Asianet News HindiAsianet News Hindi

मौलवी जवाब दें, भारत में 600 साल शासन के बाद मुस्लिम आरक्षण क्यों मांग रहे.. सुब्रमण्यम स्वामी ने पूछा

भाजपा नेता और राज्य सभा सुब्रमण्यम स्वामी ने पूछा कि मौलवी जवाब दें कि 600 साल तक शासन के बाद भी आज मुस्लिम आरक्षण क्यों मांग रहे हैं। उन्होंने दावा किया गरीब होने के बाद भी ब्राह्मणों ने कभी आरक्षण नहीं मांगा।

Subramanian Swamy asked why Muslims are asking for reservation after 600 years of rule in India kps
Author
New Delhi, First Published Dec 17, 2019, 12:48 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली.अपने तल्ख बयानों और ट्वीट्स के चलते चर्चाओं में रहने वाले दिग्गज भाजपा के फायरब्रांड नेता और राज्य सभा सुब्रमण्यम स्वामी ने सैकड़ों सालों तक भारत में मुस्लिमों के शासन के बाद भी इस समुदाय की खराब हालत पर मुस्लिम धर्मगुरुओं पर निशाना साधा है। भाजपा सांसद ने पूछा कि मौलवी जवाब दें कि 600 साल तक शासन के बाद भी आज मुस्लिम आरक्षण क्यों मांग रहे हैं। उन्होंने दावा किया गरीब होने के बाद भी ब्राह्मणों ने कभी आरक्षण नहीं मांगा।

मुस्लिम मौलवी बताए, अब क्यों हैं गरीब 

17 दिसंबर की सुबह स्वामी स्वामी ने ट्वीट कर कहा, ‘मुस्लिम मौलवियों को बताना होगा कि भारत में 600 साल राज करने के बाद भी मुस्लिम समुदाय आरक्षण क्यों मांग रहा है? गरीबी की वजह से? मगर ब्राह्मण समुदाय के लोग भी गरीब हैं, मगर उन्होंने शासक वर्ग होने के गर्व के कारण कभी आरक्षण नहीं मांगा।’

एयरइंडिया के निजीकरण पर सरकार को घेरा 

इससे पूर्व स्वामी ने एयर इंडिया के निजीकरण पर केंद्र में नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार पर भी निशाना साधा था। उन्होंने कहा कि अगर सरकार एयर इंडिया का निजीकरण करने की कोशिश करती है तो उसे कोर्ट की कार्रवाई का सामना करना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि एयर इंडिया को कैसे चलाया, सरकार विदेशियों को जगह उनसे सलाह ले सकती है।

राहुल की रद्द की जाए नागरिकता 

सुब्रम्णयम स्वामी अक्सर अपने हाजिर जवाब व तल्ख तेवरों के लिए जाने जाते है। जिसमें उन्होंने पहले ट्वीट करते हुए कांग्रेस नेता राहुल गांधी पर निशाना साधा था। जिसमें उनकी नागरिकता रद्द करने की मांग की थी। इसकी वजह बताते हुए भाजपा नेता ने कहा कि राहुल के नाना हिटलर की सेना में थे और नानी मुसोलिनि के साथ थीं।

ट्वीटर यूजर दे रहे अपनी प्रतिक्रिया 

वहीं, भाजपा नेता के ट्वीट पर सोशल मीडिया यूजर्स भी खूब प्रतिक्रिया दे रहे हैं। जिसमें 'द अवेकिंग' नामक यूजर्स ने लिखा कि भारत में जातिगत व्यवस्था क्यों हैं। औरआपने एससी और एसटी को आरक्षण क्यों दिया?’ इसके जवाब देते हुए राज्यसभा सांसद कहते हैं कि इस वर्ग ने कभी शासन नहीं किया। उन्हें बहुत ज्यादा आक्रोश का सामना करना पड़ा और इसलिए उन्हें आरक्षण की जरुरत है। आज शिक्षित एससी हमारे देश के राष्ट्रपति हैं।

जबकि एक यूजर अबेल पांडियन ने स्वामी के ट्वीट पर कटाक्ष करते हुए लिखा कि ‘अपने कहा ब्राह्मण… क्या इसका मतलब यह है कि अन्य हिंदुओं को गर्व नहीं है?’ जिसका स्वामी ने अपने अंदाज में जवाब दिय ‘क्षत्रियों में भी ऐसा है और वैश्य अमीर हैं। शूद्र को अंग्रेजी शासन के दौरान बुरी तरह से मारा गया। क्योंकि उन्होंने झांसी के अगुवाई वाले विद्रोह में रानी की मदद की थी।’

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios