Asianet News Hindi

​एंटी नेशनल, कुख्यात गतिविधियों में लिप्त, टेरर फंडिंग, क्या इन 10 बड़े आरोपों का शेहला के पास जवाब है?

जेएनयू की रिसर्च स्कॉलर शेहला रशीद (Shehla Rashid) के खिलाफ उनके पिता अब्दुल रशीद शोरा ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है। अब्दुल का कहना है कि उनकी बेटी राष्ट्रविरोधी गतिविधियों में लिप्त है और उन्हें जान से मारने की धमकी दे रही है। जेके न्यूज वायर के मुताबिक, अब्दुल ने शेहला के खिलाफ जांच की मांग की है। उन्होंने जम्मू-कश्मीर के डीजीपी से सुरक्षा की मांग करते हुए लिखित शिकायत की है।

Shehla Rashid made 10 big allegations by her father Abdul Rashid Shora kpn
Author
New Delhi, First Published Dec 1, 2020, 11:08 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

श्रीनगर/नई दिल्ली. जेएनयू की रिसर्च स्कॉलर शेहला रशीद (Shehla Rashid) के खिलाफ उनके पिता अब्दुल रशीद शोरा ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है। अब्दुल का कहना है कि उनकी बेटी राष्ट्रविरोधी गतिविधियों में लिप्त है और उन्हें जान से मारने की धमकी दे रही है। जेके न्यूज वायर के मुताबिक, अब्दुल ने शेहला के खिलाफ जांच की मांग की है। उन्होंने जम्मू-कश्मीर के डीजीपी से सुरक्षा की मांग करते हुए लिखित शिकायत की है। लिखित शिकायत में पिता ने शेहला पर क्या-क्या गंभीर आरोप लगाए हैं, पढ़िए...  

1- "बेटी कुख्यात गतिविधियों में लिप्त है"
अब्दुल रशीद शोरा ने जम्मू-कश्मीर के डीजीपी को दी अपनी शिकायत में बेटी शेहला की कुख्यात गतिविधियों को उजागर करते हुए उसके बैंक अकाउंट की जांच करने की मांग की है। 

2- "घर से राष्ट्र विरोध गतिविधियां संचालित कर रही"
शोरा ने कहा है कि शेहला कुख्यात गतिविधियों में लिप्त है और मेरे घर से राष्ट्र विरोधी गतिविधियां संचालित कर रही है।

3- "कुख्यात लोगों से 3 करोड़ रुपए लिए"
जम्मू-कश्मीर के डीजीपी को लिखे पत्र में अब्दुल रशीद शोरा ने दावा किया कि शेहला ने कश्मीर केंद्रित राजनीति में शामिल होने के लिए कुख्यात लोगों से 3 करोड़ रुपए नकद लिए हैं। 

4- "टेरर फंडिंग के आरोपी से मुलाकात की"
उन्होंने बताया कि 2 महीने पहले ही टेरर फंडिंग केस में गिरफ्तार किए गए जहूर वटाली (एनआईए द्वारा गिरफ्तार) और पूर्व विधायक रशीद इंजीनियर के बीच 2017 में वटाली के घर पर बैठक हुई थी। इस दौरान शेहला सोशियोलॉजी से अपनी पीएचडी के लास्ट सेमेस्टर में थी। इसी दौरान इन्होंने जेकेपीएम (जम्मू-कश्मीर पीपुल्स मूवमेंट) पार्टी के लॉन्च का खुलासा किया था। 

5- "पार्टी ज्वॉइन करने के लिए 3 करोड़ रु. का ऑफर दिया"
इन्होंने अपने इस खेल में मुझसे शेहला को मिलाने का आग्रह किया। उस वक्त शाह फैसल यूएसए में थे। इन लोगों ने इस मीटिंग के दौरान मुझे शेहला को पार्टी ज्वॉइन कराने के लिए 3 करोड़ रुपए ऑफर किए थे। 

6- "अवैध चैनलों के माध्यम से आ रहा पैसा"
शोरा ने आगे कहा- मुझे लगा कि ये पैसा अवैध चैनलों के माध्यम से आ रहा है और गैरकानूनी गतिविधियों के लिए इस्तेमाल किया जाएगा। मैंने पैसे नहीं लिए और अपनी बेटी शेहला को इन लोगों के साथ किसी भी तरह के लेनदेन में लिप्त नहीं होने के लिए कहा। लेकिन मेरे विरोध के बावजूद मैंने अपनी पत्नी जुबैदा शोरा और बड़ी बेटी अस्मा राशिद को शेहला का समर्थन करते हुए पाया। इसमें सकीब अहमद नाम का एक और शख्स शामिल है, जो खुद को शेहला का पर्सनल सिक्युरिटी गार्ड बताता है। 

7- "दिल्ली में नकद पैसे मिले, किसी को बताने से मना किया"
करीब एक हफ्ते के बाद जब शेहला दिल्ली से श्रीनगर आई तो उसने मुझसे कहा कि उसे दिल्ली में नकद पैसे मिल गए हैं और वो इस लेनदेन के बारे में किसी को कुछ भी न बताएं। इसके साथ ही शेहला ने कहा कि राशिद इंजीनियर और जहूर वटाली के साथ हमारी मीटिंग के बारे में भी किसी से चर्चा न करें, वरना जान को खतरा हो सकता है। 

8- बेटी ने कहा, हमें अपना मुंह बंद रखने की जरूरत है
शेहला ने मुझसे कहा कि मैंने रकम स्वीकार कर ली है और भविष्य में और पैसा आने वाला है, इसलिए हमें अपना मुंह बंद रखने की जरूरत है। बेटी का पिता होने के नाते मुझे भी उसकी चिंता हुई और मैंने उसके इस फैसले पर कड़ी आपत्ति जताते हुए कहा कि इन कुख्यात लोगों के माध्यम से आने वाले इस पैसे का इस्तेमाल गैरकानूनी गतिविधियों में होगा।  

9- "मेरे घर में राष्ट्रविरोधी गतिविधियां चल रही हैं"
अब्दुल शोरा ने आगे कहा- मुझे पूरा यकीन है कि मेरे घर में राष्ट्रविरोधी गतिविधियां चल रही हैं। इस साजिश में मेरी बेटियां, पत्नी और शेहला का सिक्युरिटी गार्ड शाकिब भी शामिल है। 

10- "पिस्तौल दिखाकर मुझे धमकी दी थी"
शाकिब ने अपनी पिस्तौल से मुझे धमकी भी दी थी। मेरे विरोध के कारण शेहला और उसकी मां ने मुझे घर से निकालने की साजिश रची और जान से मारने की धमकियां भी दी गईं। इसलिए मैं निवेदन करता हूं कि मेरी व्यक्तिगत सुरक्षा सुनिश्चित की जाए। इसके साथ ही इन सबके बीच हुई रहस्यमय वित्तीय डील की जांच की जाए।

बता दें कि पिछले दिनों शेहला रशीद के खिलाफ दिल्‍ली पुलिस की स्‍पेशल सेल ने देशद्रोह के साथ कई अन्‍य धाराओं में एफआईआर दर्ज की थी। शेहला रशीद पर जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद-370 हटाए जाने के बाद मौजूदा हालात को लेकर भारतीय सेना के खिलाफ झूठी खबरें फैलाने का आरोप था।

शेहला ने भारतीय सेना पर रात में कश्‍मीर के लोगों के घरों में घुसने, गैर-कानूनी रूप से लड़कों को उठाने, घरों में छानबीन करने, चावलों में तेल मिलाने, शोपियां में कश्‍मीरी लड़कों को बंधक बनाकर दहशत फैलाने जैसे कई आरोप लगाए थे। एक ट्वीट में शेहला ने जम्मू-कश्मीर की हालत बेहद खराब होने का दावा करते हुए सशस्त्र बलों पर कश्मीरियों को प्रताड़ित करने का आरोप लगाया था। सेना ने इसे खारिज करते हुए शेहला के आरोपों को बेबुनियाद बताया था।

कौन हैं शेहला राशिद?
शेहला राशिद जेएनयू की रिसर्च स्कॉलर हैं। 2015-16 में यूनिवर्सिटी के छात्र संघ की उपाध्यक्ष बनी थीं। इसी साल मार्च में शाह फैसल की पार्टी जम्मू-कश्मीर पीपुल्स मूवमेंट से जुड़ गई थीं। शाह फैसल पूर्व आईएएस हैं, जिन्होंने नौकरी छोड़कर अपनी पार्टी बनाई है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios