नई दिल्ली. देश में कोरोना वायरस के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। अभी तक कोरोना की कोई वैक्सीन भी बन पाई है। ऐसे में संक्रमण को रोकने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग को ही कारगर माना जा रहा है। अब सोशल डिस्टेंसिंग को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने एयर इंडिया को झटका देते हुए फ्लाइट में बीच की एक सीट खाली छोड़ने के लिए कहा है। इस मामले में सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र को भी फटकार लगाई। 

सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र को फटकार लगाते हुए कहा कि आपको सिर्फ एयर इंडिया की चिंता है। अपने लोगों (जनता) की सेहत की नहीं। 

ईद की छुट्टी के बावजूद सुप्रीम कोर्ट ने की सुनवाई
ईद की छुट्टी के बावजूद सुप्रीम कोर्ट ने फ्लाइट में बीच की सीट पर यात्री बैठाने के खिलाफ याचिका पर सुनवाई की। इसमें सुप्रीम कोर्ट ने एयर इंडिया की फ्लाइट में बीच की एक सीट खाली छोड़ने के लिए कहा है। हालांकि, सुप्रीम कोर्ट ने 10 दिन तक बीच की शीट पर यात्री बैठाने की इजाजत दी है।

क्या है मामला?
दरअसल, भारत सरकार वंदे भारत मिशन के तहत विदेशों में फंसे नागरिकों को वापस ला रही है। ये नागरिक एयर इंडिया की फ्लाइट से वापस आ रहे हैं। इन फ्लाइटों में तीनों सीटों पर लोगों को बैठाया जा रहा है। बीच की सीट पर यात्री बैठाने के खिलाफ सोशल डिस्टेंसिंग का हवाला देकर रोक लगाने की मांग की गई थी। इस पर बॉम्बे हाईकोर्ट ने सीटें खाली छोड़ने के लिए कहा था।

इस पर एयर इंडिया का कहना था कि टिकट पहले से बुक हैं। बहुत दिक्कत होगी। अब इस पर सुप्रीम कोर्ट ने विदेशों में फंसे भारतीयों को वापस ला रहे एयर इंडिया को 10 दिन तक बीच की सीट पर यात्री बैठाने की इजाजत दे दी है।