मुंबई. बॉलीवुड एक्ट्रेस विद्या बालन की फिल्म 'शकुंतला देवी' आज रिलीज हुई है। इस फिल्म में विद्या बालन ने भारत की महान गणितज्ञ शकुंतला देवी का रोल निभाया है। बताया जाता है कि शकुंतला देवी की कैलकुलेशन करने की स्पीड इतनी तेज थी कि  पूरी दुनिया में उन्हें ह्यूमन कंप्यूटर के नाम से जाना जाता था। इतना ही नहीं उनका नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में भी दर्ज था। आईए जानते हैं मैथ की वंडर वूमन शकुंतला देवी के बारे में....

शकुंतला देवी का जन्म 4 नवंबर 1929 को बेंगलुरु में हुआ था। वे सिर्फ तीन साल की उम्र में ही गणित की तमाम कैलकुलेशन कर लेती थीं। भारत में मैथ की वंडर वूमन कही जाने वाली शकुंतला देवी को कितना भी बड़ा कैलकुलेशन दे दिया जाता था, वो सेकेंडों में उसे पलक झपकते हल कर देती थीं। 
 

4 साल की उम्र में यूनिवर्सिटी के कार्यक्रम में लिया हिस्सा
शकुंतला देवी जब काफी छोटी थीं, तो उनके मुहल्ले के बच्चे उनसे सवाल हल करवाने के लिए आते थे। इतना ही नहीं उन्होंने चार साल की उम्र में यूनिवर्सिटी ऑफ मैसूर के एक बड़े कार्यक्रम में हिस्सा लिया। शकुंतला देवी ने कभी स्कूली पढ़ाई नहीं की। वे यहां से लंदन चली गईं। लंदन में शकुंतला देवी के पिता करतब दिखाते थे। 

28 सेकंड में हल किया बड़ा सवाल
1977 में उन्होंने अमेरिका में कंप्यूटर से मुकाबला किया और एक सवाल का उत्तर बताकर जीत हासिल की। इसके बाद 1980 में लंदन में उन्होंने इंपीरियल कॉलेज में 13 अंकों को दो संख्याओं का गुणनफल 28 सेकंड में निकाल दिया। इसके लिए उनका नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में शामिल किया गया।