Asianet News HindiAsianet News Hindi

दरिंदगी के बारे में सोच कर कांप जाती है रूह; अब इंसाफ की बारी; जानें 2012 से अब तक क्या क्या हुआ

निर्भया केस में गुरुवार का दिन काफी अहम रहा। दिल्ली की पटियाला कोर्ट ने फाइनल डेथ वारंट जारी कर दिया। चारों दोषियों को 20 मार्च को सुबह 5.30 बजे फांसी दी जाएगी। अब चारों दोषियों की क्यूरेटिव और दया याचिका रद्द हो चुकी है।

timeline of nibhaya case know all the details about delhi case KPP
Author
New Delhi, First Published Mar 5, 2020, 3:50 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. निर्भया केस में गुरुवार का दिन काफी अहम रहा। दिल्ली की पटियाला कोर्ट ने फाइनल डेथ वारंट जारी कर दिया। चारों दोषियों को 20 मार्च को सुबह 5.30 बजे फांसी दी जाएगी। अब चारों दोषियों की क्यूरेटिव और दया याचिका रद्द हो चुकी है। इसलिए माना जा रहा है कि अब दोषियों के पास कोई कानूनी विकल्प नहीं बचा है। इससे पहले राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने चौथे दोषी पवन की दया याचिका खारिज की। इसके बाद जेल प्रशासन ने पटियाला कोर्ट में याचिका दायर की गई थी।

अब निर्भया को 7 साल बाद न्याय मिलता दिख रहा है। दक्षिण दिल्ली में चलती बस में 16-17 दिसंबर, 2012 की रात में 23 साल की निर्भया से 6 लोगों ने बर्बरता पूर्वक सामूहिक बलात्कार किया था और उसे बुरी तरह जख्मी हालत में सड़क पर फेंक दिया था। निर्भया की 29 दिसंबर, 2012 को सिंगापुर में माउन्ट एलिजाबेथ अस्पताल में मौत हो गई थी। इस घटना को सात साल बीत गए। 

ऐसे बीतते चले गए 7 साल...

2012
16 दिसंबर : 6 लोगों ने निर्भया के साथ रेप किया, इनमें एक नाबालिग था

2013
पुलिस ने चार्जशीट दाखिल की

11 मार्च- दोषी राम सिंह ने जेल में आत्महत्या की

31 अगस्त- नाबालिग को 3 साल सुधार गृह की सजा
13 सितंबर- चारों दोषियों को मौत की सजा

दोषी पवन ने 2 मार्च को दया याचिका लगा दी। इस वजह से कोर्ट ने डेथ वॉरंट को रद्द कर दिया। इससे पहले 7 जनवरी को पहला डेथ वॉरंट जारी किया गया था, जिसमें दोषियों को 22 जनवरी की सुबह 7 बजे फांसी दिया जाना था। लेकिन दोषियों के कानूनी दांव पेंच के चलते यह फांसी टल गई।

2014
13 मार्च- दिल्ली हाईकोर्ट ने मौत की सजा बरकरार रखी

2016
3 अप्रैल - सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई शुरू हुई

2017
5 मई- सुप्रीम कोर्ट ने फांसी की सजा बरकरार रखी

2018
जुलाई -SC ने तीन दोषियों की रिव्यू पिटीशन खारिज की

2019

8 नवंबर- दोषी विनय शर्मा ने दया याचिका लगाई
6 दिसंबर- गृह मंत्रालय ने खारिज करने की सिफारिश की
10 दिसंबर- चौथे दोषी ने रिव्यू पिटीशन दाखिल की
18 दिसंबर- SC ने याचिका खारिज की

2020

7 जनवरी: कोर्ट ने डेथ वारंट जारी किया। 22 जनवरी को सुबह 7 बजे फांसी की तारीख तय की गई।
14 जनवरी : सुप्रीम कोर्ट ने मुकेश और विनय की क्यूरेटिव याचिका रद्द की। 
17 जनवरी: राष्ट्रपति ने मुकेश की दया याचिका खारिज की। 
इसी दिन पटियाला कोर्ट ने फांसी की नई तारीख तय की। नए डेथ वारंट के मुताबिक, 1 फरवरी को सुबह 6 बजे फांसी तय की गई। 
25 जनवरी : मुकेश दया याचिका खारिज होने के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में पहुंचा। 
29 जनवरी : दोषी अक्षय कुमार ने क्यूरेटिव दाखिल की। वहीं, सुप्रीम कोर्ट ने दया याचिका को खारिज करने के फैसले को चुनौती देने वाली याचिका को खारिज कर दिया।
30 जनवरी: अक्षय की क्यूरेटिव पिटीशन खारिज।
31 जनवरी: सुप्रीम कोर्ट ने पवन की उस याचिका को खारिज किया, जिसमें उनके नाबालिग होने के दावे को खारिज करने के फैसले को चुनौती दी थी। 
पटियाला कोर्ट ने फांसी पर रोक लगाई। 

फरवरी 2020

1 फरवरी- केंद्र सरकार अलग अलग फांसी देने की मांग की याचिका के साथ दिल्ली हाईकोर्ट पहुंची। 
- राष्ट्रपति ने विनय की दया याचिका खारिद की। 
5 फरवरी- हाईकोर्ट ने केंद्र सरकार की याचिका को खारिज कर दिया। हालांकि, एक हफ्ते में सभी कानूनी विकल्प का इस्तेमाल करने के लिए कहा। 
- इसी दिन निर्भया मामले में दिल्ली हाई कोर्ट के आदेश के खिलाफ केंद्र पहुंचा सुप्रीम कोर्ट। हाई कोर्ट ने दोषियों को अलग-अलग फांसी की मांग ठुकरा दी थी
- अक्षय की दया याचिका राष्ट्रपति ने खारिज की।
- विनय शर्मा ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका लगाई। इसमें उसने राष्ट्रपति के पास से दया याचिका खारिज होने को चुनौती दी। 
14 फरवरी: निर्भया के गुनाहगार विनय शर्मा की याचिका सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की।
25 फरवरी:- निर्भया के दोषियों को अलग-अलग फांसी की केंद्र की अर्ज़ी पर सुनवाई SC ने 5 मार्च के लिए टाली। 
 

timeline of nibhaya case know all the details about delhi case KPP

मार्च 2020

2 मार्च : निर्भया के दोषी पवन की क्यूरेटिव याचिका खारिज। 
2 मार्च : पवन ने राष्ट्रपति के पास दया याचिका दाखिल की। 
4 मार्च: राष्ट्रपति ने पवन की दया याचिका खारिज की। 
5 मार्च: दिल्ली की पटियाला कोर्ट ने नया डेथ वारंट जारी किया। अब 20 मार्च को फांसी होनी है। 

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios