Asianet News HindiAsianet News Hindi

हैदराबाद केस: बोली आरोपी की मां, 'मुझे नहीं चाहिए ऐसी औलाद, उसे भी जिंदा जला दो '

मां श्यामला ने कहा है, 'उसे फांसी दे दीजिए या जला दीजिए, जैसे उन लोगों ने डॉक्टर के साथ किया।' उन्होंने कहा है कि वह डॉक्टर के परिवार का दर्द समझती हैं। उन्होंने कहा, 'मेरी भी एक बेटी है और मुझे पता है कि महिला का परिवार दर्द से गुजर रहा है। 

veterinary docter murder case update accused parents said Punish my son if found guilty
Author
Hyderabad, First Published Dec 1, 2019, 11:17 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

तेलांगना. हैदराबाद में डॉक्टर से गैंगरेप और हत्याकांड के मामले में नया अपडेट सामने आया है। आरोपियों के परिजनों ने भी इस वीभत्स घटना पर दुख जताया है। उनका कहना है जैसे उन्होंने लड़की को जिंदा जला दिया था वैसे ही इन्हें भी जिंदा जला देना चाहिए।

आरोपियों के परिवार वालों ने उनके बेटों को अगर मौत की सजा दी जाती है तो वे विरोध नहीं करेंगे। एक आरोपी की मां ने यह भी कहा है कि जैसा पीड़िता के साथ किया गया, वैसे ही आरोपियों को जला देना चाहिए। बता दें कि हैदराबाद के इस कांड ने पूरे देश को हिलाकर रख दिया है। सड़क से लेकर सोशल मीडिया तक पीड़‍िता डॉक्‍टर के हत्‍यारे को कड़ी से कड़ी सजा देने की मांग उठ रही है।

'फांसी दीजिए या जला दीजिए'

मामले में चार में से एक आरोपी सी केशवुलु नारायणपेट जिले के मकठल मंडल के गुडीगांडला गांव का निवासी है। उसकी मां श्यामला ने कहा है, 'उसे फांसी दे दीजिए या जला दीजिए, जैसे उन लोगों ने डॉक्टर के साथ किया, ऐसी औलाद नहीं चाहिए।' उन्होंने कहा है कि वह लेडी डॉक्टर के परिवार का दर्द समझती हैं। उन्होंने कहा, 'मेरी भी एक बेटी है और मुझे पता है कि महिला का परिवार दर्द से गुजर रहा है। अगर ये पता होने के बावजूद कि मेरे बेटे ने जघन्य अपराध किया है, में उसका बचाव करूं तो लोग मुझसे सारी जिंदगी नफरत करेंगे।'

महिला ने यह भी बताया कि जब पुलिस हमारे घर पूछताछ करने आई तो शर्म से आरोपी बेटे के पिता ने घर ही छोड़ दिया। वह हैरान हैं कि आरोपी की कुछ समय पहले ही लव मैरिज करवाई गई थी वह इतना भयानक अपराध कैसे कर सकता है।

ये हैं चारो दरिंदों के नाम

आपको बता दें कि लेडी डॉक्टर के किडनैप, बलात्कार और हत्या के चारों आरोपियों मोहम्मद आरिफ, नवीन, शिवा और चिंताकुंटा चेन्नेकशवुलु उर्फ चेन्ना को पकड़ा जा चुका है। अब मामले की आगे की जांच हो रही है। 

कोई सबूत नहीं छोड़ना चाहते थे 

एक और आरोपी के पिता ने कहा कि, अगर मेरा बेटा आरोपी निकलता है तो उसे जरूर सजा होनी चाहिए। उन्होंने कहा- हमें नहीं पता था कि हमारा बेटा एक क्रिमिनल हो सकता है, वह उस रात 1 बजे घर आया था, उसने बताया कि उसका एक स्कूटर के साथ एक्सीडेंट हो गया था। फिर वह सोने चला गया। परिजनों ने बताया कि, दूसरे आरोपी भी जो उसके दोस्त थे वे हमारे घर बेटे से मिलने आते रहते थे।

दोबारा देखने गए जली या नहीं 

पुलिस कमिश्नर वी. सी सज्जनर ने बताया कि, चारों आरोपियों ने महिला के साथ दुष्कर्म किया और सबूत मिटाने के लिए तेल डाकर उसको जिंदा जला दिया। इसके बाद वे लोग ट्रक और स्कूटर पर वापस लौट गए। इसमें आरिफ और चेन्ना दोनों घर लौट गए लेकिन बाद बाद में शिवा और नवीन दोबारा उस जगह ये देखने गए कि उसकी लाश ठीक से जल गई है या नहीं कहीं कोई सबूत बाकी न रह जाए।
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios