Asianet News Hindi

180 दिन बाद जम्मू-कश्मीर में हिरासत से रिहा किए गए 2 बड़े नेता

पीपुल्स कांफ्रेंस के अध्यक्ष सज्जाद लोन तथा पीडीपी नेता वाहीद पारा को एहतियातन हिरासत से बुधवार को रिहा कर दिया गया। वाहीद जम्मू-कश्मीर राज्य की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती के करीबी सहयोगी हैं।

Two big leaders released from custody in Jammu and Kashmir kpm
Author
Srinagar, First Published Feb 5, 2020, 5:34 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

श्रीनगर. पीपुल्स कांफ्रेंस के अध्यक्ष सज्जाद लोन तथा पीडीपी नेता वाहीद पारा को एहतियातन हिरासत से बुधवार को रिहा कर दिया गया। वाहीद जम्मू-कश्मीर राज्य की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती के करीबी सहयोगी हैं।

180 दिन बाद किया गया रिहा

अधिकारियों ने बताया कि लोन और पारा की रिहाई के बाद अब कुल 13 नेता एहतियातन हिरासत में एमएलए छात्रावास में बंद हैं। छात्रावास को फिलहाल अस्थाई उपकारागार में तब्दील कर दिया गया है। लोन और पारा 180 दिन से भी ज्यादा वक्त तक हिरासत में रहने के बाद रिहा किये गये हैं।

इससे पहले जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने मंगलवार को दो नेताओं,दक्षिण कश्मीर में वाची से पीडीपी के पूर्व विधायक एजाज अहमद मीर और व्यापारियों के नेता शकील अहमद कलंदर को रिहा किया था। कलंदर फेडरेशन चेम्बर ऑफ इंडस्ट्रीज, कश्मीर के अध्यक्ष रह चुके हैं। रविवार से अभी तक आठ नेताओं को एहतियातन हिरासत से रिहा किया गया है।

अभी भी हिरासत में हैं तीन पूर्व मुख्यमंत्री

केन्द्र सरकार द्वारा पांच अगस्त को जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद-370 के ज्यादातर प्रावधानों को समाप्त किए जाने और राज्य को दो केन्द्र शासित प्रदेशों ‘जम्मू-कश्मीर और लद्दाख’ में बांटे जाने के बाद यहां तमाम नेताओं, कार्यकर्ताओं और व्यापारी नेताओं को हिरासत में लिया गया था। कई नेताओं की रिहाई के बाद भी, अभी नेशनल कांफ्रेंस के नेता फारुक अब्दुल्ला और उमर अब्दुल्ला तथा पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती हिरासत में ही हैं।

(यह खबर समाचार एजेंसी भाषा की है, एशियानेट हिंदी टीम ने सिर्फ हेडलाइन में बदलाव किया है।)

(फाइल फोटो)

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios