हरिद्वार, उत्तराखंड. निर्धारित समय से 15 दिन पहले निरंजनी अखाड़े ने महाकुंभ समाप्ति का ऐलान करके एक सराहनीय कदम उठाया है। लेकिन महामारी का बड़ा खतरा अभी टला नहीं है। क्योंकि बाकी अखाड़ों ने अभी ऐसा कोई फैसला नहीं लिया है। इसे लेकर वैज्ञानिकों ने गंभीर चेतावनी दी थी। बता दें कि कुंभ मेले में 12 से 14 अप्रैल तक तीन स्नानों पर गंगा में 49 लाख से ज्यादा लोगों सहित साधु-संतों से डुबकी लगाई। रुड़की यूनिवर्सिटी के वाटर रिसोर्स डिपार्टमेंट के सीनियर साइंटिस्ट डॉ. संदीप शुक्ला ने अलर्ट किया है कि संक्रमित लोगों के गंगा में स्नान करने से आगामी दिनों में महामारी खतरनाक स्थिति में आ सकती है।

यह भी जानें...

  • हरिद्वारा के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. एसके झा ने बताया कि अब तक 30 साधु पॉजिटिव पाए गए हैं। मेडिकल टीम अखाड़ों में जा रही हैं और साधुओं के लगातार RT-PCR टेस्ट किए जा रहे हैं। टेस्टिंग को 17 अप्रैल से और तेज़ किया जाएगा।
  • बता दें कि उत्तराखंड में पिछले 24 घंटे में ↑2,220 आए हैं। यहां अब तक 1,16,244 केस आ चुके हैं। इनमें से 12,484 एक्टिव हैं। यहां 9 लोगों की मौत हुई है। अकेले हरिद्वार में पिछले 24 घंटे में 613 केस मिले। कोरोन के कारण महामंडलेश्वर कपिल देव दास की संक्रमण से मौत के बाद साधु-संतों की चिंताएं भी बढ़ गई हैं। हरिद्वार में 1 अप्रैल से यह कुंभ शुरू हुआ है। यह 30 अप्रैल तक है। इस दौरान बड़ी संख्या में अखाड़ों के साधु-संतों के साथ आमजनों ने गंगा में डुबकी लगाई। कोरोना संक्रमण के मद्देनजर यहां कड़े इंतजाम किए गए, लेकिन पुलिस लोगों से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराने में नाकाम साबित हुई। पुलिस अफसरों ने माना कि अगर वे लोगों से सख्ती से पेश आएंगे, तो भगदड़ की स्थिति हो सकती है। 
  • देश में कोरोना की स्पीड तेजी से बढ़ रही है। पिछले 24 घंटे में यहां रिकॉर्ड 2.16 लाख नए केस मिले हैं। एक दिन में 1,182 लोगों की मौत हुई। महाराष्ट्र में ↑61,695 नए केस आए हैं। उत्तर प्रदेश में भी तेजी से संक्रमण बढ़ रहा है। यहां एक दिन में 22,339 नए केस आए हैं। छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश, दिल्ली, कनार्टक, गुजरात, राजस्थान, पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु और केरल में भी हालात बिगड़ते जा रहे हैं।
  • भारत में अब तक 14.1M केस आ चुके हैं। इनमें से 12.4M रिकवर हुए, जबकि 173K की मौत हो गई। दुनियाभर में अब तक 138M केस आ चुके हैं। इनमें  78.8M रिकवर हुए, जबकि 2.97M की मौत हो गई।