Asianet News HindiAsianet News Hindi

32 साल पहले आखिरी बार कश्मीर में दिखाई गई थी ये फिल्म, अब एक बार फिर लौटे 'अच्छे दिन'

जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने बीते रविवार को दक्षिण कश्मीर के दो जिलों पुलवामा और शोपियां में थिएटर का उद्घाटन किया। उन्होंने यहां बैठकर फिल्म भी देखी। सिन्हा ने कहा- जल्द ही जम्मू-कश्मीर के हर जिले में ऐसे सिनेमा हॉल बनाए जाएंगे। बता दें कि घाटी में 32 साल बाद सिनेमा हॉल दोबारा खोले गए हैं। 

Sholay was shown in Kashmir for the last time 32 years ago, now once again Cinema Hall Reopens in Valley kpg
Author
First Published Sep 20, 2022, 6:43 PM IST

Cinema Hall Reopens in Kashmir: जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने रविवार को दक्षिण कश्मीर के दो जिलों पुलवामा और शोपियां में थिएटर का उद्घाटन किया। उन्होंने यहां बैठकर फिल्म भी देखी। सिन्हा ने कहा- जल्द ही जम्मू-कश्मीर के हर जिले में ऐसे सिनेमा हॉल बनाए जाएंगे। इसके अलावा श्रीनगर के सोमवारा इलाके में कश्मीर का पहला आईनॉक्स मल्टीप्लेक्स भी मंगलवार से शुरू हो गया है। इसमें 520 सीटों की क्षमता वाले तीन थिएटर हैं। इस मल्टीप्लेक्स की शुरुआत आमिर खान की फिल्म 'लाल सिंह चड्ढा' से हुई। 

32 साल बाद कश्मीर में लौटे एंटरेटनमेंट के अच्छे दिन : 
बता दें कि कश्मीर घाटी में 32 साल बाद दोबारा सिनेमा हाल खोले गए हैं। बॉलीवुड फिल्मों की शूटिंग के लिए कभी पहली पसंद रहे कश्मीर में 1980 के दशक के आखिर तक कश्मीर घाटी में 15 सिनेमा हॉल हुआ करते थे। आतंकवाद और दहशत की वजह से ये दशकों पहले बंद कर दिए गए। 

कब बंद हुए थे सिनेमाघर?
कश्मीर में बढ़ते आतंकवाद के चलते 1990 में यहां थिएटरों को पूरी तरह बंद कर दिया गया। हालांकि, 1990 के बाद कई बार थिएटर खोलने की कोशिशें की गई, लेकिन आतंकवादी घटनाओं और सिनेमाहॉल में ग्रेनेड हमले जैसी घटनाओं ने इन पर ब्रेक लगा दिया था।

23 साल पहले हुई थी थिएटर खोलने की कोशिश : 
आज से 23 साल पहले यानी 1999 में जम्मू-कश्मीर में फारूक अब्दुल्ला सरकार ने सिनेमाघरों को दोबारा से शुरू करने की कोशिश की थी। लेकिन लाल चौक पर रीगल सिनेमा में पहले शो के दौरान ही एक आतंकवादी हमला हो गया, जिसमें एक शख्स की मौत हो गई और 12 लोग जख्मी हो गए थे। इसके बाद 2017 में बीजेपी-पीडीपी सरकार ने भी ऐसी ही कोशिश की थी, लेकिन घाटी में कट्टरपंथियों ने ऐसे किसी भी कदम को शुरू करने का विरोध किया था।

'शोले' थी कश्मीर में चलने वाली आखिरी फिल्म : 
शोले आखिरी फिल्म थी, जो 32 साल पहले श्रीनगर के किसी सिनेमा हॉल में दिखाई गई थी। श्रीनगर के साथ ही अब जल्द ही अनंतनाग, बांदीपोरा, गांदेरबल, डोडा, राजौरी, पुंछ और किश्तवाड़ जिलों में भी सिनेमा हॉल खोले जाएंगे। एलजी मनोज सिन्हा का कहना है कि जम्मू-कश्मीर के हर जिले में 'मिशन यूथ' के तहत मल्टीपर्पज सिनेमा हॉल खोले जाएंगे। इसके साथ ही कश्मीर को एक बार फिर शूटिंग डेस्टिनेशन बनाया जाएगा, ताकि लोगों को ज्यादा से ज्यादा रोजगार मिल सके। 

ये भी देखें : 

क्या है नदीमर्ग नरसंहार? 19 साल पहले आतंकियों ने 24 कश्मीरी पंडितों को लाइन में खड़ा कर भून दिया था गोलियों से

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios