Asianet News Hindi

जिन मुसलमानों को वैक्सीन नहीं लगवानी वे पाकिस्तान चले जाए, BJP MLA ने कहा- वैज्ञानिकों पर संदेह करना गलत

देश में 16 जनवरी से वैक्सीन लगाने की शुरुआत हो जाएगी। तैयारियां जोरों पर हैं। पुणे से देश के 13 शहरों में वैक्सीन भेज दी गई है। लेकिन इन सबके बीच वैक्सीन पर विवाद खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। भाजपा के एक विधायक ने यह कहकर विवाद खड़ा कर दिया है कि जिन मुसलमानों को देश में बनी COVID-19 वैक्सीन में विश्वास नहीं है, उन्हें पाकिस्तान चले जाना चाहिए। 

Sangeet Som said that Muslims who do not get vaccinated should go to Pakistan kpn
Author
New Delhi, First Published Jan 13, 2021, 8:32 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मेरठ. देश में 16 जनवरी से वैक्सीन लगाने की शुरुआत हो जाएगी। तैयारियां जोरों पर हैं। पुणे से देश के 13 शहरों में वैक्सीन भेज दी गई है। लेकिन इन सबके बीच वैक्सीन पर विवाद खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। भाजपा के एक विधायक ने यह कहकर विवाद खड़ा कर दिया है कि जिन मुसलमानों को देश में बनी COVID-19 वैक्सीन में विश्वास नहीं है, उन्हें पाकिस्तान चले जाना चाहिए। 

"जिन्हें मोदी पर भरोसा नहीं, वे पाकिस्तान चले जाए"
उत्तर प्रदेश के सरधना से भाजपा के फायर ब्रांड विधायक संगीत सोम ने कहा, जिन मुसलमानों को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और वैज्ञानिकों पर भरोसा नहीं है उन्हें  पाकिस्तान चले जाना चाहिए। उन्होंने कहा, यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि कुछ मुसलमानों को हमारे देश, हमारे वैज्ञानिकों, हमारे पुलिस बल और पीएम मोदी पर भरोसा नहीं है। उनकी आस्था पाकिस्तान में है। उन्हें पाकिस्तान जाना चाहिए और हमारे वैज्ञानिकों के काम पर संदेह नहीं करना चाहिए।

1.1 करोड़ डोज का ऑर्डर दिया गया है
भारत सरकार ने सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया को 1.1 करोड़ डोज का आधिकारिक ऑर्डर दिया। इसके बाद मंगलवार से ही वैक्सीन की सप्लाई शुरू हुई है, सीरम इंस्टीट्यूट से देश के 13 स्थानों पर ये वैक्सीन की सप्लाई की जा रही है। इनमें दिल्ली, गुजरात जैसे राज्य भी शामिल हैं।

उत्तर प्रदेश में 9, एमपी में 5 ,गुजरात में 4 केरल में 3, जम्मू-कश्मीर में 2, कर्नाटक में और राजस्थान में एक-एक वैक्सीन स्टोर बनाया गया है। उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य ने बताया कि वैक्सीन की पहली खेप हमें आज लखनऊ पहुंचेगी। वैक्सीन सबसे पहले हेल्थ से जुड़े लोगों, फ्रंटलाइन वर्कर्स और बाद में 50 साल से अधिक उम्र के लोगों को दी जाएगी।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios