नई दिल्ली. चीन से जारी सीमा विवाद के बीच भारत ने हर स्थिति से निपटने की तैयारी कर ली है। भारत ने लद्दाख में स्पेशल फोर्सेज की तैनाती की है। यह वही स्पेशल फोर्सेज है जिन्होंने 2017 में पाकिस्तान के खिलाफ की गई सर्जिकल स्ट्राइक में अहम भूमिका निभाई थी। इन फोर्सेज को अलग-अलग स्थानों से लद्दाख ले जाया गया है। 

जरूरत पड़ी तो चीन को मुंहतोड़ जवाब
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, अगर जरूरत पड़ी तो यह फोर्स चीन को मुंहतोड़ जवाब देगी। स्पेशल फोर्सेज की टुकड़ियां पूर्वी लद्दाख में तैनात हैं। 

- भारत में 12 से अधिक स्पेशल फोर्सेज की रेजिमेंट है जो अलग-अलग इलाकों में ट्रेनिंग लेती है। जम्मू-कश्मीर में तैनात स्पेशल फोर्सेज की टुकड़ियां लेह में और उसके आस0पास की ऊंचाई वाले क्षेत्रों में नियमित रूप से ट्रेनिंग कर रही हैं। 

15 जून से पूर्वी लद्दाख में बढ़ा तनाव
पूर्वी लद्दाख में 15 जून से भारत और चीन के बीच तनाव बढ़ गया है। 15 जून की रात को गलवान घाटी के पास भारत और चीनी सैनिकों के बीच हिंसक झड़प हुई थी। यह झड़प चीन की एक बड़ी धोखेबाजी थी, जिसमें भारत के 20 जवान शहीद हो गए। लेकिन चीन के भी 42 सैनिकों की जान चली गई।