नई दिल्ली. कोरोना के चलते आर्थिक संकट झेल रहे ग्राहकों के लिए अच्छी खबर है। देश की सबसे बड़ी बैंक भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने ब्याज दरों को घटाने का ऐलान किया है। बैंक ने हर तरह के लोन पर 0.15% की कटौती की है। इसके बाद से हर तरीके का लोन सस्ता हो जाएगा। एसबीआई के इस ऐलान के बाद अब ब्याज दरें 7.40% से घटकर 7.25% पर आ गई हैं। एमसीएलआर ही पर्सनल, ऑटो और होम लोन जैसे कर्ज के लिए प्रमुख आधार दर होती है। इसके अलावा ग्राहकों की डिपॉजिट पर भी 0.20% की कटौती की गई है। 

आरबीआई ने मार्च में ही रेपो रेट 0.75% घटाया था। इसके बाद स्टेट बैंक ने ब्याज दरों को घटाने का ऐलान किया। ये नई दरें 10 मई से लागू होंगी। इससे पहले बैंक ने अप्रैल में 0.35% तक की कटौती की थी। अगर 30 साल के लिए किसी ने 25 लाख रुपए का कर्ज लिया है तो अब ब्याज दरें घटने के बाद ग्राहकों की मासिक किश्त 255 रुपए तक कम जाएगी।  

एफडी की ब्याज दरों में कटौती की
एसबीआई ने एफडी की ब्याज दरों में भी कटौती कर दी है। एसबीआई ने ट्वीट कर बताया, 3 साल की एफडी पर दरें 0.20 फीसदी तक कम हो गई है। ये दरें 12 मई से लागू होंगी। हालांकि, वृद्धों के लिए एसबीआई की ओर से एसबीआई वीकेयर डिपॉजिट' स्कीम की शुरुआत की गई है। इसके तहत बुजुर्गों को 5 साल या उससे अधिक एफडी पर 30 बेसिस पॉइंट यानी 0.30% अतिरिक्त ब्याज मिलेगा। यह स्कीम 30 सितंबर 2020 तक जारी रहेगा।