Asianet News Hindi

कौन हैं बाबरी केस में सभी 32 आरोपियों को बरी करने वाले जज, क्यों होगा उनका ये आखिरी फैसला?

अयोध्या में बाबरी विध्वंस के मामले में बुधवार को केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की स्पेशल अदालत अपना अंतिम फैसला सुनाने जा रही है। सीबीआई के स्पेशल जज सुरेंद्र कुमार यादव इस मामले में अपना फैसला सुनाने के साथ ही रिटायर हो रहे हैं। इस मामले में कुल 32 आरोपियों की सजा पर फैसला होना है जिनमें पूर्व उपप्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी, भारतीय जनता पार्टी के पूर्व अध्यक्ष मुरली मनोहर जोशी, मध्य प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री और पूर्व केंद्रीय मंत्री उमा भारती, उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह, साध्वी ऋतंभरा, फायर ब्रांड नेता विनय कटियार जैसे दिग्गज नेता आरोपी हैं। राम मंदिर निर्माण का शुभारंभ होने के बाद अब बाबरी विध्वंस मामले में अदालत का यह अंतिम फैसला है। 
 

Special CBI judge Surendra Kumar Yadav will retire soon after final verdict of Babri demolition
Author
Ayodhya, First Published Sep 30, 2020, 12:33 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

अयोध्या. अयोध्या में बाबरी विध्वंस के मामले में बुधवार को केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की स्पेशल अदालत अपना अंतिम फैसला सुनाने जा रही है। सीबीआई के स्पेशल जज सुरेंद्र कुमार यादव इस मामले में अपना फैसला सुनाने के साथ ही रिटायर हो रहे हैं। इस मामले में कुल 32 आरोपियों की सजा पर फैसला होना है जिनमें पूर्व उपप्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी, भारतीय जनता पार्टी के पूर्व अध्यक्ष मुरली मनोहर जोशी, मध्य प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री और पूर्व केंद्रीय मंत्री उमा भारती, उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह, साध्वी ऋतंभरा, फायर ब्रांड नेता विनय कटियार जैसे दिग्गज नेता आरोपी हैं। राम मंदिर निर्माण का शुभारंभ होने के बाद अब बाबरी विध्वंस मामले में अदालत का यह अंतिम फैसला है। 

कौन हैं जज सुरेंद्र कुमार यादव

सुरेंद्र कुमार यादव को एडीजे के तौर पर पहला प्रमोशन भी अयोध्या (पूर्व में फैजाबाद) में ही मिला था। सुरेंद्र कुमार यादव को 5 साल पहले बाबरी विध्वंस केस में स्पेशल जज नियुक्त किया गया था। गौरतलब है कि सीबीआई की अदालत के स्पेशल जज सुरेंद्र कुमार यादव को 1 साल का कार्यकाल विस्तार मिला था। बाबरी विध्वंस केस की सुनवाई को देखते हुए ही सुरेंद्र कुमार यादव को यह सेवा विस्तार दिया गया था। सुरेंद्र कुमार यादव अयोध्या से बेहद करीब से जुड़े रहे। उनकी पहली तैनाती अयोध्या जिले में ही हुई थी।
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios