Asianet News HindiAsianet News Hindi

शगुन का चूड़ा पहन मंडप में इंतजार करती रह गई दुल्हन, एन वक्त पर दूल्हे ने सब बर्बाद कर दिया

लड़की के पिता ने बेटी की शादी की पूरी तैयारी कर ली थी। दुल्हन भी हाथों में मेहंदी सजाए बारात का इंतजार करती रही। हर कोई घर के बाहर खड़े होकर दूल्हे का इंतजार करता रहा। सुबह से लेकर रात हो गई, लेकिन दूल्हा बारता लेकर नहीं पहुंचा।

bride wait with bangles in hand but groom did not come on marriage day
Author
Amritsar, First Published Dec 1, 2019, 2:32 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

अमृतसर (पंजाब). लड़की के पिता ने बेटी की शादी की पूरी तैयारी कर ली थी। दुल्हन भी हाथों में मेहंदी सजाए बारात का इंतजार करती रही। हर कोई घर के बाहर खड़े होकर दूल्हे का इंतजार करता रहा। सुबह से लेकर रात हो गई, लेकिन दूल्हा बारता लेकर नहीं पहुंचा।

 दुल्हन शगुन का चूड़ा तक पहन चुकी थी
दरअसल, ये मामला है शनिवार के दिन अमृतसर में हुआ है। जहां सब लोग यही इंतजार करते रहे कि अब बारात आएगी. लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ। दुल्हन शगुन का चूड़ा तक पहन चुकी थी। आखिर में पता चला कि दूल्हा ये शादी करने के लिए तैयार नहीं है। अब लड़की के परिजनों को न्याय के लिए पुलिस के पास भटकना पड़ रहा  हैं।

दूल्हा फोन पर बोला- मैं बारात लेकर नहीं आ सकता
लड़की ने पुलिस को बताया कि, करीब चार साल पहले मोहित नाम का लड़का उसको शादी करने का झांसा दे रहा था। लेकिन जब हमने इसकी शिकायत पुलिस से की तो उसके घरवाले तैयार हो गए। फिर इसके बाद आज 30 नंवबर को हामारी शादी के तारीख पक्की हुई। लेकिन जब आज मैं शादी के लिए मंदिर में पहुंचे और हमारे सारे रिश्तेदार भी आ गए लेकिन वो नहीं आया। लंबे इंतजार के बाद जब हमने शाम को उसको फोन किया तो वह बोला कि बारात लेकर नहीं आ पाएग। क्योंकि उसके पिता जी की तबीयत ठीक नहीं है। वह अचानक बीमार हो गए हैं। 

दूल्हे के पिता ने खुद शादी के तारीख तय की थी....
वहीं दुल्हन के पिता ने कहा-समाज के लोगों के बीच बैठकर हमने यह रिश्ता तय किया था। जिसमें दूल्हे के पिता सुनील सहगल ने कहा था कि हम लोग आपसी सहमति से  30 नवंबर की तारीख तय करते हैं। लेकिन आज जब मैंने फोन किया तो उनका फोन बंद बता रहा है। 
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios