हैदराबाद. अपना आशियाना यानी खुद का घर होना हर किसी का सपना होता है। इसके लिए हर व्यक्ति एक एक पैसा जोड़कर इसे पूरा करता है। ऐसा ही सपना आंध्र प्रदेश में रहने वाले एक शख्स ने देखा था। लेकिन उसे क्या पता था कि उसके इस सपने में भी ग्रहण लग जाएगा। 

आंध्र प्रदेश के कृष्‍णा जिले के मइलावरम में रहने वाले जमालया ने घर खरीदने के लिए पांच लाख रुपए जोड़े थे। वे मांस बेचने का काम करते हैं। उन्होंने अपने घर के लिए सालों से पैसा जोड़कर इकट्ठा किया था। इसे उन्होंने संदूक के अंदर प्‍लास्टिक के बैग में रखा। लेकिन जब उन्होंने कुछ महीनों के बाद देखा तो इन रुपयों को दीमक चट कर गई। 

इलाके में हुई काफी बारिश
पुलिस के मुताबिक, 2020 में इस इलाके में काफी बारिश हुई थी। इससे यहां दीमक पैदा हो गई। जमालया के संदूक में भी दीमक लग गई। लेकिन उन्हें यह बाद तब चली, जब उन्होंने किसी काम के लिए पैसे निकालने के लिए संदूक खोली। संदूक देखते ही उनके होश उड़ गए। दीमक ने सभी नोट नष्ट कर दिए।  

मदद के लिए आगे आई बैंक
जमालया काफी गरीब हैं। ऐसे में जब इस घटना की जानकारी बैंक ऑफ बड़ौदा के अफसरों को हुई, तो वे मदद के लिए आगे आए। उन्होंने 500, 200, 100, 20 और 10 रुपए के कटे फटे नोटों को रिजर्व बैंक को भेजने की बात कहीं है। हालांकि, अभी यह तय नहीं हो पाया कि उन्हें कितनी मदद मिलेगी।