएंगे आत्मनिर्भर- पीएम नरेंद्र मोदी 

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि आत्मनिर्भर भारत यानि भारत आयात पर अपनी निर्भरता कम करेगा। आत्मनिर्भर भारत यानि भारत आयात पर खर्च होने वाली लाखों करोड़ रुपए की विदेशी मुद्रा बचाएगा। आत्मनिर्भर भारत यानि भारत को आयात न करना पड़े, इसके लिए वो अपने ही देश में साधन और संसाधन विकसित करेगा। पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि आज एनर्जी सेक्टर में भारत को आत्मनिर्भर बनाने के लिए एक बड़ा कदम उठाया जा रहा है। महीने भर के भीतर ही, हर घोषणा, हर रिफॉर्म्स, चाहे वो कृषि सेक्टर में हो, चाहे सूक्ष्म, लघु और मझोले उद्योग के सेक्टर में हो या फिर अब कोल और खनन के सेक्टर में हो, तेजी से जमीन पर उतर रहे हैं।

2014 के बाद कोल सेक्टर में हुए कई सुधार

प्रधानमंत्री ने कहा कि 2014 के बाद कोल सेक्टर में कई सुधार किए गए। मोदी का कहना है कि उनकी सरकार ने ऐसे सुधार किए जिसकी चर्चा बरसों से है। अब भारत ने कोल और माइनिंग के क्षेत्र में कॉम्पटीशन के लिए, पार्टिसिपेशन के लिए इसे खोलने का फैसला किया है। यह भी ध्यान रखा गया है कि नए प्लेयर्स को किसी प्रकार की परेशानी नहीं हो। मिनरल्स और माइनिंग हमारी इकोनॉमी के महत्वपूर्ण पिलर्स हैं। इस फैसले के बाद पूरा कोल सेक्टर आत्मनिर्भर हो जाएगा। अब इस क्षेत्र के लिए बाजार खुल गया है। जिसको जितनी जरूरत होगी खरीदेगा।

16 जिलों में हैं कोयले के भंडार 

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि ये बताता है कि भारत इस आपदा को अवसर में बदलने के लिए कितना गंभीर है। आज हम सिर्फ निजी क्षेत्रों के लिए कोल ब्लॉक के लिए नीलामी की शुरुआत नहीं कर रहे हैं, बल्कि कोल सेक्टर को दशकों के लॉकडाउन से भी बाहर निकाल रहे हैं। पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि एक मजबूत माइनिंग और मिनरल सेक्टर के बिना आत्मनिर्भर भारत संभव नहीं है, क्योंकि मिनरल्स और माइनिंग हमारी अर्थव्यवस्था के महत्वपूर्ण पिलर्स हैं। इन रिफॉर्म्स के बाद अब कोल प्रोडक्शन, पूरा कोल सेक्टर भी एक प्रकार से आत्मनिर्भर हो पाएगा। पीएम नरेंद्र मोदी ने अपने भाषण में कहा कि देशभर में 16 जिले ऐसे हैं, जहां कोयले के बड़े-बड़े भंडार हैं, लेकिन इनका लाभ वहां के लोगों को उतना नहीं हुआ, जितना होना चाहिए था। यहां से बड़ी संख्या में हमारे साथी दूर, बड़े शहरों में रोजगार के लिए पलायन करते हैं। इन कोल ब्लॉक्स से इन लोगों को रोजगार मिलेगा और वहां रहने वाले लोगों को अधिक सुविधाएं मिलेंगी।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios