Asianet News HindiAsianet News Hindi

आग के बीच मसीहा बनकर आया ये शख्स, जान की बाजी लगाकर 11 लोगों को मौत के मुंह से निकाला

दिल्ली के रानी झांसी रोड स्थित अनाज मंडी में रविवार को भीषण आग हादसे में 43 लोगों की मौत हो गई। सकरी गलियां और तेज आग होने के बावजूद दमकलकर्मियों ने तेजी दिखाते हुए करीब 56 लोगों का रेस्क्यू किया।

rajesh shukla a fire man who save life of many people in fire incident delhi
Author
New Delhi, First Published Dec 8, 2019, 1:20 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. दिल्ली के रानी झांसी रोड स्थित अनाज मंडी में रविवार को भीषण आग हादसे में 43 लोगों की मौत हो गई। सकरी गलियां और तेज आग होने के बावजूद दमकलकर्मियों ने तेजी दिखाते हुए करीब 56 लोगों का रेस्क्यू किया। दमकलकर्मी कंधे पर लादकर एक एक शख्स को बाहर लेकर आए। 

इसी बीच एक दमकलकर्मी राजेश शुक्ला आग में फंसे लोगों के लिए हीरो बनकर आए। शुक्ला ने करीब 11 लोगों की जान बचाई। सकरी गलियां होने के चलते अंदर एंबुलेंस नहीं आ पा रही थी, इसलिए रेस्क्यू किए गए लोगों को टैंपों से बाहर निकाला गया। 

"

मृतकों के परिजनों को 10-10 लाख रुपए का मुआवजा
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मृतकों के परिजनों को 10-10 लाख रुपए मुआवजे का ऐलान किया है। वहीं, घायलों का इलाज फ्री में होगा, इसके अलावा उन्हें एक लाख रुपए का मुआवजा मिलेगा। 

सुबह 5.20 पर लगी आग
बताया जा रहा है कि यह आग रविवार को सुबह 5.20 बजे लगी। इस इमारत में ही फैक्ट्री में काम करने वाले लोग अपने परिवारों के साथ रहते थे। सुबह होने की वजह से ज्यादातर लोग सो रहे थे। इस वजह से ज्यादातर लोगों की मौत दम घुटने से हुई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह, अरविंद केजरीवाल समेत तमाम नेताओं ने दुख व्यक्त किया है। इसके अलावा आप और भाजपा नेताओं ने हादसे वाली जगह का दौरा भी किया। 
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios