श्रीनगर. पाकिस्तान अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रही है। नगरोटा में बड़ी आतंकी साजिश नाकाम होने के बाद पाकिस्तान ने शनिवार को एलओसी पर सीजफायर उल्लंघन किया है। एलओसी पर लगे राजौरी सेक्टर में पाकिस्तान की ओर से की गई फायरिंग में एक जवान शहीद हो गया है। उधर, नगरोटा एनकाउंटर को लेकर भारत ने पाकिस्तान के उच्चायुक्त को तलब किया। विदेश मंत्रालय ने पाक अफसर से नाराजगी जताई। भारत ने कहा, आतंकी संगठन जैश भारत में पुलवामा जैसे हमलों के लिए जिम्मेदार है। 

भारतीय सुरक्षाबलों ने गुरुवार को नगरोटा में बड़ी आतंकी साजिश नाकाम कर दी। सुरक्षाबलों ने चार आतंकियों को ढेर कर दिया था। इन सभी आतंकी पाकिस्तानी थे और 26-11  की बरसी पर बड़ी आतंकी घटना की साजिश रच रहे थे। पीएम मोदी ने इस एनकाउंटर के बाद सुरक्षा एजेंसियों के साथ समीक्षा बैठक की थी। वहीं, इस मामले में अब भारत सरकार ने सख्ती दिखाई है। भारत ने पाकिस्तान के उच्चायुक्त को तलब किया। 

13 नवंबर को फायरिंग में 5 जवान हुए थे शहीद
इससे पहले 13 नवंबर को पाकिस्तान ने नियंत्रण रेखा पर सीजफायर उल्लंघन किया गया था। पाकिस्तान की फायरिंग में बीएसएफ और आर्मी के 5 जवान शहीद हुए थे। इसके अलावा 6 नागरिक भी मारे गए थे।

भारत ने दिया था मुंहतोड़ जवाब
भारतीय सेना ने भी इसका मुंहतोड़ जवाब दिया था। जवाबी कार्रवाई में पाकिस्तान के 3 कमांडो समेत 11 सैनिक मारे गएए थे। भारतीय सेना ने कई पाकिस्तानी बंकर भी तबाह कर दिए थे। इसके अलावा इस कार्रवाई में 16 पाकिस्तानी सैनिक घायल हुए थे।

पाकिस्तान ने इस साल 4 हजार से ज्यादा बार किया सीजफायर उल्लंघन
पाकिस्तान लगातार सीजफायर उल्लंघन कर रहा है। इंडियन आर्मी के सूत्रों के मुताबिक, इस साल पाकिस्तान ने 4052 बार सीज फायर का उल्लंघन किया। अकेले नवंबर में 128 बार सीजफायर उल्लंघन किया। पिछले साल पाकिस्तान की ओर से 3233 बार सीजफायर का उल्लंघन हुआ था।