Asianet News Hindi

पुडुचेरी विधानसभा चुनाव, कांग्रेस के लिए वापसी मुश्किल, NDA को मिल सकती हैं 18 सीटें

केंद्र शासित प्रदेश पुडुचेरी में एक चरण में 6 अप्रैल को होने जा रहे विधानसभा चुनाव को लेकर Times Now और C-वोटर सर्वे ने वोटरों का रुझान जानने की कोशिश की है। इसके अनुसार कांग्रेस की सत्ता में दुबारा वापसी मुश्किल नजर आ रही, जबकि NDA को 30 में से 18 सीटें मिलती दिख रही हैं।

Puducherry Assembly Elections, Difficult to Return to Congress in Power kpa
Author
Puducherry, First Published Mar 9, 2021, 11:29 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

पुडुचेरी. पांच राज्यों में होने जा रहे विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की हालत काफी पतली नजर आ रही है। खासकर, पुडुचेरी में अपनी सरकार नहीं बचा पाई कांग्रेस के लिए अब सत्ता में वापसी मुश्किल नजर आ रही है। केंद्र शासित प्रदेश पुडुचेरी में होने जा रहे विधानसभा चुनाव को लेकर Times Now और C-वोटर सर्वे ने वोटरों का रुझान जानने की कोशिश की है। इसके अनुसार कांग्रेस की सत्ता में दुबारा वापसी मुश्किल नजर आ रही, जबकि NDA को 30 में से 18 सीटें मिलती दिख रही हैं। कांग्रेस और उसके सहयोगी दलों के खाते में सिर्फ 12 सीट आती दिख रही हैं। प्रदेश में तमिलनाडु के साथ ही 6 अप्रैल को वोटिंग होगी और 2 मई को नतीजे घोषित किए जाएंगे।


जानें सर्वे में और क्या

  • सर्वे के अनुसार, यूपीए को 37.6 फीसदी वोट और एनडीए को 44.5 फीसदी वोट मिलने की उम्मीद है। 17.9 प्रतिशत वोट अन्य उम्मीदवारों को मिल सकते हैं।
  • बता दें कि 2016 के चुनाव में एनडीए को 30.5 फीसदी और यूपीए को 39.5 फीसदी वोट मिले थे। हालांकि यह अलग बात है कि इस ओपिनियन पोल में 36 फीसदी लोगों ने वी नारायणसामी को फिर से प्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में अपनी पहली पसंद बताया है। 21.75 फीसदी लोगों ने वी नारायणसामी सरकार के कामकाज पर संतुष्टि जताई। जबकि 21.88 प्रतिशत लोगों ने कहा कि वे कुछ हद तक संतुष्ट रहे। लेकिन 32.41 फीसदी लोगों ने कांग्रेस सरकार के कामकाज पर अंसतोष जाहिर किया। 23.96 प्रतिशत लोग कुछ भी नहीं बता सके।
  • सर्वे में एआईएनआरसी के एन रंगास्वामी को 42 फीसदी लोगों ने सीएम की पोस्ट के लिए सबसे अच्छा प्रत्याशी बताया।
  • कांग्रेस और डीएमके के गठबंधन वाली सरकार पिछले महीने गिर गई थी। नारायणसामी सदन में उपराज्यपाल के सामने अपना बहुमत साबित नहीं कर पाए थे। कांग्रेस के 6 विधायकों की बगावत के बाद नारायणसामी की सरकार अल्पमत में आ गई थी। 
Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios