Asianet News Hindi

हाथरस कांड में पीड़िता के भाइयों से पूछताछ, परिवार ने कहा, अलीगढ़ से दूसरी जेल में शिफ्ट हों आरोपी

उत्तर प्रदेश के हाथरस जिले में 19 साल की दलित लड़की से कथित गैंगरेप केस में सीबीआई के साथ ही ईडी भी सक्रिय हो गई है। मंगलवार को सीबीआई की टीम पीड़िता के गांव पहुंची थी। बुधवार को सीबीआई ने पीड़िता के तीन भाईयों को पूछताछ के लिए समन किया है। वहीं दूसरी तरफ हाथरस केस की आड़ में दंगा कराने के आरोप में मथुरा की जेल में बंद चार आरोपियों से ईडी पूछताछ के लिए पहुंची। ईडी के पास आरोपियों से पीएफआई फंडिंग को लेकर सवालों की लिस्ट है।

UP government can file affidavit in Hathras case in Supreme Court kpn
Author
New Delhi, First Published Oct 14, 2020, 8:21 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. उत्तर प्रदेश के हाथरस जिले में 19 साल की दलित लड़की से कथित गैंगरेप केस में सीबीआई के साथ ही ईडी भी सक्रिय हो गई है। मंगलवार को सीबीआई की टीम पीड़िता के गांव पहुंची थी।बुधवार को सीबीआई ने पीड़िता के भाईयों को पूछताछ के लिए समन किया है। वहीं दूसरी तरफ हाथरस केस की आड़ में दंगा कराने के आरोप में मथुरा की जेल में बंद चार आरोपियों से ईडी पूछताछ के लिए पहुंची। ईडी के पास आरोपियों से पीएफआई फंडिंग को लेकर सवालों की लिस्ट है।

अपडेट्स...

पीड़‍िता के परिवार ने मांग की है कि अलीगढ़ में बंद आरोपी दूसरी जेल में शिफ्ट हों। बता दें दलित लड़की से गैंगरेप और हत्या के आरोप में गिरफ्तार चारों आरोपी अलीगढ़ जेल में बंद हैं।

केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) ने पीड़िता के तीन भाईयों को आज पूछताछ के लिए फिर से समन किया।

पीएफआई से जुड़े होने के आरोप में मथुरा में बंद चार आरोपियों से पूछताछ के लिए ईडी की टीम जेल पहुंची। चारों आरोपियों से पीएफआई से संबंधों और पीएफआई फंडिंग को लेकर पूछताछ की जाएगी।

केस की जांच के लिए सीबीआई की टीम ने हाथरस में ही एक अस्थायी ऑफिस बनाया है, जहां 15 लोग मौजूद हैं।

यूपी सरकार के किन सवालों पर देने हैं जवाब?

 

यूपी सरकार सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दाखिल कर सकती है। इस मामले में 15 अक्टूबर यानी गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होनी है। सुप्रीम कोर्ट ने राज्य सरकार से तीन बिंदुओं पर जवाब मांगा है। कोर्ट ने पूछा है कि पीड़ित परिवार और गवाहों को किस तरह से सुरक्षा दी गई है? दूसरा सवाल है कि क्या पीड़ित परिवार ने अपने लिए वकील नियुक्त कर लिया है? तीसरा सवाल है कि इलाहाबाद हाईकोर्ट में मामला किस स्थिति में है?

मंगलवार को 4 घंटे क्राइम सीन पर रही सीबीआई

हाथरस केस में सीबीआई की टीम मंगलवार को पहली बार पीड़िता के गांव पहुंची। यहां 4 घंटे तक क्राइम सीन से लेकर अंतिम संस्कार वाली जगह का जायजा लिया। वीडियोग्राफी करवाई। पीड़ित के परिवार से बात की। घर से निकलने के बाद सीबीआई की टीम पीड़िता के बड़े भाई को पूछताछ के लिए अपने साथ लेकर गई। पीड़िता का भाई सुबह 11.30 बजे से ही सीबीआई टीम के साथ था।

क्राइम सीन पर गई थी सीबीआई की 15 लोगों की टीम

सीबीआई सहित 15 लोगों की टीम क्राइम सीन पर पहुंची है। सीबीआई सबसे पहले पीड़िता के भाई को क्राइम सीन पर बुलाती है। फिर उससे वहीं पर पूछताछ की जाती है। वारदात वाली जगह की वीडियोग्राफी की गई। क्राइम सीन से पीड़िता का घर 150 से 200 मीटर है।

29 दिन बाद यूपी पुलिस ने क्राइम सीन की घेराबंदी की

हाथरस केस में सीबीआई की टीम पीड़िता के गांव पहुंची। सीबीआई के गांव पहुंचने से पहले यूपी पुलिस की क्राइम सीन की घेराबंदी की। बता दें कि 29 दिन तक पुलिस ने यह जरूरी नहीं समझा कि क्राइम सीन से छेड़छाड़ हो सकती है। उसकी घेराबंदी कर दें। 29 दिन बाद जब सीबीआई की टीम मौके पर पहुंची तो उससे पहले पुलिस ने घेराबंदी का काम किया।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios