नई दिल्ली. चीन के साथ चल रहे विवाद के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुक्रवार को अचानक लद्दाख के लेह के दौरे पर पहुंचे। पीएम मोदी के साथ चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) जनरल बिपिन रावत, सेना प्रमुख एमएम नरवणे भी पहुंचे। इस दौरान पीएम मोदी ने जवानों का हौसला अफजाई भी की। साथ ही इशारों इशारों में चीन पर निशाना भी साधा। पीएम मोदी ने चीन की हरकतों पर तंज कसते हुए कहा, विस्तारवाद का जमाना चला गया, अब विकासवाद का समय है। उन्होंने कहा, विस्तारवादी सोच वाली ताकतें मिट जाती हैं। 

पीएम ने कहा, आप जो सेवा करते हैं उसका मुकाबला पूरे विश्व में कोई नहीं कर सकता है। आपका साहस उस ऊंचाई से भी ऊंचा जहां आप तैनात हैं। आपकी भुजाएं उन चट्टानों से भी मजबूत है, आज आपके बीच आकर मैं इसे महसूस कर रहा हूं। प्रधानमंत्री ने कहा, जब देश की रक्षा आपके हाथों में है, आपके मजबूत इरादों में है, तो सिर्फ मुझे ही नहीं बल्कि पूरे देश को अटूट विश्वास है और देश निश्चिंत भी है। 

पूरी दुनिया को भारत की ताकत दिखाई
पीएम ने कहा, अभी जो आपने और आपके साथियों ने वीरता दिखाई है, उसने पूरी दुनिया में ये संदेश दिया है कि भारत की ताकत क्या है। उन्होंने कहा, मैं गलवान घाटी में शहीद हुए सैनिकों को आज फिर से श्रद्धांजलि देता हूं। उनके पराक्रम, उनके सिंहनाद से धरती अब भी, उनका जयकारा कर रही है।

 


हम बांसुरी धारी और सुदर्शन चक्रधारी कृष्ण को भी पूजते हैं- पीएम
उन्होंने कहा, यह हमारी पहचान है। हम वो लोग हैं जो बांसुरी धारी श्रीकृष्ण की भी पूजा करते हैं, और सुदर्शन चक्रधारी कृष्ण को भी आदर्श मानते हैं। इसी प्रेरणा से हर आक्रमण के बाद भारत और सशक्त होकर उभरा है। 

पीएम ने कहा, लेह-लद्दाख से लेकर करगिल और सियाचिन तक, बर्फीली चोटियों से लेकर गलवान घाटी के ठंडे पानी तक हर चोटी, हर पहाड़, हर जर्जा जर्जा, हर पत्थर, कंकड़ भारतीय सेना के पराक्रम की गवाही देते हैं। 
 




हिंसक झड़प में जख्मी हुए जवानों से भी मिले पीएम
पीएम मोदी ने कहा, बहादुर जवान जो हमारे बीच में नहीं हैं, आप सभी ने मुंहतोड़ जवाब दिया। आपकी बहादुरी और आपका खून देश के युवाओं और लोगों को पीढ़ियों तक प्रेरणा देगी। उन्होंने कहा, हमारा देश कभी नहीं झुका और कभी भी किसी विश्व शक्ति के सामने नहीं झुकेगा। मैं आपके साथ-साथ उन माताओं को भी सम्मान देना चाहता हूं, जिन्होंने आप जैसे बहादुर बच्चों को जन्म दिया। आशा है कि आप सभी जल्दी ठीक हो जाएं। 




11000 फीट की ऊंचाई पर जवानों से की बात
यहां पीएम मोदी ने पीएम लेह में सिन्धु नदी के तट पर 11,000 फीट की ऊंचाई पर नीमू पर आर्मी, एयरफोर्स और आईटीबीपी के जवानों से मुलाकात कर उनका हौसला बढ़ाया। 

"

राजनाथ सिंह का दौरा हुआ स्थगित
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को शुक्रवार को लद्दाख दौरे पर जाना था। उनके साथ सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे भी जाने वाले थे। दोनों को चीन से विवाद के बीच भारत की सैन्य तैयारियों का जायजा लेना था। लेकिन यह दौरा स्थगित हो गया। अब बात में यह दौरा होगा। 

सेना प्रमुख ने भी बढ़ाया हौसला
इससे पहले सेना प्रमुख एमएम नरवणे ने 23 और 24 जून को लद्दाख का दौरा किया था। उन्होंने चीन के साथ झड़प में शामिल जवानों को सम्मानित भी किया था। उनका हौसला भी बढ़ाया था। साथ ही उन्होंने जख्मी जवानों से भी अस्पताल में मुलाकात की थी। 

army chief General MM Naravane visited forward areas in Eastern Ladakh amid tension with china KPP


वायुसेना प्रमुख भी कर चुके हैं दौरा
भारत और चीन के सैनिकों के बीच 15 जून को हिंसक झड़प हुई थी। इसके बाद से भारतीय सेनाएं अलर्ट पर हैं। चीन की हरकत पर नजर रखने के लिए वायुसेना के विमान भी गस्त दे रहे हैं। चीन के खिलाफ तैयारियों का जायजा लेने के लिए 19 जून को वायुसेना प्रमुख राकेश कुमार सिंह भदौरिया ने लेह और श्रीनगर एयर बेस का दौरा किया था। उन्होंने लद्दाख और कश्मीर में तैयारियों का भी जायजा लिया था।