Asianet News Hindi

भारत आए अमेरिकी रक्षा मंत्री ने की राजनाथ सिंह से मुलाकात, प्रतिनिधिमंडल स्तर की हुई बैठक, क्या हुई डील?

चीन से चल रहे विवाद के बीच अमेरिका के रक्षा मंत्री लॉयड जेम्स ऑस्टिन-III शुक्रवार को तीन दिन के भारत दौरे पर नई दिल्ली आए हुए हैं। उन्होंने शुक्रवार शाम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की। अमेरिका में बाइडेन सरकार के कोई मंत्री पहली बार भारत पहुंचे हैं। उनके इस दौरे को अहम बताया जा रहा है।

US Secretary of Defence Lloyd James Austin III accorded the Guard of Honour at Vigyan Bhawan KPY
Author
New Delhi, First Published Mar 20, 2021, 11:14 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. चीन से चल रहे विवाद के बीच अमेरिका के रक्षा मंत्री लॉयड जेम्स ऑस्टिन-III शुक्रवार को तीन दिन के भारत दौरे पर नई दिल्ली आए हुए हैं। उन्होंने शुक्रवार शाम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की। अमेरिका में बाइडेन सरकार के कोई मंत्री पहली बार भारत पहुंचे हैं। उनके इस दौरे को अहम बताया जा रहा है। ऐसे में आज भारत में उनका दूसरा दिन है। उन्हें गार्ड ऑफ ऑनर से सम्मानित किया गया। इसके साथ ही अब रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के साथ ऑस्टिन की प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता हुई। इस बातचीत में दोनों देश भारतीय सेना और अमेरिका की हिंद-प्रशांत कमान, मध्य कमान और अफ्रीका कमान के बीच सहयोग बढ़ाने पर सहमत हुए हैं।

अमेरिकी सचिव से मुलाकात के बाद क्या बोले राजनाथ सिंह?

अमरिकी रक्षा सचिव से मुलाका के बाद भारत के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह बोले, 'भारतीय सेना और यूएस इंडो-पैसिफिक कमांड, सेंट्रल कमांड, अफ्रीका कमांड के बीच हम सहयोग बढ़ाने पर सहमत हुए हैं। भारत अमेरिका के साथ मजबूत रक्षा साझेदारी को और आगे बढ़ाने के लिए पूरी तरह से प्रतिबद्ध है।' 

रक्षा मंत्री ने आगे कहा, 'बातचीत बहुत व्यापक और सार्थक रही। हम भारत-अमेरिका वैश्विक रणनीतिक साझेदारी को पूरी क्षमता के साथ आगे बढ़ाने के लिए संकल्पबद्ध हैं। सेनाओं के बीच आपसी भागीदारी, सूचना साझा करने और साजोसामान संबंधी सहयोग समेत अन्य मुद्दों पर बातचीत की गई। इसके अलावा हमने द्विपक्षीय और बहुपक्षीय अभ्यासों का जायजा लिया। अमेरिका के साथ एलईएमओए, सीओएमसीएएसए और बीईसीए जैसे द्विपक्षीय रक्षा समझौतों को लागू करने के कदमों पर केंद्रित बातचीत की गई।'

क्या बोले अमेरिकी रक्षा सचिव?

राजनाथ सिंह के बाद अमेरिकी रक्षा सचिव ने सुरक्षा को लेकर कहा, 'हमारा संबंध फ्री और ओपन इंडो-पैसिफिक रीजन का एक गढ़ है। पीएम मोदी ने कहा कि भारत फ्रीडम ऑफ नेविगेशन और फ्रीडम ऑफ ओवरफ्लाइट के लिए खड़ा है। यह क्षेत्रीय सुरक्षा के लिए हमारे साझा दृष्टिकोण की पुष्टि करता है।'

ऑस्टिन ने शहीदों को दी श्रद्धांजलि

ऑस्टिन तीन देशों की यात्रा के कार्यक्रम के तहत जापान और दक्षिण कोरिया की यात्रा के बाद भारत आए हैं। इस यात्रा को अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन की क्षेत्र में अपने निकट सहयोगियों और साझेदारों के साथ संबंधों को लेकर मजबूत प्रतिबद्धता दर्शाने की कोशिश के तहत देखा जा रहा है। ऑस्टिन आज सुबह राष्ट्रीय समर स्मारक गए और भारत के शहीदों को श्रद्धांजलि दी। वार्ता से पहले उन्हें विज्ञान भवन के परिसर में गार्ड ऑफ ऑनर से सम्मानित किया गया।

डोभाल संग फोटो शेयर कर क्या बोले ऑस्टिन

लॉयड जेम्स ऑस्टिन ने इस मुलाकात की तस्वीर भी ट्विटर पर शेयर की। उन्होंने डोभाल के साथ की फोटो शेयर करने के साथ ही कैप्शन भी लिखा, 'बीती रात एनएसए अजित डोभाल के साथ बेहतरीन मुलाकात रही. यह मुलाकात देशों के बीच सहयोग की व्यापकता और हमारे बीच महत्वपूर्ण रक्षा साझेदारी के महत्व को दर्शाती है। हिंद-प्रशांत क्षेत्र में मौजूद गंभीर चुनौतियों के समाधान के लिए दोनों देश साथ काम कर रहे हैं।'

 

 

 

राजनाथ सिंह ने किया रिसीव

भारत के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने अमेरिकी रक्षा मंत्री लॉयड ऑस्टिन को खुद लेने पहुंचे। इस दौरान ऑस्टिन को गार्ड ऑफ ऑनर से सम्मानित किया गया, जिसकी तस्वीरें ट्विटर पर शेयर की गई हैं। शुक्रवार को भारत आए ऑस्टिन का स्वागत भी पीएम मोदी ने गर्मजोशी के साथ किया था। ऑस्टिन ने पीएम से मिलकर उन्हें जो बाइडन की ओर से शुभकामनाएं भी दी। 

पीएम मोदी ने मजबूत साझेदारी पर जोर दिया

शुक्रवार को पीएम मोदी से हुई ऑस्टिन की की मुलाकात में दोनों देशों के बीच रणनीतिक साझेदारी के लिए अपने दृष्टिकोण को रेखांकित किया और भारत-अमेरिका संबंधों में द्विपक्षीय रक्षा सहयोग की महत्वपूर्ण भूमिका पर जोर दिया। उन्होंने सचिव ऑस्टिन से राष्ट्रपति बिडेन को शुभकामनाएं देने की अपील की।  

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios