Asianet News Hindi

चीन से भारत लाए गए केरल के 15 छात्र, जांच के बाद सभी को घर जाने की मिली अनुमति

 घातक कोरोना वायरस संक्रमण के केंद्र चीन के हुबेई प्रांत से लौटे केरल के 15 छात्रों में संक्रमण के लक्षण नहीं पाए गए हैं जिसके बाद डॉक्टरों ने उन्हें घर जाने की अनुमति दे दी। अधिकारियों ने शनिवार को यह जानकारी दी। ‘‘हालांकि, छात्रों की विस्तृत जांच के लिए नमूने लिए गए हैं।

15 students from Kerala brought to India from China, all received permission to go home after investigation kpm
Author
Kochi, First Published Feb 8, 2020, 8:21 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

कोच्चि. घातक कोरोना वायरस संक्रमण के केंद्र चीन के हुबेई प्रांत से लौटे केरल के 15 छात्रों में संक्रमण के लक्षण नहीं पाए गए हैं जिसके बाद डॉक्टरों ने उन्हें घर जाने की अनुमति दे दी। अधिकारियों ने शनिवार को यह जानकारी दी। ‘‘हालांकि, छात्रों की विस्तृत जांच के लिए नमूने लिए गए हैं।

चीन में फंसे केरल के 15 छात्रों को लाया गया भारत

अधिकारियों के मुताबिक छात्रों को घर जाने की अनुमति देने से पहले कलामेस्सरी राजकीय चिकित्सा महाविद्यालय अस्पताल के डॉक्टरों ने उन्हें 28 दिनों तक घर में ही पृथक रहने की सलाह दी। घातक कोरोना वायरस संक्रमण फैलने के बाद चीन के हुबेई प्रांत में फंसे केरल के 15 छात्र शुक्रवार की रात कोचीन अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डा लिमिटेड पहुंचे थे। विमान से उतरने के बाद छात्रों के शरीर के तापमान की जांच की गई और उन्हें पांच एंबुलेंस से अस्पताल ले जाया गया।

छात्रों को रिश्तेदारों से भी नहीं मिलने की थी अनुमति 

अस्पताल प्रशासन ने उन खबरों का खंडन किया है जिसमें कहा गया था कि छात्रों को अस्पताल में ही बने पृथक वार्ड में भर्ती किया गया है। अधिकारियों ने बताया कि कुनमिंग हवाई अड्डे से छात्र बैंकॉक पहुंचे और फिर एयर एशिया के विमान से शुक्रवार रात 11 बजे कोच्चि पहुंचे।

उन्होंने बताया कि छात्रों के रिश्तेदार हवाई अड्डे पर मिलने के लिए पहुंचे थे लेकिन उन्हें मिलने की अनुमति नहीं दी गई।

(यह खबर समाचार एजेंसी भाषा की है, एशियानेट हिंदी टीम ने सिर्फ हेडलाइन में बदलाव किया है।)

(प्रतिकात्मक फोटो)
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios