Asianet News HindiAsianet News Hindi

नार्को से पहले कराया जाएगा आफताब का ये टेस्ट, गड़बड़ हुई रिपोर्ट तो टल सकती है सच उगलवाने वाली जांच

श्रद्धा मर्डर केस में सोमवार 21 नवंबर को आफताब अमीन पूनावाला का नार्को टेस्ट होना था। हालांकि, अब नार्को से पहले उसके कुछ और जरूरी टेस्ट किए जाएंगे। अगर इन टेस्ट की रिपोर्ट गड़बड़ हुई तो आफताब का नार्को टेस्ट नहीं किया जाएगा। 

Shraddha Murder Case, This test of Aftab will be done before narco kpg
Author
First Published Nov 21, 2022, 3:33 PM IST

Shraddha Murder Case: श्रद्धा मर्डर केस में सोमवार 21 नवंबर को आफताब अमीन पूनावाला का नार्को टेस्ट होना था। हालांकि, अब नार्को से पहले उसके कुछ और जरूरी टेस्ट किए जाएंगे। फोरेंसिक साइंस लेबोरेटरी (FSL) के अफसरों के मुताबिक, नार्को टेस्ट से पहले आफताब की फिजिकल, इमोशनल और साइकोलॉजिकल कंडीशन जानने के लिए प्री-नार्को टेस्ट कराया जाएगा, जिसकी प्रॉसेस शुरू हो चुकी है। 

...तो नहीं होगा आफताब का नार्को टेस्ट : 
बता दें कि प्री-नार्को टेस्ट में आफताब की फिजिकल कंडीशन की जांच की जाएगी। अगर इसमें उसे किसी तरह की बीमारी या मेंटल प्रॉब्लम मिलती है तो फिर नार्को टेस्ट नहीं होगा। प्री-नार्को टेस्ट दिल्ली के अंबेडकर हॉस्पिटल में किए जाएंगे। बता दें कि आफताब से पूछताछ के लिए दिल्ली पुलिस पहले ही 50 से ज्यादा सवालों की लिस्ट तैयार कर चुकी है। 

पुलिस को अब भी मर्डर वेपन और श्रद्धा के सिर की तलाश : 
बता दें कि दिल्ली पुलिस ने 12 नवंबर के दिन आफताब को गिरफ्तार किया था। तब से अब तक लगातार श्रद्धा की डेडबॉडी के टुकड़े तलाशे जा रहे हैं। अभी तक 17 टुकड़े मिले हैं, जिनकी DNA जांच कराई जा रही है। हालांकि, पुलिस को अब तक इस कत्ल में इस्तेमाल किया गया हथियार और श्रद्धा वालकर का कटा हुआ सिर नहीं मिला है। 

क्या है नार्को टेस्ट? कब, क्यों और कैसे किया जाता है, आखिर क्यों इसमें सच उगल देता है बड़े से बड़ा अपराधी

तालाब में श्रद्धा का सिर ढूंढ रही पुलिस : 
आफताब ने पूछताछ में इस बात को कुबूल किया कि उसने श्रद्धा का कटा हुआ सिर महरौली के मैदानगढ़ी स्थित एक तालाब में फेंका था। इसके बाद पुलिस रविवार से ही नगर निगम के साथ मिलकर इस तालाब में श्रद्धा का सिर तलाश रही है। तालाब से पानी बाहर निकालने के अलावा इसके लिए गोताखोरों की भी मदद ली जा रही है। हालांकि, अब तक सिर का कोई पता नहीं चल पाया है। 

हत्या के 20 दिन बाद वसई से दिल्ली आया था सामान : 
बता दें कि श्रद्धा के कत्ल के करीब 20 दिन बाद आफताब ने वसई वाले घर से दिल्ली सामान मंगवाया था। इसके लिए उसने मीरा रोड स्थित गुडलक पैकर्स एंड मूवर्स से संपर्क किया था। 20,000 रुपए में करीब 37 बक्से वसई से दिल्ली भिजवाए गए थे, जिसका पेमेंट आफताब ने ऑनलाइन किया था।  पैकर्स एंड मूवर्स के मालिक ने सामान की बुकिंग से जुड़े सभी कागज पुलिस को दे दिए हैं। 

इधर सामान शिफ्ट हुआ, उधर आफताब का परिवार : 
बता दें कि कत्ल के 20 दिन बाद आफताब खुद वसई वाले घर पहुंचा था। यहां से उसने 37 बक्से दिल्ली शिफ्ट करवाने के साथ ही अपने परिवार को भी दूसरी जगह शिफ्ट करवा दिया। वसई की यूनीक पार्क हाउसिंग सोसायटी के सचिव अब्दुल्ला खान के मुताबिक, आफताब का परिवार पिछले 20 साल से यहां रहता था, लेकिन कुछ दिनों पहले ही पूरा परिवार घर किराए पर देकर कहीं और चला गया। हालांकि, उनके नए पते के बारे में कोई नहीं जानता। 

क्या है पूरा मामला?
बता दें कि मुंबई के पास वसई के रहने वाले आफताब अमीन पूनावाला ने 18 मई, 2022 की रात 10 बजे अपनी लिव-इन पार्टनर श्रद्धा वालकर की हत्या कर दी। इसके बाद उसने लाश के 35 टुकड़े किए और उन्हें एक फ्रिज में रखकर सो गया। बाद में उसने लाश के एक-एक टुकड़े को महरौली के जंगल में अलग-अलग जगह पर फेंक दिया। श्रद्धा से आफताब की मुलाकात मुंबई में एक डेटिंग ऐप के जरिए हुई थी। इसके बाद दोनों लिव-इन में रहने लगे थे। हालांकि, मार्च 2022 में वो श्रद्धा को लेकर दिल्ली शिफ्ट हो गया था।  

ये भी देखें : 

..तो क्या श्रद्धा का सिर काट आफताब ने इस जगह फेंका? दिल्ली के इस इलाके में तलाश रही पुलिस

कत्ल से पहले श्रद्धा से दरिंदगी के निशान, वायरल हो रही आफताब की क्रूरता को बयां करती PHOTO

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios