Asianet News HindiAsianet News Hindi

बांग्लादेश में मंदिरों पर हमले पर विहिप ने जताई चिंता, हिंदुओं की रक्षा और जिहादियों पर कार्रवाई की मांग

रात के अंधेरे में चटगांव मंडल के कोमिला क्षेत्र में हमलावरों ने विभिन्न स्थानों पर दुर्गा पूजा पंडालों को तोड़ दिया और पूजा मंडपों में उनके प्रतीकों के इस तरह के विनाश से हिंदू समाज बहुत आहत है। 

VHP condemned the incidents of attacks on temples of Hindus in Bangladesh
Author
New Delhi, First Published Oct 14, 2021, 8:04 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली। विश्व हिंदू परिषद (VHP) ने बांग्लादेश (Bangladesh) में मंदिरों (Temples) और हिंदुओं के दिव्य प्रतीकों पर हमलों की घटनाओं की कड़ी निंदा की है। परिषद ने हमलावरों के खिलाफ सख्त कार्रवाई और हिंदुओं की सुरक्षा की मांग की है। 
विहिप ने कहा कि बांग्लादेश का अल्पसंख्यक समुदाय और भी ज्यादा डरा हुआ है। बांग्लादेश की सरकार को अपने अल्पसंख्यक हिंदुओं की सुरक्षा सुनिश्चित करते हुए कट्टरपंथी जिहादियों पर अंकुश लगाना चाहिए। हिंदू पीड़ितों को उनके जीवन, संपत्ति के नुकसान की क्षतिपूर्ति करनी चाहिए और घायलों को मुआवजा भी देना चाहिए।

केंद्रीय महासचिव बोले-बंद हो हमले

विहिप के केंद्रीय महासचिव मिलिंद परांडे ने कहा कि रात के अंधेरे में चटगांव मंडल के कोमिला क्षेत्र में एक दुर्गा पूजा पंडाल के बाहर गुप्त रूप से कुरान की एक प्रति को हनुमान जी के दिव्य प्रतीक पर लगाया गया था। हमलावरों ने विभिन्न स्थानों पर दुर्गा पूजा पंडालों को तोड़ दिया और पूजा मंडपों में उनके प्रतीकों के इस तरह के विनाश से हिंदू समाज बहुत आहत है। 

उन्होंने कहा कि हिंदू अल्पसंख्यकों पर क्रूर अत्याचार और उत्पीड़न का सिलसिला जारी है। मंदिरों और हिंदू मंदिरों पर हमलों में कम से कम दो हिंदुओं की हत्या कर दी गई और 500 से अधिक घायल हो गए। बांग्लादेश में कई अन्य स्थानों पर दुर्गा पूजा उत्सव के दौरान दिव्य प्रतिमाओं के अपमान की घटनाएं हुई हैं। स्थानीय चरमपंथी और आतंकवादी संगठनों द्वारा इस तरह के हमले करने के कथित आह्वान के बाद हिंदुओं पर और हमले होने की आशंका के चलते वहां की स्थिति और बिगड़ने की संभावना है। 

भारत सरकार से दबाव बनाने की अपील

परांडे ने कहा कि भारत सरकार के साथ-साथ अंतर्राष्ट्रीय समुदाय को बांग्लादेश सरकार पर अल्पसंख्यक हिंदुओं के जीवन और संपत्ति और उनके आध्यात्मिक-धार्मिक-सांस्कृतिक विचार, अभिव्यक्ति, विश्वास की रक्षा के लिए उचित कार्रवाई करने के लिए दबाव बनाना चाहिए। उन्होंने कहा कि जब हिंदुओं पर अत्याचार की बात आती है तो संयुक्त राष्ट्र चुप्पी साध जाता है। मानवाधिकार एजेंसियां कार्रवाई से क्यों कतराती हैं? बांग्लादेश सरकार (GOB) को कट्टरपंथी जिहादियों की तत्काल गिरफ्तारी होनी चाहिए। उन्होंने आश्वासन दिया कि विश्व हिंदू परिषद सहित पूरा हिंदू समाज बांग्लादेश के प्रताड़ित हिंदुओं के साथ खड़ा है और हम उनकी हर संभव मदद करेंगे।

यह भी पढ़ें:

पांच राज्यों में चुनाव के पहले अमित शाह ने की दिल्ली वाररूम में मीटिंग: यूपी सबसे बड़ी चुनौती, अजय मिश्र बनें गले की फांस!

गृह मंत्रालय और राज्यों में बढ़ेगी टकराहट: बीएसएफ का बंगाल, पंजाब और असम में अधिकार क्षेत्र बढ़ा तो गुजरात में घटा

पत्नी की हत्या के लिए बेडरूम में ले आया कोबरा, एक साल बाद कोर्ट ने किया न्याय, देश के इस अनोखे केस की कहानी हैरान कर देगी

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios