Asianet News Hindi

चेन्नई में बारिश ने 6 साल का रिकॉर्ड तोड़ा, सड़कें बनी तालाब; पूर्व सीएम करुणानिधि के घर में भी भरा पानी

उत्तर पूर्वी मानसून ने गुरूवार को भारत के दक्षिणी हिस्सों में दस्तक दे दी है। गुरुवार तड़के तमिलनाडु के कईं जिलों में भारी बारिश दर्ज की गई। चेन्नई के कई हिस्सों में तेज आंधी, बिजली और भारी बारिश से शहर लबालब हो गया है। मौसम विभाग से मिली जानकारी के अनुसार चेन्नई में पिछले छह सालों की सबसे ज्यादा बारिश एक ही दिन में दर्ज की गई है। 

Rain in Chennai breaks 6-year record, roads become ponds; Former Chief Minister Karunanidhi's house also filled with water
Author
Chennai, First Published Oct 29, 2020, 1:19 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

चेन्नई. उत्तर पूर्वी मानसून ने गुरूवार को भारत के दक्षिणी हिस्सों में दस्तक दे दी है। गुरुवार तड़के तमिलनाडु के कईं जिलों में भारी बारिश दर्ज की गई। चेन्नई के कई हिस्सों में तेज आंधी, बिजली और भारी बारिश से शहर लबालब हो गया है। मौसम विभाग से मिली जानकारी के अनुसार चेन्नई में पिछले छह सालों की सबसे ज्यादा बारिश एक ही दिन में दर्ज की गई है। कई घंटों तक चली बारिश के बाद शहर के कईं इलाकों और सड़कों पर पानी जमा हो गया। यहां तक कि चेन्नई एयरपोर्ट पर भी काफी मात्रा में पानी जमा हो गया है।


चेन्नई में तेज बारिश के चलते एयरपोर्ट पर भी पानी भर गया।

इन दो शहरों में हुई ज्यादा बारिश
राजधानी चेन्नई के अलावा तमिलनाडु के दो शहरों नुंगाबक्कम और मीनाबक्कम में सबसे ज्यादा क्रमश: 133.4 और 58.3 मिमी. बारिश दर्ज की गई। दरअसल, बुधवार को ही बुधवार को ही भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने अलर्ट जारी करते हुए कहा था कि उत्तर पूर्वी मानसून देश के दक्षिणी इलाकों में आ गया है, जिसमें तमिलनाडु और केरल शामिल हैं। बुधवार के अपने अलर्ट में मौसम विभाग ने अगले दिन गुरुवार के लिए चेन्नई के ऊपर आसमान में बादल छाए रहने और हल्की से मध्यम बारिश होने का अनुमान लगाया था।


सड़कों पर पानी भरने से वाहन भी डूब गए। 

बुधवार को दक्षिण-पश्चिम मानसून ने विदा ली
दक्षिण-पश्चिम मानसून आखिरकार बुधवार को देश से विदा हो गया। यह अपनी सामान्य तिथि के 13 दिन बाद वापस गया। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने बताया कि इसके साथ ही उत्तर-पूर्वी मॉनसून की शुरुआत हो गई है जिसके चलते तमिलनाडु, पुडुचेरी, आंध्र प्रदेश के हिस्सों, कर्नाटक और केरल में अक्टूबर से दिसंबर के दौरान बारिश होती है। बंगाल की दक्षिण-पश्चिम खाड़ी और तमिलनाडु के तटीय क्षेत्र में एक चक्रवाती दौर बना हुआ है।


चेन्नई में ज्यादातर सड़कों पर यूं नजारा दिखा। 

विभाग ने इसके प्रभाव के चलते केरल, माहे, तमिलनाडु और पुडुचेरी में अगले पांच दिनों के दौरान सामान्य गरज के साथ छिटपुट बारिश और बिजली चमकने की आशंका है। साथ ही अगले दो दिनों के दौरान दक्षिण तमिलनाडु में जबकि अगले 24 घंटे में दक्षिण केरल के हिस्सों में भारी बारिश हो सकती है

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios