Asianet News HindiAsianet News Hindi

कांग्रेस-एनसीपी से समर्थन पत्र हासिल नहीं कर पाई शिवसेना, बीजेपी ने ऐसे साधा निशाना

महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर सोमवार को दिन भर चले सियासी ड्रामे का अंत हो गया। अब शिवसेना सरकार बना पाने नाकाम हो गई। जिसके बाद बीजेपी ने कार्टून शेयर कर तंज कसा है। 

Shiv Sena could not get support letter from Congress-NCP, BJP targeted such targets
Author
New Delhi, First Published Nov 12, 2019, 7:46 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुंबई. महाराष्ट्र में नई सरकार बनाने के लिए मुंबई से दिल्ली तक दिनभर चले राजनीतिक ड्रामे के बावजूद शिवसेना सरकार बनाने के लिए जरूरी विधायकों का समर्थन पत्र हासिल नहीं कर पाई। चर्चा थी कि शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी के सहयोग से राज्यपाल के न्योते पर नई सरकार बनाने का समर्थन पत्र प्रस्तुत करेगी। मगर तय समय के अंदर पार्टी ऐसा नहीं कर पाई।

राज्यपाल ने समय देने से किया इंकार 

राज्यपाल से मुलाकात के दौरान शिवसेना विधायक आदित्य ठाकरे और एकनाथ शिंदे ने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से और समय की मांग की मगर कोश्यारी ने समय देने से मना कर दिया। जिसके बाद राज्य में तीसरे बड़े दल को सरकार बनाने का न्योता दिया गया है। अब शिवसेना की फजीहत होने के बाद बीजेपी ने अपने पुराने सहयोगी पर तंज कसा है। बीजेपी महाराष्ट्र के ट्विटर हैंडल से एक कार्टून शेयर किया गया है। कार्टून के साथ लाइनर लिखा है, "इसे कहते हैं विश्वास।"

क्या है बीजेपी के कार्टून में ?

बीजेपी के कार्टून में दो लोग बात करते नजर आ रहे हैं। एक शख्स पूछा रहा है- "विश्वास का मतलब क्या होता है?" दूसरे शख्स के जवाब का मतलब है कि 105 विधायकों को खुला छोड़ने का मतलब ही विश्वास है। बताते चलें कि बीजेपी के विधानसभा में 105 विधायक हैं। जबकि शिवसेना के 56 विधायक हैं। शिवसेना ने विधायकों को तोड़ने और खरीद फरोख्त का आरोप लगाते हुए, उन्हें होटल में एक साथ रोककर रखा है। कांग्रेस ने भी अपने विधायकों को होटल में रखा है। बीजेपी का ये कार्टून महाराष्ट्र में काफी चर्चा बटोर रहा है।

Shiv Sena could not get support letter from Congress-NCP, BJP targeted such targets

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios