Asianet News HindiAsianet News Hindi

दिल्ली सबसे अधिक सक्रिय स्टार्ट-अप वाला शहर, 7000 से अधिक स्टार्ट-अप

सीएम ने कहा कि हम दिल्ली को ग्लोबल स्टार्टअप हब बनाने के लिए जितना संभव हो सके, उतना करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। मैं, हमारे विचारों को साझा करने और एंजेल इन्वेस्टर्स, वेंचर कैपिटलिस्ट्स, इंडस्ट्री लीडर्स, एंटरप्रेन्योर्स, थॉट लीडर्स, और टीआईई मेंबर्स के वैश्विक दर्शकों के लिए दिल्ली को एक ग्लोबल स्टार्ट-अप डेस्टिनेशन बनाने के इस अवसर के लिए टीआईई ग्लोबल समिट आयोजकों को धन्यवाद देता हूं।

Delhi is the city with the most active start-ups, with more than 7000 start-up asa
Author
Delhi, First Published Dec 13, 2020, 1:06 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली । मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आज टीआईई ग्लेबल समिति 2020 को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार कोविड के प्रभाव को पीछे छोड़ते हुए मजबूती से वापसी सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध है। मुझे खुशी है कि दिल्ली, भारत में स्टार्ट-अप स्थान के रूप में नेतृत्व करने की स्थिति प्राप्त कर ली है। दिल्ली में 7000 से अधिक स्टार्ट-अप हैं। दिल्ली, देश में सबसे अधिक सक्रिय स्टार्ट-अप वाला शहर है, जिसका अनुमानित मुल्यांकन करीब 50 बिलियन डॉलर है। बता दें कि सीएम इस शिखर सम्मेलन में भाग लेने वाले भारत के एकमात्र मुख्यमंत्री थे।

टीआईई ग्लोबल समिट का हिस्सा बनना खुशी की बात
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि टीआईई ग्लोबल समिट का हिस्सा बनना और आज आप सभी से बात करना खुशी की बात है। दिल्ली को वैश्विक स्टार्ट-अप स्थान में बदलने के लिए व्यापक ढांचे के निर्माण को लेकर किए गए प्रयासों को आप सभी के साथ साझा करुंगा। दिल्ली सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध है कि कोविड के प्रभाव को पीछे छोड़ते हुए मजबूती से वापसी करें। हम व्यवसायों के लिए विशेषकर स्टार्ट अप को फलने-फूलने के लिए सभी अनुकूल माहौल देना चाहते हैं। मुझे यह जानकर खुशी है कि भारत में दिल्ली ने स्टार्ट-अप स्थान के रूप में नेतृत्व की स्थिति ले ली है।

150 एकड़ भूमि पर बन रहा बिजनेस पार्क
दिल्ली सरकार 150 एकड़ भूमि में रानी खेड़ा में एक हाईटेक बिजनेस पार्क भी बना रही है। यह दिल्ली इंटरनेशनल एयरपोर्ट से महज 15 मिनट की दूरी पर होगा। यह अपनी तरह का पहला केंद्र है और इसमें आईटी और सेवा उद्योग होंगे। पार्क में ग्रीन बिल्डिंग, हर फ्लोर पर बड़े साइज के वर्कस्पेस, मल्टीपर्पज बिजनेस की सुविधाएं और पैदल यात्री प्लाजा होंगे। इसमें रिटेल, फूड एंड बेवरेज (एफएंडबी) सभी तरह की सुविधाएं होंगी। दिल्ली सरकार सात अलग-अलग चरणों में अपनी तरह के इस पहले बिजनेस पार्क को विकसित करेगी। पहले चरण का काम 31 अगस्त 2022 तक पूरा हो जाएगा। पहले चरण में 15 लाख वर्ग फुट की बहुमंजिला इमारत बनाई जाएगी।

सीएम ने कही ये बातें
सीएम ने कहा कि हम दिल्ली को ग्लोबल स्टार्टअप हब बनाने के लिए जितना संभव हो सके, उतना करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। मैं, हमारे विचारों को साझा करने और एंजेल इन्वेस्टर्स, वेंचर कैपिटलिस्ट्स, इंडस्ट्री लीडर्स, एंटरप्रेन्योर्स, थॉट लीडर्स, और टीआईई मेंबर्स के वैश्विक दर्शकों के लिए दिल्ली को एक ग्लोबल स्टार्ट-अप डेस्टिनेशन बनाने के इस अवसर के लिए टीआईई ग्लोबल समिट आयोजकों को धन्यवाद देता हूं।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios