Asianet News HindiAsianet News Hindi

इस बच्चे ने बनाया अनोखा स्मार्ट डस्टबिन, अंदर कूड़ा डाला तो थैंक्यू, बाहर फेंका तो खैर नहीं...

विनायक ने इस स्मार्ट डस्टबिन को बनाने का मकसद बताया भी बताया है। बच्चे ने कहा कि यह लोगों को डस्टबिन में कचरा डालने के लिए प्रेरित करेगा। 

9th class student created a unique smart dustbin in Jalandhar Punjab
Author
Jalandhar, First Published Oct 1, 2019, 6:14 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

जालंधर (पंजाब). पीएम मोदी ने 2014 में 'स्वच्छ भारत अभियान' मिशन को लॉन्च किया था। जिसको  2 अक्टूबर यानि महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर पांच साल हो जाएंगे। इस मिशन के बाद से देश में जागरुकता आई और लोग सफाई अभियान से जुड़ने लगे। इसी मिशन के चलते जालंधर के एक 9वीं कक्षा में पढ़ने वाले विनायक राणा ने एक ऐसा स्मार्ट डस्टबिन बनाया है, जो बोलता है और अपना उपयोग बताता है।

ये डस्टबिन आपको कहेगा थैंक्स
विनायक ने इस स्मार्ट डस्टबिन को बनाने का मकसद बताया भी बताया है। बच्चे ने कहा कि यह लोगों को डस्टबिन में कचरा डालने के लिए प्रेरित करेगा। अगर आपने उसके अंदर कूड़ा डाला तो वह आपको थैंक्स कहेगा। लेकिन आपने कहीं इसके बाहर यानि 3 फीट दूर कचरा डाला तो वह 'यूज मी' कहेगा। जानकारी के मुताबिक यह डस्टबिन 2 बैटरी से चलता है और इसमें सेंसर लगा भी हुआ है।

मोदी की 'स्वच्छ भारत' मुहिम को करेगा समर्पित
बोलने वाले इस स्मार्ट डस्टबिन को स्टूडेंट प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की 'स्वच्छ भारत' मुहिम को समर्पित करेगा। विनायक के इस प्रयास को देशभर के लोग उसकी जमकर तारीफ कर रहे हैं। साथ ही कई बड़ी संस्थाएं उसकी सराहना भी कर रहे हैं। जिले के शिक्षा विभाग के अधिकारी प्रदीप कुमार  ने बताया की विनायक के इस अविष्कार काफी उम्मीदें हैं। इसके अलावा विनायक राणा को 2020 में जापान के अनुसंधान में भारत सरकार द्वारा भेजा जा रहा है।

विनायक को कैसे आया यह आईडिया
विनायक ने मीडिया को स्मार्ट डस्टबिन को बनाने का मकसद भी बताया। उन्होने कहा कि मैंने कई जगह देखा कि लोगों के घरों के सामने या बाजार में डस्टबिन होता है फिर भी लोग कूड़ा में नहीं डालते हैं। हो सकता लोग इसकी आवाज सुनकर इसका सही यूज करने लगे और इसके अंदर कूड़ा डालने लगें।
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios