Asianet News HindiAsianet News Hindi

बेंगलुरु हिंसा : मंत्री ने कहा, हमलावर चाहे जो हों, चाहे जहां छिपे हों, हम उन्हें खोज निकालेंगे

कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु में मंगलवार रात एक सोशल मीडिया पोस्ट को लेकर भारी हिंसा हुई। उपद्रवियों को बेकाबू होता देख, पुलिस को फायरिंग भी करनी पड़ी। इसमें 3 लोगों की मौत हो गई। इस हिंसा में एडिशनल पुलिस कमिश्नर समेत 60 पुलिसकर्मी भी जख्मी हुए हैं। 

violence broke out over an alleged inciting social media post in Bengaluru KPP
Author
Bengaluru, First Published Aug 12, 2020, 7:48 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बेंगलुरु. कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु में मंगलवार रात एक सोशल मीडिया पोस्ट को लेकर भारी हिंसा हुई। उपद्रवियों को बेकाबू होता देख, पुलिस को फायरिंग भी करनी पड़ी। इसमें 3 लोगों की मौत हो गई। इस हिंसा में एडिशनल पुलिस कमिश्नर समेत 60 पुलिसकर्मी भी जख्मी हुए हैं। बताया जा रहा कि हिंसा डीजे हल्ली और केजी हल्ली क्षेत्र में हुई। इसके बाद दोनों जगहों पर कर्फ्यू लगा दिया गया है। बेंगलुरु में धारा 144 लागू है। वहीं, सोशल मीडिया पर भड़काऊ पोस्ट शेयर करने का आरोपी भी गिरफ्तार कर लिया गया है। 

- कर्नाटक सरकार के रेवेन्यू मिनिस्टर आर अशोक ने विधानसभा में मूर्ति से मुलाकात की। इसके बाद कहा- हमलावर चाहे जो हों, चाहे जहां छिपे हों। हम उन्हें खोज निकालेंगे। अशोक का आरोप है कि दंगाई कांग्रेस विधायक की हत्या करना चाहते थे।

- पुलिस के मुताबिक, पूरा हंगामा भड़काऊ सोशल मीडिया पोस्ट को लेकर हुआ। दरअसलस, बेंगलुरु में कांग्रेस विधायक श्रीनिवास मूर्ति के भतीजे ने सोशल मीडिया पर कथित तौर पर भड़काऊ पोस्ट किया था। हालांकि, बाद में इसे डिलीट भी कर दिया गया। इसके बावजूद इस पोस्ट को लेकर बड़ी संख्या में उपद्रवियों ने विधायक श्रीनिवास मूर्ति के बेंगलुरु स्थित आवास पर हमला किया। यहां तोड़फोड़ की गई। आगजनी भी की गई। 

ये सुनियोजित दंगे- कर्नाटक के मंत्री
कर्नाटक के मंत्री सीटी रवि ने हिंसा को सुनियोजित दंगे करार दिया। उन्होंने कहा, इस हिंसा के पीछे सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया का हाथ हैं। उन्होंने कहा, मुझे लगता है कि हिंसा सुनियोजित दंगा है। सोशल मीडिया पर पोस्ट होने के एक घंटे के भीतर हजारों लोग इकट्ठा हो गए और उन्होंने 200-300 गाड़ियों को नुकसान पहुंचाया। सीटी रवि ने कहा, दोषियों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। 

<p>बेंगलुरु की सड़कों पर जो तांडव रात को हुआ, उसकी तस्वीरें सुबह साफ हो पाईं। यहां गाड़ियों को जला दिया गया। एटीएम तोड़े गए। विधायक और आसपास के मकानों में तोड़फोड़ की गई। लोगों के घरों को आग के हवाले किया गया। लोगों के घरों की खिड़कियां पथराव में टूट गईं। हर तरफ बाइक और गाड़ी टूटी हुईं नजर आ रहीं थीं। </p>
उपद्रवियों ने पुलिस वाहनों को भारी नुकसान पहुंचाया।

हिंसा में 60 पुलिसकर्मी जख्मी

बेंगलुरु पुलिस कमिश्नर कमल पंत ने बताया, करीब 60 पुलिसकर्मी जख्मी हुए हैं। भीड़ को बेकाबू होते देख पुलिस की ओर से फायरिंग करनी पड़ी। इसमें 3 लोगों की मौत हो गई। एक शख्स घायल हुआ है। पुलिस कमिश्नर ने बताया, सोशल मीडिया पर पोस्ट करना वाला आरोपी नवीन भी गिरफ्तार हो चुका है। 

violence broke out over an alleged inciting social media post in Bengaluru KPP
हिंसा के बाद की फोटो।

110 लोग गिरफ्तार

डीजे हल्ली और केजी हल्ली इलाके में कर्फ्यू लगाया गया है। यहां बड़ी संख्या में पुलिसफोर्स तैनात की गई। वहीं, हिंसा फैलाने को लेकर 110 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। कमिश्नर कमलपंत ने बताया, अभी और गिरफ्तारियां की जा रही हैं। 

<p>दरअसल, बेंगलुरु में कांग्रेस विधायक श्रीनिवास मूर्ति के भतीजे ने सोशल मीडिया पर कथित तौर पर भड़काऊ पोस्ट किया था। हालांकि, बाद में इसे डिलीट भी कर दिया गया। इसके बावजूद इस पोस्ट को लेकर बड़ी संख्या में उपद्रवियों ने विधायक श्रीनिवास मूर्ति के बेंगलुरु स्थित आवास पर हमला किया। यहां तोड़फोड़ की गई। आगजनी भी की गई। </p>
बताया जा रहा कि हिंसा डीजे हल्ली और केजी हल्ली क्षेत्र में हुई।

वहीं,  कर्नाटक के गृह मंत्री बसवराज बोम्‍मई ने साफ कर दिया है कि मामले की जांच होगी। बवाल किसी भी बात का हल नहीं है। जो लोग हिंसा के लिए जिम्मेदार होंगे, उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios