Asianet News HindiAsianet News Hindi

अयोध्या पर फैसला: प्रियंका गांधी ने कहा, ये गांधी का देश; अमन, अहिंसा पर कायम रहना हमारा कर्तव्य

सुप्रीम कोर्ट अयोध्या में राम मंदिर-बाबरी मस्जिद जमीन विवाद पर आज फैसला सुनाएगा। चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता में पांच जजों की बेंच ने इस मामले में 40 दिन में 172 घंटे तक की सुनवाई की।

priyanka gandhi commented before supreme court verdict on ayodhya dispute case
Author
New Delhi, First Published Nov 9, 2019, 9:05 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. सुप्रीम कोर्ट अयोध्या में राम मंदिर-बाबरी मस्जिद जमीन विवाद पर आज फैसला सुनाएगा। चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता में पांच जजों की बेंच ने इस मामले में 40 दिन में 172 घंटे तक की सुनवाई की। बेंच में जस्टिस एस ए बोबडे, जस्टिस डी वाई चंद्रचूड़, जस्टिस अशोक भूषण और जस्टिस एस ए नजीर भी शामिल हैं। 

फैसले से पहले कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने ने शांति और एकता बनाए रखने की अपील की। उन्होंने दो ट्वीट किए।

प्रियंका ने लिखा, ''जैसा कि आप सबको पता है, अयोध्या मामले पर आज उच्चतम न्यायालय का फैसला आने वाला है। इस घड़ी में न्यायालय का जो भी निर्णय हो, देश की एकता, सामाजिक सद्भाव, और आपसी प्रेम की हजारों साल पुरानी परम्परा को बनाए रखने की जिम्मेदारी हम सबकी है। 

उन्होंने आगे लिखा, ये महात्मा गांधी का देश है। अमन और अहिंसा के संदेश पर कायम रहना हमारा कर्तव्य है।


ओडिशा के सीएम पटनायक ने शांति बनाए रखने की अपील की

पीएम मोदी ने सौहार्द बनाए रखने की अपील की
पीएम मोदी ने लिखा, ''अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट का जो भी फैसला आएगा, वो किसी की हार-जीत नहीं होगा। देशवासियों से मेरी अपील है कि हम सब की यह प्राथमिकता रहे कि ये फैसला भारत की शांति, एकता और सद्भावना की महान परंपरा को और बल दे।''

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios