Asianet News Hindi

दिल्ली हिंसा में अब तक 13 की मौत; देखते ही गोली मारने का आदेश जारी, 24 घंटे के अंदर गृहमंत्री ने की 3 बैठकें

नागरिकता संशोधन कानून को लेकर दिल्ली में जारी हिंसा का दौर थमने का नाम नहीं ले रहा है। आज सुबह जाफराबाद, भजनपुरा, मौजपुर के बाद अब हिंसा की आग ज्योतिनगर तक पहुंच गई है। कई दुकानों को आग के हवाले कर दिया गया है। वहीं, मरने वालों की संख्या 13 तक पहुंच गई है।

Violence on third day in Delhi, Shah convened all-party meeting, injured DCP not yet realized kps
Author
New Delhi, First Published Feb 25, 2020, 10:35 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. नागरिकता संशोधन कानून को लेकर तीसरे दिन भी हिंसा का दौर जारी है। दिल्ली के चांदबाग, करावल नगर, मौजपुर और जाफराबाद में कर्फ्यू लगाए जाने की खबर है। बताया जा रहा कि पुलिस ने स्थितियों को काबू में करने के लिए यह कदम उठाया है। हिंसा का आलम यह है कि प्रदर्शनकारियों ने चांदबाग इलाके में वाहनों को आग के हवाले कर दिया है। वहीं, सुबह ब्रह्मपुरी और मौजपुर में पत्थरबाजी की घटना घटित हुई। इस हिंसा में अब तक 10 लोगों की मौत हो चुकी है। जबकि हिंसा के दौरान गंभीर रूप से घायल शाहदरा के डीसीपी अमित शर्मा की हालत अभी भी गंभीर बनी हुई है। इसके साथ ही एक और आईपीएस अधिकारी घायल है। दंगाईयों ने जाफराबाद, भजनपुरा, मौजपुर के बाद अब ज्योतिनगर में उपद्रवियों ने कई दुकानों को आग के हवाले कर दिया।

क्या-क्या हुआ अब तक 

10:50 बजे: गृहमंत्री अमित शाह ने 24 घंटे के अंदर तीसरी बैठक की। बैठक में गृह मंत्रालय के अधिकारी, दिल्ली पुलिस और दिल्ली के ने स्पेशल कमिश्नर एसएन श्रीवास्तव भी शामिल हुए। यह मीटिंग लगभग 3 घंटे तक चली, जिसमें दिल्ली में हालात सामान्य करने के लिए चर्चा हुई।  

09:42 बजे: दिल्ली पुलिस ने देखते ही गोली मारने का आदेश जारी किया। 

08:40 बजेः दिल्ली पुलिस को देखते ही गोली मारने के आदेश मिले, पर बाद में इन बातों से इंकार किया गया। बाद में पुष्टि हुई कि यह आदेश आगे भी जारी है। इस बीच पुलिस ने जाफराबाद का इलाका खाली करवा लिया है।   

08:37 बजे: दिल्ली के उपराज्यपाल मनीष सिसोदिया ने कहा कि हिंसा प्रभावित नॉर्थ-ईस्ट दिल्ली में बुधवार को भी स्कूल बंद रहेंगे. CBSE से भी कल की बोर्ड परीक्षा स्थगित करने का अनुरोध किया है.

स्कूलों में की गई छुट्टीः हिंसा की स्थिति को देखते हुए सभी स्कूलों की घरेलू परीक्षाएं स्थगित कर दी गई हैं। CBSE से भी कल की बोर्ड परीक्षा स्थगित करने का अनुरोध किया है। दिल्ली में हिंसा प्रभावित नोर्थ ईस्ट ज़िले में कल स्कूलों की गृह परीक्षाएं नहीं होंगी और सभी सरकारी एवं प्राइवेट स्कूल बंद रहेंगे। 

08:28 बजे: IPS एसएन श्रीवास्तव को दिल्ली का स्पेशल कमिश्नर (लॉ एंड ऑर्डर) नियुक्त किया गया। 

08:18 बजे: डीएम अजय शंकर पांडेय ने जानकारी दी कि दिल्ली हिंसा को देखते हुए नॉर्थ ईस्ट दिल्ली से गाजियाबाद की तरफ जाने वाले 3 बॉर्डर सील कर दिए गए हैं।

08:03 बजे: विजय भूषण, IG लॉ एंड आर्डर ने कहा कि दिल्ली से सटे यूपी के इलाकों में खासतौर पर नोएडा, गाज़ियाबाद, हापुड़, अलीगढ़, मुजफ्फरनगर, संभल जैसे जिलों में सुरक्षा व्यवस्था को और बेहतर किया गया है। एहतियात के तौर पर पश्चिमी उत्तर प्रदेश में सुरक्षा के इंतज़ाम और कड़े किए गए है।

07:53 बजे: गाजियाबाद के अप्सरा बॉर्डर को यूपी पुलिस ने सील कर दिया है, शाहदरा से सूर्या नगर की ओर रूट डायवर्ट किया गया। 

क्या कहा दिल्ली पुलिस नेः 

- नागरिकता कानून को लेकर हुए हिंसात्मक घटनाओं को लेकर दिल्ली पुलिस के प्रवक्ता एमएस रंधावा ने मीडिया को जानकारी दी है। जिसमें उन्होंने दिल्ली के स्थितियों को लेकर जानकारी दी। इसके साथ ही उन्होंने दिल्ली के लोगों से अपील की कि अफवाहों पर ध्यान दें। 

- हिंसा प्रभावित पूरे इलाके में जबरदस्त सुरक्षा है। सूचना के आधार पर फोर्स की तैनाती की गई है। नॉर्थ ईस्ट के सभी क्षेत्रों में स्थितियां नियंत्रण में हैं। इस पूरे घटना में 56 पुलिस वाले चोटिल हुए हैं। जबकि एक साथी रतन लाल शहीद हो गया है। वहीं, दो आईपीएस को भी चोट आई हैं। जबकि 130 आम लोगों को चोट आई हैं। जिन्हें अस्पताल में दाखिल किया गया है। 

- पर्याप्त मात्रा में फोर्स की तैनाती की गई है। दिल्ली पुलिस ने फोर्स की कमी के बात को सिरे से खारिज कर दिया है। दिल्ली पुलिस का कहना है कि सभी हमारे पास अर्द्धसैनिक बल, रैपिड एक्शन फोर्स की भी मदद ली जा रही है। 

- क्राइम ब्रांच, स्पेशल सेल समेत सभी एंजेसियां स्थितियों पर लगातार काम कर रही हैं। एसीपी और डीसीपी रैंक के उच्च अधिकारी स्थितियों की लगातार निगरानी कर रहे हैं। लोगों से अपील है कि कानून को हाथ में न लें। 

- दिल्ली पुलिस ने 11 केस दर्ज किया है और चिन्हित कर उपद्रवियों को हिरासत में लिया है। सीसीटीवी और ड्रोन के सहारे सभी स्थितियों पर लगातार नजर रखी जा रही है। इस पूरे घटना के दौरान लोगों ने छतों से पत्थरबाजी की है। उनकी भी जांच की जा रही है। 

- 9 लोगों की मौत हुई है जबकि घायलों को हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया है। मामले की जांच जारी है सबूत के आधार पर सभी दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएंगी। 

घायलों से मिले केजरीवाल

दिल्ली में हुए हिंसात्मक घटनाओं में घायल हुए लोगों से मिलने सीएम अरविंद केजरीवाल अस्पताल पहुंचे। जहां उन्होंने सभी घायलों से मिल कर हालचाल जाना। केजरीवाल के साथ डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया भी मौजूद थे। 

शाहदरा के गोरख पार्क में दुकान फूंकी

शाहदरा के पास स्थित गोरख पार्क गली नंबर 1 के बाहर उपद्रवियों ने मंगलवार दोपहर एक कपड़े के शोरूम में आग लगा दी। इस घटना के बाद इलाके के लोग अपने-अपने घरों से बाहर आ गए। वहीं, बढ़ रही हिंसा पर काबू पाने के लिए गृहमंत्री अमित शाह ने सर्वदलीय बैठक बुलाई। वहीं, सुरक्षा के मद्देनजर स्कूलों में छुट्टी कर दी गई हैं और परीक्षाएं टल गईं हैं। इन सब के अलावा हालात को देखते हुए 13 अर्धसैनिक बलों की कंपनियों को दिल्ली पुलिस की मदद के लिए तैनात किया गया है। इनमें  दो कंपनियां रैपिड एक्शन फोर्स, एक सीआरपीएफ महिला कंपनी शामिल है। दिल्ली के हिंसा वाले इलाकों में अर्द्ध सैनिक बलों की इन कंपनियों की तैनाती है। 

Image

शाह की बैठक में ये रहे मौजूद

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने उत्तर पूर्वी दिल्ली में हिंसा के बाद राष्ट्रीय राजधानी में हालात पर चर्चा करने के लिएएक बैठक की। गृह मंत्री की बैठक में उप राज्यपाल अनिल बैजल, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, दिल्ली के पुलिस आयुक्त अमूल्य पटनायक, कांग्रेस नेता सुभाष चोपड़ा, भाजपा के नेता मनोज तिवारी और रामवीर सिंह बिधूड़ी शामिल हुए। केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला, खुफिया ब्यूरो के निदेशक अरविंद कुमार भी बैठक में मौजूद थे। गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि शाह ने दिल्ली के हालात पर चर्चा के लिए एक बैठक बुलाई है। इससे पहले शाह ने राष्ट्रीय राजधानी में कानून व्यवस्था की स्थिति की समीक्षा के लिए सोमवार रात को भी एक बैठक की थी।

इलाके में स्थिति तनावपूर्ण

दिल्ली पुलिस ने इस इलाके की स्थिति को काफी तनावपूर्ण बताया है। पुलिस का कहना है कि नार्थ ईस्ट दिल्ली से हिंसा की घटनाओं से संबंधित लगातार कॉल आ रहे हैं। इस बीच दिल्ली के ब्रह्मपुरी इलाके में दो समूहों के बीच मंगलवार सुबह पथराव की खबर सामने आई। दिल्ली पुलिस और रैपिड एक्शन फोर्स के जवानों ने ब्रह्मपुरी इलाके में मंगलावर सुबह फ्लैग मार्च किया। 

केजरीवाल की बैठक 

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली के हिंसा प्रभावित इलाकों के विधायकों और अधिकारियों के साथ अपने आवास पर एक जरूरी बैठक बुलाई। जिसमें हिंसा को लेकर उन्होंने चर्चा की। वहीं, दिल्ली पुलिस आयुक्त ने सोमवार रात सीलमपुर डीसीपी कार्यालय में एक बैठक की। 

पुलिस पर गोलियां चलाने वाला गिरफ्तार 

इसके अलावा दिल्ली पुलिस के सूत्रों ने बताया कि सोमवार को हिंसा के दौरान पुलिस पर गोलियां चलाने वाले लाल टी-शर्ट में पहने शाहरुख को गिरफ्तार कर लिया गया है। सोमवार को हुई झड़पों में कुल 7 लोगों (6 आम लोग और 1 पुलिस हेड कांस्टेबल) की जान चली गई थी। इस दौरान करीब 105 लोग घायल हो गए हैं। 

क्या है सीएए

केंद्र सरकार ने पिछले साल यानी दिसंबर 2019 में नागरिकता कानून में संशोधन करते हुए बिल पेश किया था। जिसमें सरकार ने तीन पड़ोसी देशों (पाकिस्तान, बांग्लादेश और आफगानिस्तान) के अल्पसंख्यकों को नागरिकता देने का अधिकार है। सरकार द्वारा पेश किए गए इस बिल को संसद के दोनों सदनों से मंजूरी मिल गई। जिसके बाद राष्ट्रपति के हस्ताक्षर के बाद अब यह कानून का रूप ले चुका है। जिसे 10 जनवरी 2020 को गृहमंत्रालय द्वारा देश भर में लागू किया जा चुका है। केंद्र सरकार के इस कानून का विरोध किया जा रहा है। 

विरोध करने वालों की मांग

केंद्र सरकार द्वारा लाए गए सीएए के खिलाफ विरोधों का दौर जारी है। विरोध कर रहे लोगों की मांग है कि केंद्र सरकार इस कानून को वापस ले। विरोध कर रहे लोगों का कहना है कि यह कानून संविधान की धारा 14 का उल्लंघन कर रहा है। लेकिन सरकार का कहना है कि यह कानून किसी भी भारतीय की नागरिकता छिनने का नहीं बल्कि धार्मिक आधार पर तीनों देशों में प्रताड़ना झेल रहे लोगों को नागरिकता देता है। 

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios