Asianet News Hindi

अब खुली मिठाई पर देख सकेंगे तारीख, बीमा पॉलिसी में अब ज्यादा बीमारियां होंगी कवर, कल से होंगे अहम बदलाव

कोरोना महामारी के चलते देशभर में लॉकडाउन लागू किया गया था। इसके बाद देशभर में अनलॉक की प्रक्रिया शुरू कर दी गई। अब 1 अक्टूबर से देशभर में कई नियमों में बदलाव होने जा रहे हैं। वाहन चलाने वालों और विदेश में पैसा भेजने वालों से लेकर गूगल पर मीटिंग करने वालों तक के लिए इन बदलावों को जानना जरूरी है।

See dates on open Sweets more diseases will be added to insurance know how much And how you will be benefit KPY
Author
New Delhi, First Published Sep 30, 2020, 5:01 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. कोरोना महामारी के चलते देशभर में लॉकडाउन लागू किया गया था। इसके बाद देशभर में अनलॉक की प्रक्रिया शुरू कर दी गई। अब 1 अक्टूबर से देशभर में कई नियमों में बदलाव होने जा रहे हैं। वाहन चलाने वालों और विदेश में पैसा भेजने वालों से लेकर गूगल पर मीटिंग करने वालों तक के लिए इन बदलावों को जानना जरूरी है। ऐसे में आइए जानते हैं वो कौन से बदलाव होने जा रहे हैं:-

लाइसेंस- आरसी रखने का झंझट नहीं: वाहन चलाते समय अब लाइसेंस और रजिस्ट्रेशन के दस्तावेज रखने की जरूरत नहीं पड़ेगी। इनकी सॉफ्ट कॉपी भी मान्य होगी।

गाड़ी चलाते हुए कर सकेंगे मोबाइल का इस्तेमाल: गाड़ी चलाते समय रूट नेवीगेशन देखने के लिए मोबाइल फोन हाथ में रख सकेंगे। हालांकि, मोबाइल से बात करने पर 5000 रुपए तक जुर्माना लग सकता है।

खुली मिठाई पर लिखनी होगी तारीख: बाजार में बिकने वाली खुली मिठाई के डिब्बे पर लिखना होगा कि इसे कब तक इस्तेमाल किया जा सकता है।

स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी में बदलाव: बीमा पॉलिसी लेने वाले ने लगातार 8 साल तक प्रीमियम चुकाई है तो कंपनियां उसका क्लेम रिजेक्ट नहीं कर पाएंगी। इनमें अब पहले से ज्यादा बीमारियां कवर होंगी। हालांकि, इससे प्रीमियम बढ़ सकती है। ग्राहक कंपनी बदलते हैं तो पुराना वेटिंग पीरियड जुड़ेगा।

पैसा विदेश भेजने पर 5% टैक्स: विदेश में बच्चों या रिश्तेदारों को पैसे भेजते हैं या प्रॉपर्टी खरीदते हैं तो रकम पर 5% टीसीएस देना होगा। फाइनेंस एक्ट 2020 के मुताबिक बताया जा रहा है कि लिबरलाइज्ड रेमिटेंस स्कीम के तहत 2.5 लाख डॉलर सालाना तक विदेश भेज सकते हैं। इसे टीसीएस के दायरे में लाया गया है।

सरसों तेल में मिलावट नहीं: अब सरसों का शुद्ध तेल मिलेगा। एफएसएसएआई (FSSAI) ने इसमें दूसरे तेल मिलाने पर रोक लगा दी है। अब तक चावल की भूसी यानी राइस ब्रान, तेल या सस्ते तेल मिलाए जाते थे।

रंगीन टीवी खरीदना महंगा: केंद्र सरकार ने रंगीन टीवी की असेंबलिंग में इस्तेमाल होने वाले ओपन सेल कंपोनेंट के आयात पर 5% सीमा शुल्क बहाल कर दिया है। इस पर सरकार ने एक साल की छूट दी थी।

गूगल मीट पर फ्री मीटिंग 60 मिनट ही: ऑनलाइन मीटिंग के लिए चर्चित माध्यम गूगल मीट का इस्तेमाल सीमित होगा। फ्री यूजर अधिकतम 60 मिनट मीटिंग कर पाएंगे। पेड यूजर्स इससे लंबी मीटिंग कर पाएंगे।

उज्ज्वला गैस कनेक्शन फ्री नहीं: मुफ्त रसोई गैस कनेक्शन लेने की प्रोसेस 30 सितंबर को खत्म हो रही है। कोरोना के चलते इसकी तारीख को बढ़ाई गई थी।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios