Asianet News HindiAsianet News Hindi

आज फिर सड़क पर उतरी ममता, पश्चिम बंगाल में CAA और NRC को कहा नो, किसी हाल में नहीं होने देंगे लागू

नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में  मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी की अगुवाई में जादवपुर से  विधायकी क्षेत्र जदुबाबू बाजार तक मंगलवार को नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में रैली निकाली गई। इस दौरान बनर्जी ने कहा, 'हमारा नारा है- No NRC No CAB in Bengal

Today Mamta came on the road again for protst against CAA and NRC kps
Author
Kolkata, First Published Dec 17, 2019, 4:50 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

कोलकाता. नागरिकता कानून को लेकर मची रार के बीच पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी आज यानी मंगलवार को एक बार फिर सड़क पर उतर गईं। इस दौरान उन्होंने केंद्र की भाजपा सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि वे सब काम बाहुबल से करना चाहते हैं। नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में  मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी की अगुवाई में जादवपुर से  विधायकी क्षेत्र जदुबाबू बाजार तक मंगलवार को नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में रैली निकाली गई। इसमें तृणमूल कांग्रेस की सांसद मिमी चक्रवर्ती और नुसरत ने भी हिस्‍सा लिया।

Image

CAA और NRC को ममता ने कहा नो 

रैली के दौरान, मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा, 'हमारा नारा है- No NRC No CAB in Bengal।' बता दें कि इस कानून को लेकर दिया गया एक बयान ममता बनर्जी पर भारी पड़ गया। दरअसल, कलकत्‍ता हाई कोर्ट में इसपर रिट पीटिशन दाखिल की गई है।

Image

इस देश को जाति के नाम पर नहीं बंटने देंगे

नागरिकता संशोधन विधेयक 12 दिसंबर को राज्यसभा में दोपहर में पेश किया गया। जो देर शाम 125 वोटों से पारित हो गया। जिसके बाद गुरुवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने मध्य रात्री को हस्ताक्षर कर उसे कानून का रूप दे दिया। जिस पर ममता बनर्जी ने कहा कि हम इस कानून को नहीं मानते और लगातार इसका विरोध जारी रखेंगे। बंगाल में नागरिकता कानून और एनआरसी लागू नहीं करने के अपने वायदे को दोहराते हुए तृणमूल प्रमुख ने कहा की हम इस देश को जाति धर्म के नाम पर बांटना बर्दाश्त नहीं करेंगे।

रेल सेवा केंद्र सरकार ने किया बंद 

विरोध प्रदर्शन के कारण उत्तर बंगाल से चलने वाली कई ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है। जिसे लेकर मुख्यमंत्री ममता ने केंद्र सरकार पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि महज दो-चार जगह विरोध होने के कारण केंद्र ने जानबूझकर रेल सेवाएं बंद कर दी है। उत्तर बंगाल से संपर्क टूट गया है और आम लोग परेशान है। उन्‍होंने आगे कहा कि जो भी बवाल हुआ है वह रेलवे के अधीन स्टेशन परिसर के अंदर में हुआ है जिसकी सुरक्षा की जिम्मेदारी रेलवे की है, बावजूद इसके हमने पूरी सहायता की है। उन्होंने कहा कि मैं रेलवे से पुन: रेल सेवा सुचारू करने का आग्रह करूंगी।

हड़बड़ी में पारित कराया बिल

रैली को संबोधित करते हुए सीएम बनर्जी ने कहा कि 'नागरिकता संशोधन कानून पर सोचने या चर्चा के लिए विपक्ष को समय नहीं दिया और जल्‍दबाजी में इसे पारित करा दिया।' इससे पहले मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी ने सोमवार को सख्‍त रवैया अपनाते हुए कहा था कि नागरिकता संशोधन कानून राज्‍य में लागू नहीं किया जाएगा। इसके अलावा राज्‍य सरकार द्वारा पब्लिक फंड का इस्‍तेमाल कर इसी तरह के विज्ञापन मीडिया में दिए गए।

Image

'नो CAB नो NRC' हो विरोध का मुद्दा

मुख्‍यमंत्री ने कहा कि वे लगातार इसका विरोध करती रहेंगी। उन्होंने अपने पार्टी समर्थकों से इस विरोध में बढ़ चढ़कर हिस्सा लेने का आह्वान करते हुए कहा कि विरोध का जरिया शांतिपूर्ण होना चाहिए और विरोध में शामिल लोग अपने हाथों में केवल ''नो CAA नो NRC' लिखें तख्तियां लेकर ही विरोध प्रदर्शन का हिस्सा बनें। उन्होंने एक बार फिर दोहराया कि विरोध के नाम पर हिंसा बर्दाश्त नहीं की जाएगी और  कई लोगों की गिरफ्तारी की गई है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios