नई दिल्ली.  8 राज्यों में राज्यसभा की 19 सीटों के लिए मतदान खत्म हो चुका है। 10 राज्यों की 24 राज्यसभा सीटों पर भी चुनाव होना था, लेकिन 2 राज्यों की 5 सीटों पर बिना विरोध कैंडिडेट चुन लिए गए। राज्यसभा चुनाव में मध्यप्रदेश में भाजपा ने दो सीटों पर जबकि कांग्रेस ने 1 सीट पर जीत हासिल की। वहीं, राजस्थान में कांग्रेस ने दो जबकि भाजपा ने 1 सीट पर जीत हासिल की। वहीं, आंध्र की सभी सीटों पर सत्ताधारी वाईएसआर कांग्रेस की जीत हुई। मेघालय में एमडीए को जीत हासिल हुई। झारखंड की दो सीटों में 1 पर भाजपा और 1 पर जेएमएम ने जीत हासिल की। मिजोरम में एमएनएफ ने राज्यसभा सीट जीती।

मध्य प्रदेश
मध्यप्रदेश से कांग्रेस के दिग्विजय सिंह और भाजपा से ज्योतिरादित्य सिंधिया और सुमेर सिंह सोलंकी की जीत हुई। इससे पहले मध्यप्रदेश में तीन सीटों के लिए वोटिंग हुई। आखिरी में वोट डालने पीपीई किट पहनकर विधानसभा पहुंचे कांग्रेस के कोरोना पॉजिटिव विधायक कुणाल चौधरी। उनका वोट अलग से लिफाफे में रखा गया।  

कांग्रेस के कोरोना वायरस पॉजिटिव विधायक के राज्यसभा के लिए मतदान करने के बाद विधानसभा परिसर को सेनिटाइज किया गया। 

Image

कांग्रेस विधायकों को बस में बैठाकर कमलनाथ विधानसभा पहुंचे। यह तस्वीर तभी की है।

मध्य प्रदेश की 1 सीट पर फंसा था पेंच
मध्य प्रदेश में 206 विधायक हैं। जीतने के लिए 52 वोटों की जरूरत थी। भाजपा के पास 107 विधायक हैं। कांग्रेस के पास 92 विधायक हैं। ऐसे में दोनों 1-1 सीट आसानी से जीत गए। भाजपा के पास चार निर्दलीय, दो बीएसपी और एक सपा के विधायक का समर्थन है। इससे भाजपा दूसरी सीट भी जीत गई।


राजस्थान : राजस्थान में कांग्रेस ने दो जबकि भाजपा ने 1 सीट पर जीत हासिल की। केसी वेणुगोपाल और नीरज धांगी की आसान जीत हुई। भाजपा के राजेंद्र गहलोत को जीत मिली।

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने वोट डाला


राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे सिंधिया ने विधानसभा में राज्यसभा चुनाव के लिए अपना वोट डाला।


आंध्र प्रदेश

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाईएस जगनमोहन रेड्डी ने अमरावती स्थित विधानसभा में राज्यसभा चुनाव के लिए के लिए अपना वोट डाला। राज्य की चार राज्यसभा सीटों के लिए मतदान पूरा हो चुका है। वाईएसआर ने उपमुख्यमंत्री पिल्ली सुभाष चंद्र बोस, मंत्री मोपिदेवी वेंकट रमन राव, रियल इस्टेट कारोबारी ए अयोध्या रामी रेड्डी और रिलायंस इंडस्ट्रीज के सीनियर ग्रुप अध्यक्ष परिमालनाथवानिआरे को उतारा था। 

आंध्र प्रदेश में राज्यसभा चुनाव का समीकरण?

आंध्रप्रदेश में राज्यसभा के लिए चार सीटों पर चुनाव हुआ। पर्याप्त बहुमत होने के कारण सत्तारूढ़ वाईएसआर कांग्रेस ने चारों सीटों पर जीत हासिल की। साल 2014 में राज्य के बंटवारे के बाद पहली बार यहां राज्यसभा सीटों के लिए चुनाव हो रहे हैं। वैसे तो यहां निर्विरोध ही चुनाव हो जाता, लेकिन मुकाबले में पांच उम्मीदवारों के होने के कारण मतदान हुआ।


गुजरात के नतीजे: भाजपा 3, कांग्रेस 1

4 सीटों के लिए गुजरात में 172 में से 170 विधायकों ने वोट डाला। भारतीय ट्राइबल पार्टी (बीटीपी) के दो विधायकों ने वोट नहीं डाला। इसका फायदा भाजपा को मिला और उसका तीसरा उम्मीदवार जीत गया। भाजपा के 103, कांग्रेस के 65, एनसीपी के 1 विधायक और एक निर्दलीय विधायक ने वोट डाले।


गुजरात में मातर विधानसभा क्षेत्र के भाजपा विधायक केसरी सिंह जेसंगभाई सोलंकी एक एंबुलेंस में विधान सभा पहुंचे। उन्हें खराब स्वास्थ्य के चलते अस्पताल में भर्ती कराया गया था और वे सीधे अस्पताल से यहां पहुंचे।

गुजरात में राज्यसभा सीटों का चुनावी समीकरण क्या है?

गुजरात में कुल चार सीटों पर राज्यसभा चुनाव होने हैं। यहां बीजेपी का शासन है। बीजेपी ने तीन तो कांग्रेस ने दो सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे हैं। कांग्रेस के कुछ विधायकों के इस्तीफे के बाद यह लगभग स्पष्ट हो गया है कि बीजेपी तीनों सीटें जीतने में कामयाब हो जाएगी। कांग्रेस विधायकों के इस्तीफे से उसे बड़ा झटका लगा है और लगभग बीजेपी ने बाजी मार ली है।


झारखंड

झारखंड की दो सीटों में 1 पर भाजपा और 1 पर जेएमएम ने जीत हासिल की। भाजपा के उम्मीदवार को 31 वोट मिले। वहीं, शिबू सोरेन को 30 वोटों के साथ जीत मिली। कांग्रेस उम्मीदवार को 18 वोटों से हार मिली। 

मेघालय


मेघालय में एमडीए के प्रत्याशी डॉ डब्ल्यू आर खारलुखी ने राज्यसभा चुनाव में जीत हासिल की। उन्होंने कांग्रेस के प्रत्याशी को मात दी।