Asianet News Hindi

5 नवंबर को वर्चुअल ग्लोबल इनवेस्टर राउंडटेबल की अघ्‍यक्षता करेंगे PM मोदी, वित्तमंत्री भी होंगी शामिल

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 5 नवंबर को वर्चुअल ग्लोबल इनवेस्टर राउंडटेबल (VGIR) की अध्यक्षता करेंगे। प्रधानमंत्री कार्यालय से मिली जानकारी के मुताबिक, VGIR का आयोजन केंद्रीय वित्त मंत्रालय और राष्ट्रीय निवेश और अवसंरचना कोष द्वारा मिलकर किया जा रहा है। कार्यक्रम में केंद्रीय वित्त मंत्री, केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री, आरबीआई गवर्नर और कईं वरिष्ठ अधिकारी भी होंगे।

PM Narendra Modi will chair Virtual Global Investor Roundtable (VGIR) on 5th November
Author
New Delhi, First Published Nov 3, 2020, 7:16 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्‍ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 5 नवंबर को वर्चुअल ग्लोबल इनवेस्टर राउंडटेबल (VGIR) की अध्यक्षता करेंगे। प्रधानमंत्री कार्यालय से मिली जानकारी के मुताबिक, VGIR का आयोजन केंद्रीय वित्त मंत्रालय और राष्ट्रीय निवेश और अवसंरचना कोष द्वारा मिलकर किया जा रहा है। इस कार्यक्रम के दौरान वैश्विक संस्थागत निवेशकों, भारतीय व्यापार नेताओं और भारत सरकार के टॉप डिसीजन मैकर्स के बीच विशेष बातचीत होगी। आपको बता दें कि इस चर्चा में वित्तीय बाजार नियामकों को भी भारत सरकार की और से शामिल किया गया है।

वित्त मंत्री और आरबीआई गवर्नर समेत कईं ग्लोबल लीडर होंगे शामिल

इस कार्यक्रम में केंद्रीय वित्त मंत्री, केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री, आरबीआई गवर्नर और कईं वरिष्ठ अधिकारी भी होंगे।राउंडटेबल की यह बैठक दुनिया की बीस सबसे बड़ी पेंशन और संप्रभु धन निधियों में से कुल $ 6 ट्रिलियन के प्रबंधन के तहत कुल परिसंपत्तियों के साथ भागीदारी का गवाह बनेगी। आपको बता दें कि ये वैश्विक संस्थागत निवेशक अमेरिका, यूरोप, कनाडा, कोरिया, जापान, मध्य पूर्व, ऑस्ट्रेलिया और सिंगापुर समेत प्रमुख क्षेत्रों का प्रतिनिधित्व करते हैं। इस इवेंट में कईं कंपनियों के सीईओ और सीआईओ भी शामिल होंगे। इनमें से कुछ निवेशक पहली बार भारत सरकार के साथ शामिल होंगे। वैश्विक निवेशकों के अलावा, राउंडटेबल में कई शीर्ष भारतीय बिजनेस लीडर्स की भागीदारी भी देखी जाएगी।


5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था पर होगी चर्चा

वीजीआईआर 2020 के इस कार्यक्रम में भारत के आर्थिक और निवेश दृष्टिकोण, संरचनात्मक सुधारों पर केंद्रीत चर्चा की जाएगी। इस चर्चा के माध्यम से भारत का मकसद देश की अर्थव्यवस्था को 5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था को बनाने का है। यह आयोजन भारत में अंतर्राष्ट्रीय निवेश के विकास को और तेज करने के लिए वैश्विक निवेशकों और भारतीय व्यापार को साथ जोड़ने और विचार करने का अवसर प्रदान करेगा। 

भारत में विदेशी निवेश इस वित्तीय वर्ष के पहले पांच महीनों में सबसे अधिक है। वीजीआईआर 2020 उन सभी निवेशकों और हितधारकों के लिए एक अवसर प्रदान करेगा जो कि मजबूत साझेदारियों को आगे बढ़ाने के लिए और अंतरराष्ट्रीय संस्थागत निवेशकों के साथ जुड़ाव को बढ़ावा देने के लिए भारत की और देख रहे हैं।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios