Asianet News Hindi

पंजाब सरकार के स्वास्थ्य मंत्री ने माना- निजी अस्पतालों ने राज्य सरकार से खरीदी वैक्सीन

 पंजाब के स्वास्थ्य मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू ने शुक्रवार को यह स्वीकार किया है कि कुछ प्राइवेट अस्पतालों ने राज्य सरकार से कोरोना वैक्सीन खरीदी है। हालांकि, उन्होंने कहा है कि अस्पतालों द्वारा महंगी वैक्सीन बेचने के इस मामले पर तभी कुछ कहेंगे, जब जांच पूरी हो जाएगी। 

Private hospitals bought vaccine from state govt says Punjab Health Minister KPP
Author
Amritsar, First Published Jun 4, 2021, 1:55 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

अमृतसर. पंजाब के स्वास्थ्य मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू ने शुक्रवार को यह स्वीकार किया है कि कुछ प्राइवेट अस्पतालों ने राज्य सरकार से कोरोना वैक्सीन खरीदी है। हालांकि, उन्होंने कहा है कि अस्पतालों द्वारा महंगी वैक्सीन बेचने के इस मामले पर तभी कुछ कहेंगे, जब जांच पूरी हो जाएगी। 

शिरोमणि अकाली दल द्वारा लगाए गए आरोपों पर सिद्धू ने कहा, वैक्सीन पर उनका नियंत्रण नहीं है, वे सिर्फ कोरोना ट्रीटमेंट, जांच और वैक्सीनेशन कैंप के मामलों की देखरेख कर रहे हैं। 

वैक्सीन की दामों को लेकर होगी जांच
उन्होंने कहा, अस्पतालों द्वारा ज्यादा कीमत पर वैक्सीन बेंचे जाने के मामले राज्य सरकार जरूर जांच कराएगी। साथ ही यह भी पता लगाया जाएगा कि किस कीमत पर वैक्सीन लगाई गई। 

पंजाब सरकार ने 1000 रुपए में बेची अस्पतालों को वैक्सीन- भाजपा
केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने इस मामले में राहुल गांधी और कांग्रेस पर निशाना साधा। उन्होंने कहा, राहुल गांधी को वैक्सीन को लेकर लैक्चर देने से पहले कांग्रेस शासित राज्यों को देखना चाहिए। पंजाब को 400 रुपए की दर से 1.4 लाख कोवैक्सिन दी गई, इसे राज्य सरकार ने 1000 की दर से 20 प्राइवेट अस्पतालों को बेच दिया। 

अकाली दल ने लगाए गंभीर आरोप
इससे पहले अकाली दल के प्रमुख सुखबीर सिंह बादल ने इस मामले में हाईकोर्ट की देखरेख में जांच की मांग की थी। उन्होंने आरोप लगाया था कि वैक्सीन पंजाब में उपलब्ध है, लेकिन इसे प्राइवेट अस्पतालों में बेचा जा रहा है। पंजाब सरकार को वैक्सीन 400 रुपए में मिल रही है, वे 1060 रुपए में इसे प्राइवेट अस्पतालों में बेच रहे हैं। अस्पताल इसे और अधिक दामों में जनता को लगा रहे हैं। 

उन्होंने मांग की थी कि राज्य के स्वास्थ्य मंत्री पर केस दर्ज होना चाहिए। साथ ही उन्होंने कहा दावा किया था कि अकेले मोहाली में 35,000  वैक्सीन की डोज निजी संस्थानों को बेची गई और एक दिन में करीब 2 करोड़ रुपए का फायदा उठाया गया। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios