चेन्नई. तमिलनाडु चुनाव से पहले वीके शशिकला ने राजनीति छोड़ने का ऐलान किया है। 234 सीटों वाले  तमिलनाडु में 6 अप्रैल को मतदान होना है। ऐसे में तमिलनाडु की पूर्व मुख्यमंत्री जयललिता की करीबी शशिकला का यह ऐलान काफी अहम माना जा रहा है। इतना ही नहीं शशिकला ने लोगों से अपील की कि वे यह सुनिश्चित करें कि तमिलनाडु में एमके स्टालिन की पार्टी डीएमके सत्ता में नहीं आएं। 

शशिकला ने कहा, जब जयललिता जिंदा थीं, तब भी मैं कभी सत्ता में या पद पर नहीं रही। अब उनके निधन के बाद भी ऐसा नहीं करूंगी। उन्होंने कहा, मैं राजनीति छोड़ रही हूं, लेकिन लोगों से प्रार्थना करती हूं कि उनकी पार्टी जीते और विरासत आगे बढ़े। 

चार साल जेल में रहीं शशिकला
शशिकला को फरवरी 2017 में आय से अधिक संपत्ति के मामले में चार साल की सजा हुई थी। वे 8 फरवरी 2021 को ही भारी समर्थन के बीच सजा काट कर चेन्नई लौटी हैं। वे बेंगलुरु में जेल में बंद थीं। AIADMK से निष्काशित होने के बाद शशिकला के भतीजे दिनाकरन ने एएमएमके की स्थापना की थी।