नई दिल्ली. कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए भारत में सभी स्कूल कॉलेज बंद हैं। लेकिन लॉकडाउन में सरकार द्वारा दी जारी ढिलाई को देखते हुए माना जा रहा है कि स्कूल 15 जुलाई को खुल सकते हैं। लेकिन स्कूलों को ऑनलाइन पर फोकस करने के लिए कहा जाएगा। सिर्फ 33-50% स्कूल जा सकेंगे। केंद्र जल्द ही स्कूलों को लेकर गाइडलाइन जारी कर सकती है।

भास्कर की रिपोर्ट के मुताबिक, मानव संसाधन विकास मंत्रालय स्कूलों को लेकर गाइडलाइन तैयार कर रहा है। इन्हें अंतिम रूप दिया जाना बाकी है। इसके बाद जल्द ही इन्हें जारी किया जाएगा। 

स्कूलों को करने होंगे ये बदलाव
- एक बार में 33-50% छात्र आ सकेंगे।
स्कूलों को ऑनलाइन पर फोकस करना होगा।
- छात्रों की संख्या के मुताबिक, टॉयलेट, पीने के पानी की व्यवस्था, हाथ धोने की सुविधा को बढ़ाना होगा। स्कूल हफ्ते में 2-3 दिन खुलेंगे। 

राज्य अपने स्तर पर ले सकेंगे फैसला
लॉकडाउन में छूट की तरह ही केंद्र गाइडलाइन के आधार पर राज्य स्कूल खोलने पर अंतिम फैसला कर सकेंगे। केंद्र स्कूल खोलने की गाइडलाइन जारी करने में अभी इंतजार करेगा। माना जा रहा है कि केसों को देखते हुए स्कूल जून के अंतिम सप्ताह में गाइडलाइन का रिव्यू होगा। हालांकि, अभी स्कूल खोलने की तारीख में बदलाव भी कर सकते हैं। 

इन नियमों का करना होगा पालन
एचआरडी मिनिस्टर रमेश पोखरियाल निशंक ने हाल ही में कहा था कि स्कूलों को सोशल डिस्टेंसिंग और सैनिटाइजेशन का विशेष ख्याल रखना होगा।  

1 जून से होने की हैं 12वीं की परीक्षाएं
उधर, एचआरडी मिनिस्ट्री ने सीबीएसई 12वीं और 10वीं की बची हुई परीक्षाएं 1 जून से कराने की अनुमति दे दी है। लॉकडाउन के चलते देश भर में ये परीक्षाएं स्थिगित करनी पड़ी थीं।